Skymet weather

[Hindi] बिहार, झारखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश में होगी सर्दियों की पहली वर्षा, राज्य जल्द ही आएंगे शीतलहर की चपेट में

December 9, 2019 5:08 PM |

 

Bihar rains

पूर्वी भारत के लिए नवंबर संक्रमण काल है जब मॉनसून पूरी तरह से देश से विदा ले चुका होता है और सर्दियाँ अपनी उपस्थिति महसूस करानी शुरू कर देती है। बीते दिनों से बिहार और झारखंड में मौसम पूरी तरह से शुष्क बना हुआ हैजबकि पूर्वी उत्तर प्रदेश में कभी-कभी हल्की बारिश देखने को मिली है।

स्काईमेट वेदर के पास उपलब्ध आंकड़ों के अनुसारनवंबर में पूर्वी उत्तर प्रदेश में सामान्य से 71% कम बारिश हुई। इस बीचबारिश कि अनुपस्थिति के कारणबिहार और झारखंड में सामान्य से 100% कम वर्षा दर्ज की गई।

दिसंबर के पहले सात दिनों में भी मौसम शुष्क बना रहा। हालांकिपिछले दो दिनों से मौसम वैज्ञानिक बारिश के संकेत दे रहे हैं। यह इस क्षेत्र में सर्दियों की पहली बारिश होगी।

एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ 10 दिसंबर के आसपास पश्चिमी हिमालय तक पहुंच जाएगा। इसके प्रभाव से पंजाब और हरियाणा के ऊपर हवाओं का एक चक्रवात देखा जाएगा। साथ ही, पंजाब से बिहार तक एक ट्रफ रेखा भी देखने को मिलेगी।

इन मौसमी प्रणालियों के चलते, 11 दिसंबर को उत्तर पश्चिम भारत से पूर्वी भारत के मैदानी इलाकों में बारिश शुरू हो जाएगी। बिहारझारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में 12 दिसंबर को बारिश की संभावना है। 13 दिसंबर को वर्षा की तीव्रता और प्रसार में वृद्धि हो सकती है, जहां मध्यम बारिश होने की संभावना है। बिहार और झारखंड तथा उससे सटे पूर्वी उत्तर प्रदेश में ओलावृष्टि की भी संभावना है।

उपरोक्त मौसम प्रणालियों को मद्देनजर रखते हुए, हवा की दिशा में बदलाव देखा जाएगा जो की पूर्वी दिशा से बहने लगेंगी। इस कारण, न्यूनतम तापमान में वृद्धि दर्ज की जाएगी। आसमान में बादल छाए रहेंगे और दिन के समय तेज़ हवाएँ देखने को मिल सकती है। बढ़ी हुई आर्द्रता के कारणदिन के तापमान में गिरावट देखने को मिलेगी, जिससे मौसम ठंडा बना रहेगा।

14 दिसंबर तकमौसम प्रणाली दूर हो जाएगीहालांकिहल्की बारिश और बादल छाए रहेंगे। 15 दिसंबर तक बारिश पूरी तरह से बंद हो जाएगी।

बारिश रुकने के बादन्यूनतम तापमान में भारी गिरावट देखने को मिलेगी जो कि 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे गिर सकते हैं। इस क्षेत्र में मध्यम से घने कोहरे के साथ शीत लहर की स्थिति देखने को मिलेगी।

Image Credit: Times of India

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×