>  
[Hindi] आगरा, मथुरा, अलीगढ़, मेरठ में वर्षा; इलाहाबाद, कानपुर, लखनऊ में शुष्क मौसम

[Hindi] आगरा, मथुरा, अलीगढ़, मेरठ में वर्षा; इलाहाबाद, कानपुर, लखनऊ में शुष्क मौसम

05:33 PM

Taj-city agra weatherउत्तर प्रदेश के पूर्वी तराई क्षेत्रों में बीते दिनों बाढ़ की विभीषिका रही जबकि पश्चिमी इलाके सूखे से परेशान हैं। पिछले 2-3 दिनों से उत्तर प्रदेश के पूर्वी और तराई क्षेत्रों में बारिश बंद है और अगले कुछ दिनों तक इसी तरह के मौसम के आसार हैं। राज्य के मध्य भागों में अगले कुछ दिनों तक मॉनसून खासा सक्रिय नहीं रहेगा और मौसम मुख्यतः शुष्क होगा। दूसरी ओर लंबे समय से सूखे का सामना कर रहे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के भागों में अगले सप्ताह रुक-रुक कर हल्की वर्षा होने की संभावना विकसित हो गई है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार मॉनसून की अक्षीय रेखा उत्तर प्रदेश से दक्षिण में चली गई है और इस समय पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश होते हुए बंगाल की खाड़ी में पहुँच रही है जिसके चलते उत्तर प्रदेश के अधिकतर इलाकों में मौसम की सक्रियता कम हुई है। हालांकि इसी मॉनसून ट्रफ के दक्षिणवर्ती होने के चलते राज्य में पूर्वी आर्द्र हवाओं का प्रवाह बढ़ गया है, विषेशरूप से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में इन हवाओं का प्रभाव अगले कुछ दिनों तक ज़्यादा रहेगा।

Related Post

उत्तर प्रदेश के पश्चिमी हिस्सों में अगले सप्ताह लगातार आर्द्र पूर्वी हवाओं के चलते बारिश के लिए मौसम अनुकूल रहेगा। आगरा, मथुरा, अलीगढ़, सहारनपुर, मेरठ और मुजफ्फरनगर सहित पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा होने की संभावना है। कहीं-कहीं मध्यम बारिश भी देखने को मिल सकती है। उत्तर प्रदेश पर गरज व वर्षा वाले बादलों की ताज़ा स्थिति जानने के लिए नीचे दिए गए चित्र पर क्लिक करें।

Lightning and rain in Uttar Pradesh and Agra

दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के पूर्वी तथा मध्य भागों में आर्द्र हवाओं के बावजूद अच्छी बारिश वाले बादल बनने की संभावना कम है। अगले हफ्ते इलाहाबाद, वाराणसी, कानपुर, गोरखपुर सहित पूर्वी व मध्य भागों में किसानों को बारिश इंतज़ार बना ही रहेगा। हालांकि हिमालय के तराई से सटे भागों विशेषकर गोरखपुर, बहराइच, देवरिया, बस्ती जैसे कुछ इलाकों में अचानक बारिश वाले बादल विकसित होने और कहीं-कहीं हल्की वर्षा होने की संभावना बनी रहेगी।

राहत की बात है कि तराई क्षेत्रों में विशेष बारिश ना होने से बाढ़ की स्थिति में सुधार होगा और राहत कार्यों में आसानी होगी। इस मौसमी परिदृश्य के बीच अनुमान है कि उत्तर प्रदेश के लगभग सभी भागों में तापमान सामान्य के आसपास रहेगा लेकिन नम पूर्वी हवाओं का प्रभाव बढ़ने से दिन में गर्मी के साथ उमस भी परेशान करेगी। हालांकि सुबह का मौसम खुशनुमा बना रहेगा।

Image credit: The Hindu

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।