[Hindi] चक्रवाती तूफान फ़ानी: मूसलाधार बारिश देगा ओड़ीशा, पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर भारत में

May 2, 2019 2:35 PM |

Cyclone Fani

अत्यंत भीषण रूप ले चुका चक्रवाती तूफान फ़ानी भारत के पूर्वी तटों के काफी करीब आ गया है। बृहस्पतिवार को तूफान फ़ानी ओड़ीशा के पुरी से लगभग 400 किलोमीटर दूर दक्षिण-दक्षिण-पश्चिम में बंगाल की खाड़ी में था। विशाखापत्तनम से यह लगभग 200 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण-पश्चिम में पहुँच गया है। इस तूफान से सबसे ज़्यादा प्रभावित होने वाले राज्यों में तीसरा राज्य है पश्चिम बंगाल। पश्चिम बंगाल के दिघा से तूफान फ़ानी अभी भी लगभग 600 किलोमीटर दूर है।

तूफान की क्षमता अभी भी अत्यंत भीषण चक्रवात की है। इसकी दिशा से अब लगभग तय हो चुका है कि यह ओड़ीशा में पुरी के पास से लैंडफॉल करेगा। स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार 3 मई को तूफान ओड़ीशा में दस्तक देगा। आंध्र प्रदेश और ओड़ीशा पहले से ही इसके दायरे में आ गए हैं।

स्काइमेट का अनुमान है कि 2 मई को उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश और इससे सटे दक्षिणी-तटवर्ती ओड़ीशा में भीषण बारिश शुरू हो जाएगी। मूसलाधार बारिश के साथ 70 से 80 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएँ चलेंगी। हवा की रफ़्तार 100 से 120 किलोमीटर प्रतिघंटे तक जा सकती है।

Also Read in English: MUST WATCH: RAINFALL ALERT FOR MAY 2-5 AS CYCLONE FANI ALL SET TO HIT ODISHA

तूफान फ़ानी उत्तर-उत्तर-पूर्वी दिशा में बढ़ते हुए बृहस्पतिवार की रात तक ओड़ीशा के और करीब पहुँच जाएगा। आज रात से तूफानी हवाएँ ओड़ीशा के तटों पर तांडव शुरू कर देंगी साथ ही मूसलाधार बारिश भी देखने को मिलेगी। 3 मई को ओड़ीशा के सभी भागों में बारिश बढ़ जाएगी। हालांकि तटीय इलाकों पर जोखिम सबसे ज़्यादा है। यहाँ मूसलाधार बारिश ना सिर्फ बाढ़ का कारण बनेगी बल्कि तूफानी हवाओं की चपेट में आने से कच्चे मकान और झोंपड़े नष्ट हो सकते हैं।

ओड़ीशा के तटीय भागों में कल दोपहर को जब तूफान प्रवेश करेगा, तब तटीय हिस्सों पर भारी वर्षा शुरू हो जाएगी। इसी दौरान ओड़ीशा के आंतरिक हिस्सों में भी मध्यम से भारी बारिश देखने को मिलेगी।

चक्रवाती तूफान फ़ानी 4 मई को पश्चिम बंगाल की तरफ चला जाएगा जिससे बारिश भी पश्चिम बंगाल में तेज़ हो जाएगी। इसके बाद 5 मई तक यह पूर्वोत्तर राज्यों की ओर पहुंचेगा यह सिस्टम। इस दौरान कमजोर हो जाएगा। हालांकि कमजोर होने के बाद भी पूर्वोत्तर भारत में भारी बारिश इसके कारण देखने को मिलेगी।

Image Credit: Skymetweather.com

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 






For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories




Weather on Twitter
#Hindi: राजस्थान की तरह गुजरात के भी कुछ हिस्सों में हाल में ही बेमौसम बारिश की गतिविधियां देखने को मिली है। आमतौर… t.co/kozlksdtoX
Friday, November 15 17:30Reply
#Hindi: अगले 24 घंटों के दौरान, सौराष्ट्र व कच्छ समेत गुजरात में पश्चिमी हिस्सों में हो सकती है बारिश। यह बारिश पोर… t.co/hiWDquCIoS
Friday, November 15 17:15Reply
#Rajasthan has been recording unseasonal #rains for the last 48 hours, with intensity of rains from moderate to hea… t.co/NUl4iKtXji
Friday, November 15 17:00Reply
#Marathi: कोंकण आणि मध्य महाराष्टातील काही ठिकाणी आज हलक्या पावसाची शक्यता आहे. मुंबईत मेघगर्जना होऊ शकते तर पुण्या… t.co/DsZLlBfQjH
Friday, November 15 16:45Reply
#Hindi: तमिलनाडु में मध्यम बारिश के साथ कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना। आतंरिक कर्णाटक और दक्षिणी आंध्र प्रदेश में… t.co/gNf2BfcTWA
Friday, November 15 16:15Reply
शिवाय, सध्या प्रशांत महासागरात, पश्चिमेकडील दोन्ही बाजूंना दोन नवीन वादळं पाहिली जावू शकतात. एक म्हणजे कमी दाबाचा प… t.co/oePxeRdV27
Friday, November 15 16:00Reply
#Monsoon surge has activated over #SouthIndia. New few days will see light to moderate rainfall activities over… t.co/MfaLDVFz0L
Friday, November 15 15:47Reply
#Hindi: जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में 24 घंटों तक भारी बर्फ़बारी की संभावना। कई स्थानों पर… t.co/AXuI3Ac3cw
Friday, November 15 15:15Reply
#Hindi: अनुमान है कि, जैसलमेर, बाड़मेर और जोधपुर के प्रसिद्ध शहरों में अगले 24 घंटों के दौरान हल्की बारिश होगी।… t.co/6LhQ2kyKZS
Friday, November 15 15:01Reply
#Hindi: राजस्थान में चल रही वर्षा में आज से कमी आएगी और कल से मौसम लगभग शुष्क हो जाएगा। पहाड़ों से आने वाली ठण्डी… t.co/rLFHQMghNT
Friday, November 15 14:45Reply

latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try