>  
खाड़ी में बन रहे संभावित चक्रवात से 21 सितंबर तक गुजरात, राजस्थान में होगी बारिश की पुनर्वापसी

खाड़ी में बन रहे संभावित चक्रवात से 21 सितंबर तक गुजरात, राजस्थान में होगी बारिश की पुनर्वापसी

06:18 PM

img11

पिछले कुछ दिनों से, गुजरात में मौसम लगभग सूखा रहा है, हालांकि दक्षिणी जिलों में कभी-कभी हल्की बारिश होती रही है। 20 सितंबर तक गुजरात में बारिश की कमी का आंकड़ा 27% तक पहुंच चुका था, जो काफी ज्यादा है। गुजरात में मौसम के आधार पर इसे दो भागों में बांटा जाता है, एक है सौराष्ट्र और कच्छ का इलाका, जहां वर्षा की कमी 31% है और दूसरा गुजरात क्षेत्र, जहां 24% कम वर्षा हुई है।

हालांकि, राजस्थान में 10% की मामूली कमी के साथ सामान्य बारिश देखी जा रही है। पश्चिम राजस्थान में वर्षा की कमी का आंकड़ा 24% है, जबकि पूर्वी राजस्थान में हालात थोड़े बेहतर हैं और यहां सामान्य औसत से सिर्फ 2% कम वर्षा हुयी है।

अब मानसून पश्चिमी राज्यों में वापसी के लिए पूरी तरह तैयार है। स्काईमेट वेदर के अनुसार, पश्चिम-केंद्रीय बंगाल की खाड़ी पर बना डीप डिप्रेशन और शक्तिशाली होकर चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र में तब्दील हो सकता है। यह आज रात तट पार कर लेगा और उसके बाद कमजोर हो जायेगा। भले ही यह मौसमी प्रणाली कमजोर हो जाये, लेकिन फिर भी यह देश के केंद्रीय इलाकों तक आगे बढ़ने में सक्षम होगी।

हम उम्मीद करते हैं कि 21 सितंबर की रात तक गुजरात क्षेत्र में बारिश शुरू हो जाएगी और धीरे-धीरे सौराष्ट्र और कच्छ तक, बारिश का दायरा बढ़ जायेगा। हम उम्मीद करते हैं कि अलग अलग जगहों पर हल्की से सामान्य बारिश 24 सितंबर तक जारी रहेगी।

यह वर्तमान मानसून सीजन के दौरान बरसात का आखिरी दौर होगा। यद्यपि बारिश की कमी गुजरात पर बनी रहेगी, लेकिन बरसात के आगामी दौर से इसकी कुछ हद तक भरपाई हो जाएगी।

इस बीच राजस्थान के पूर्वी हिस्सों में भी 21 सितंबर की शाम या रात तक बारिश की गतिविधियां शुरू हो जाएंगी। 22 सितंबर और 23 सितंबर को राजस्थान के कुछ और इलाकों में, विशेष रूप से पश्चिमी जिलों में, अलग-अलग जगहों पर बारिश होगी। हालांकि पूर्वी जिलों में बारिश की तीव्रता अधिक होगी।

25 सितंबर तक, दोनों राज्यों में मौसम बिल्कुल शुष्क हो जाएगा।

Image Credit: Wikipedia

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।