>  
>  
7 अक्टूबर के लिए मौसम पूर्वानुमान: मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड में जारी रहेगी बारिश

7 अक्टूबर के लिए मौसम पूर्वानुमान: मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड में जारी रहेगी बारिश

06:04 PM


 

मौसम इस समय देश के मध्य और दक्षिणी हिस्सों में सक्रिय है। बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिम में यानि ओड़ीशा के तटों के करीब एक निम्न दबाव का क्षेत्र विकसित हो गया है। इस सिस्टम से छत्तीसगढ़, तेलंगाना और कर्नाटक होते हुए अरब सागर तक एक ट्रफ भी बन गया है।

इस मौसमी परिदृश्य के बीच ओड़ीशा, दक्षिणी छत्तीसगढ़, दक्षिण-पूर्वी मध्य प्रदेश और विदर्भ में मध्यम वर्षा होने की संभावना है। महाराष्ट्र के शेष हिस्सों में भी हल्की बारिश हो सकती है। उत्तरी छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश के दक्षिण-पश्चिमी हिस्सों और पूर्वी गुजरात में भी हल्की वर्षा होने की संभावना है।

तेलंगाना पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। इस सिस्टम से दक्षिणी तमिलनाडु तक एक ट्रफ रेखा भी विकसित हो गई है। इन सिस्टमों के प्रभाव से तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, उत्तरी तमिलनाडु और उत्तरी कर्नाटक में गरज के साथ मध्यम बौछारें गिर सकती हैं।

Related Post

पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत में खाड़ी में बने सिस्टम के प्रभाव से गंगीय पश्चिम बंगाल के तटीय हिस्सों में भी हल्की से मध्यम बारिश देखने को मिल सकती है। पश्चिम बंगाल के शेष हिस्सों, झारखंड, दक्षिणी बिहार और पूर्वोत्तर भारत के भागों में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश होने का अनुमान है।

उत्तर भारत में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में कल भी साफ और मौसम शुष्क बना रहेगा। हालांकि जम्मू कश्मीर के उत्तरी हिस्सों में एक-दो स्थानों पर हल्की बारिश की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और राजस्थान में शुक्रवार को भी कोई हलचल नहीं दिखेगी और मौसम पूरी तरह से साफ और शुष्क बना रहेगा। अधिकतम के चलते दिन में बेमौसम गर्मी जारी रहेगी।

Live status of Lightning and thunder
Gujarat

प्रमुख शहरों के मौसम की बात करें तो दिल्ली और लखनऊ में शुष्क और गर्म मौसम होगा। जबकि कोलकाता, हैदराबाद, बंगलुरु और चेन्नई में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में भी छिटपुट जगहों पर हल्की बारिश हो सकती है।

 

Please Note: Any information picked from here should be attributed to skymetweather.com