>  
[Hindi] वाराणसी, कानपुर, पटना, रांची में भी पारा लुढ़का, पूर्वी भारत के कई इलाके शीतलहर की गिरफ्त में

[Hindi] वाराणसी, कानपुर, पटना, रांची में भी पारा लुढ़का, पूर्वी भारत के कई इलाके शीतलहर की गिरफ्त में

05:31 PM

Cold wave in Varanasiउत्तर भारत के बाद अब बारी पूर्वी राज्यों की। कुछ समय तक सामान्य से ऊपर चल रहा पारा तेज़ी से नीचे गिरा है जिससे शीतलहर जैसे हालात बन गए हैं। उत्तर भारत के पहाड़ों पर बर्फबारी बंद होने के बाद उत्तर-पश्चिमी हवाएँ अपने साथ बर्फीली सर्दी लेकर उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड तक पहुँच रही हैं। अगले 2-3 दिनों तक हल्की से मध्यम हवाएँ इसी तरह से चलती रहेंगी और तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी।

उत्तर प्रदेश में सबसे ठंडा रहा मुज़फ्फ़रनगर। यहाँ सामान्य से 3 डिग्री कम 4.9 डिग्री न्यूनतम तापमान रिकॉर्ड किया गया। वर्तमान मौसमी परिदृश्य के अनुसार लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, इलाहाबाद, गोरखपुर और बहराइच सहित अधिकतर स्थानों पर न्यूनतम तापमान सामान्य से 4-5 डिग्री सेल्सियस नीचे पहुँच गया है। अनुमान है कि 27 नवंबर तक इसी तरह से ठंडी हवाएँ जारी रहेंगी और पारा व्यापक रूप नीचे ही रहेगा। 28 नवंबर से हवाओं के रुख में बदलाव के आसार हैं उसके बाद तापमान में कुछ वृद्धि होगी जिससे शीतलहर से राहत मिलेगी।

Related Post

बिहार में भी ठंडी हवाएँ चल रही हैं और गया, पटना, सीतामढ़ी, मधुबनी, भागलपुर में तापमान सामान्य से 2-6 डिग्री तक नीचे चला गया है। पूर्णिया और गया में शीतलहर जैसे हालात हैं जबकि बाकी हिस्सों में कड़ाके की ठंड बनी हुई है। अगले 3-4 दिनों तक अधिकतर हिस्सों में पारा और गिरेगा जिससे बिहार के कई इलाके शीतलहर की चपेट में आ सकते हैं।

झारखंड में आमतौर पर इस समय अधिकतर स्थानों पर रात का तापमान 12 से 15 डिग्री के बीच रहता है। लेकिन कई इलाकों में पारा 3-5 डिग्री तक नीचे गिरा है। शुक्रवार को बोकारो सबसे ठंडा रहा। यहाँ न्यूनतम तापमान सामान्य से 7 डिग्री कम 8.6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। डाल्टनगंज में भी सामान्य से 3 डिग्री कम 9.5 डिग्री रहा पारा। जमशेदपुर में सामान्य से 3 डिग्री नीचे 10.4 डिग्री पर पहुँच गया तापमान।

Image credit: India.com

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।