>  
[Hindi] दशहरी आम को आँधी और हल्की बारिश से नुकसान

[Hindi] दशहरी आम को आँधी और हल्की बारिश से नुकसान

04:48 PM

Dushehari Mango in malihabadउत्तर प्रदेश में कुछ स्थानों पर बीते 24 घंटों के दौरान मौसम की सक्रियता देखने को मिली। राज्य के मध्य और पश्चिमी हिस्सों में कहीं-कहीं तेज़ आँधी से आम के फलों पर बुरा असर पड़ा है। राज्य की राजधानी लखनऊ का मलीहाबाद कस्बा स्वादिष्ट दशहरी आम के लिए दुनिया भर में जाना जाता है। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार मलीहाबाद में कल तेज़ आँधी आई जिसने आम के पेड़ों और फसलों को प्रभावित किया है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार हरियाणा से पूर्वी उत्तर प्रदेश तक एक ट्रफ रेखा बनी हुई थी जिसके चलते उत्तर प्रदेश के मध्य और पश्चिमी हिस्सों में बीते 24 घंटों के दौरान कुछ स्थानों पर धूलभरी आँधी और गरज के साथ हल्की वर्षा की गतिविधियां देखने को मिली। हालांकि यह सिस्टम अब पूर्वी दिशा में निकल रहा है जिससे लखनऊ सहित मध्य और पश्चिमी हिस्सों में अब मौसम साफ हो जाएगा।

वर्तमान मौसमी परिदृश्य के अनुसार पूर्वी उत्तर प्रदेश के तराई क्षेत्रों में अगले 12 घंटों तक यानि बृहस्पतिवार की रात तक कहीं-कहीं मौसम बदल सकता है। गोरखपुर, सिद्धार्थनगर, बलिया और आजमगढ़ में कुछ स्थानों पर दोपहर या शाम के समय धूलभरी आँधी चलने की संभावना है। कहीं-कहीं गरज के साथ बूँदाबाँदी भी इस दौरान देखने को मिल सकती है। इन गतिविधियों के चलते पूर्वी उत्तर प्रदेश के भागों में भी आम की फलों को कुछ नुकसान की संभावना है।

फिलहाल मलीहाबाद के दशहरी आम के किसान अगले 3-4 दिनों तक राहत की सांस ले सकते हैं क्योंकि इस दौरान राज्य में लगभग सभी स्थानों पर मौसम साफ रहेगा। लेकिन 9 मई से फिर से मौसम अपना रुख बदल सकता है। स्काइमेट के वरिष्ठ मौसम विशेषज्ञ महेश पालावत के अनुसार उत्तर प्रदेश के लगभग सभी भागों में 9 मई से 12 मई के दौरान कई जगहों पर मौसमी हलचल देखी जा सकती है।

लखनऊ सहित उत्तर प्रदेश के मध्य और पश्चिमी जिलों में कुछ स्थानों पर 9-12 के बीच धूलभरी आँधी और बादलों की गर्जना के साथ वर्षा होने के आसार हैं। पूर्वी उत्तर प्रदेश में मौसम की सक्रियता शेष हिस्सों की अपेक्षा कम होगी। हालांकि यहाँ भी कहीं-कहीं गरज और तूफानी हवाओं के साथ बारिश होने के संकेत मिल रहे हैं।

Image credit: Patrika.com

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।