>  
[Hindi] पंजाब और हरियाणा में लगातार तीसरे हफ्ते होगी बारिश; फसलें हो सकती है चौपट

[Hindi] पंजाब और हरियाणा में लगातार तीसरे हफ्ते होगी बारिश; फसलें हो सकती है चौपट

01:54 PM

Haryana and Punjab Rains--The Hindu  600उत्तर भारत में एक बार फिर से मौसम करवट लेने वाला है। पहाड़ों से लेकर मैदानी राज्यों तक कई जगहों पर बारिश का एक नया दौर जल्द ही शुरू होगा।अगले कुछ दिनों के दौरान एक के बाद एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तर में आएंगे और पंजाब तथा हरियाणा के अधिकांश इलाकों में जमकर बारिश देंगे। ओले भी बरस सकते हैं।

इस बीच एक नया पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर के करीब आ रहा है, जो उत्तरी पाकिस्तान पर पहुंच गया है। इस सिस्टम के प्रभाव से विकसित हुआ चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पाकिस्तान के मध्य भागों पर सक्रिय है।इन दोनों सिस्टमों के संयुक्त प्रभाव से पंजाब और हरियाणा के उत्तरी भागों में अगले 48 घंटों के दौरान गरज के साथ हल्की वर्षा देखने को मिलेगी।

उसके बाद अनुमान है कि 20 फरवरी को एक नया पश्चिमी विक्षोभ फिर से उत्तर भारत के पास आएगा और एक नया चक्रवाती क्षेत्र मैदानी भागों पर बनेगा। आने वाले मौसमी सिस्टम अपेक्षाकृत अधिक प्रभावी होंगे। जिससे अनुमान है कि 20 फरवरी से दोनों राज्यों में अधिकांश जगहों पर बारिश देखने को मिलेगी।

मौसम विशेषज्ञों का मानना है कि बारिश की यह गतिविधियां ज्यादातर उत्तरी जिलों में होंगी। दक्षिणी भागों में अपेक्षाकृत कम वर्षा के आसार हैं। बारिश 21 फरवरी को चरम पर होगी।बारिश के साथ कुछ स्थानों पर ओलावृष्टि भी होने की संभावना है।

स्काइमेट के अनुसार पंजाब के निम्नलिखित ज़िले प्रभावित हो सकती हैं:

अमृतसर, बरनाला, भठिंडा, फरीदकोट, फतेहगढ़ साहिब, फिरोजपुर, गुरदासपुर, होशियारपुर, जालंधर, कपूरथला, लुधियाना, मनसा, मुक्तसर, पठानकोट, पटियाला, रूपनगर, संगरूर, शहीद भगत सिंह नगर और तरनतारन।

हरियाणा के प्रभावित होने वाले ज़िले:

अंबाला, भिवानी, चरखी दादरी, फरीदाबाद, फतेहाबाद, गुड़गांव, हिसार, झज्जर, जींद, कैथल, करनाल, कुरुक्षेत्र, महेंद्रगढ़, मेवात, पलवल, पंचकुला, पानीपत, रेवाड़ी, रोहतक, सिरसा, सोनीपत और यमुनानगर।

21 फरवरी को ओले फसलों को कर सकते हैं चौपट

पंजाब और हरियाणा के जिलों में 18 फरवरी की शाम से बारिश का सिलसिला शुरू होगा जो 22 फरवरी, 2019 तक जारी रहेगा। गतिविधियां 20 और 21 फरवरी को सबसे अधिक होंगी। अनुमान है कि 21 फरवरी को कई जगहों पर फिर से ओलावृष्टि हो होगी जिससे फसलों को काफी नुकसान की आशंका है।

Image credit: The Hindu

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।