>  
>  
17 अगस्त मॉनसून पूर्वानुमान: विदर्भ, मराठवाड़ा, मध्य प्रदेश में वर्षा

17 अगस्त मॉनसून पूर्वानुमान: विदर्भ, मराठवाड़ा, मध्य प्रदेश में वर्षा

03:22 PM


 

मॉनसून की अक्षीय रेखा वर्तमान में बीकानेर, अजमेर, गुना, जबलपुर और पेंड्रा से होते हुए बंगाल की पूर्वी मध्य खाड़ी की ओर जा रही है।

नतीजतन, पिछले 24 घंटों के दौरान मॉनसून केरल, कर्नाटक, उत्तरी छत्तीसगढ़, तटीय कर्नाटक, और ओडिशा में सबसे अच्छा रहा। इस बीच, विदर्भा, मराठवाड़ा, मध्य प्रदेश, मध्य उत्तर प्रदेश और गंगीय पश्चिम बंगाल में सक्रिय मॉनसून की स्थिति देखी गई।

तमिल नाडु के वल्परई से बारिश का प्रमुख वर्षा योगदान आया और यहाँ 298 मिमी बारिश दर्ज की गई, इसके बाद चेररापुंजी में 187 मिमी और पलक्कड़ में 168 मिमी दर्ज की गई।

15 अगस्त को देश भर के बारिश के आंकड़े में 9% की कमी थी। वर्तमान में, दक्षिण भारत एकमात्र क्षेत्र है जहाँ 6% अधिक वर्षा हुई है, जबकि पूर्व और पूर्वोत्तर भारत 27% की कमी के साथ सबसे ज्यादा बारिश की कमी वाला क्षेत्र है, इसके बाद उत्तर-पश्चिम भारत में 4% की कमी और मध्य भारत में 7% की कमी है।

Click the image below to see the live lightning and thunderstorm across IndiaRain in India

अगले 24 घंटों के दौरान केरल, तटीय कर्नाटक, विदर्भ और मराठवाड़ा पर मॉनसून ज़ोरों पर रहेगा और यहाँ भारी बारिश की उम्मीद है।

मध्य प्रदेश, कोंकण गोवा, मध्य महाराष्ट्र और गुजरात के हिस्सों में मॉनसून सक्रिय रहेगा, और यहाँ हल्की से मध्यम वर्षा हो सकती है। एक दो स्थानों पर भारी वर्षा से इंकार नहीं किया जा सकता। इस बीच, तेलंगाना, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में सामान्य मॉनसून बारिश की संभावना है, जबकि यह देश के बाकी हिस्सों में कमजोर रहेगा।

Please Note: Any information picked from here should be attributed to skymetweather.com