>  
[Hindi] चक्रवाती तूफ़ान ‘गज’ 15 नवंबर को पहुंचेगा तमिलनाडु

[Hindi] चक्रवाती तूफ़ान ‘गज’ 15 नवंबर को पहुंचेगा तमिलनाडु

05:00 PM

 

Cyclone-Track-12-11-2018---600

Updated on November 13, 12:20 am: चक्रवाती तूफ़ान गज15 नवंबर को पहुंचेगा तमिलनाडु

चक्रवाती तूफ़ान ‘गज’ पिछले 6 घंटों के दौरान उत्तरी और उत्तर-पश्चिमी दिशा में बढ़ा है। मंगलवार की सुबह साढ़े 8 बजे तूफ़ान गज चेन्नई से 740 किलोमीटर पूर्व और उत्तर-पूर्व में बंगाल की खाड़ी पर था। इस समय चक्रवात का केंद्र बंगाल की खाड़ी के लगभग मध्य भागों पर है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार इस समय समुद्र में स्थितियाँ इसके प्रभावी होने के लिए अनुकूल हैं। समुद्र की सतह का तापमान 29-30 डिग्री के आसपास रिकॉर्ड किया जा रहा है जिससे समुद्री तूफ़ान गज प्रभावी बना रहेगा। बंगाल की खाड़ी में ऊंचे-ऊंची लहरें उठ रही हैं और तमिलनाडु के तटीय इलाकों में तूफानी हवाएँ चल रही हैं।

मौसम विशेषज्ञों का आंकलन है कि तूफ़ान गज जल्द ही अपनी दिशा बदलेगा और दक्षिण-पश्चिम की ओर जाएगा। इस समय इसके रफ्तार और आगे बढ़ने की दिशा के आधार पर माना जा रहा है कि यह तमिलनाडु के तटों को कुड्डालोर और नागापट्टिनम के बीच से 15 नवंबर को पार कर सकता है।

Published on November 12, 2018 at 14:00 बंगाल की खाड़ी में तूफ़ान ‘गज’; 15 नवंबर को तमिलनाडु के तटों को पार कर सकता है

बंगाल की खाड़ी में बना डिप्रेशन रविवार को चक्रवाती तूफ़ान बन गया। यह पश्चिमी और दक्षिण-पश्चिमी दिशा में बढ़ रहा है और अगले 24 घंटों में और प्रभावी होते हुए भीषण चक्रवाती तूफ़ान का रूप ले सकता है। सोमवार की सुबह यह समुद्र में चेन्नई से लगभग 700 किलोमीटर की दूरी पर था। अगले 24 घंटों में भीषण चक्रवात बनने के बाद 24 घंटों तक इसकी क्षमता बनी रहेगी उसके बाद धीरे-धीरे कमजोर होने लगेगा।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार चक्रवात गज 15 नवंबर की दोपहर के आसपास तमिलनाडु के तटों को पार करेगा। तट पर लैंडफॉल के समय भी इसकी क्षमता चक्रवाती तूफ़ान की बनी रहेगी। इसके चलते पूर्वी तटीय भागों में खासकर तटीय तमिलनाडु और दक्षिणी तटवर्ती आंध्र प्रदेश में भीषण हवाओं के साथ तूफानी बारिश देखने को मिल सकती है। इस बीच चेन्नई सहित अधिकांश तटीय शहरों पर बादल बढ़ने लगे हैं और तेज़ हवाएँ शुरू हो गई हैं।

चक्रवाती तूफ़ान गज के प्रभाव से फिलहाल आज विशेष बारिश की उम्मीद नहीं है। लेकिन कल यानि 13 नवंबर की शाम से तटीय भागों में तेज़ हवाओं के साथ बारिश भी शुरू हो जाएगी। बारिश 14 नवंबर को और बढ़ जाएगी जो 15 नवंबर को चरम पर होगी। अनुमान है कि 15 नवंबर को चेन्नई, कांचीपुरम, नागापट्टिनम, रामनाथपुरम सहित तमिलनाडु के तटीय शहरों में चक्रवात गज का सबसे अधिक प्रभाव देखने को मिलेगा।

दूसरी ओर दक्षिणी तटीय आंध्र प्रदेश के भी कई शहर इससे प्रभावित होंगे। गुंटूर, मछलीपट्टनम, अमरावती, प्रकाशम, नेल्लोर, चित्तूर, अनंतपुर सहित आंध्र प्रदेश के कई शहरों में 14 नवंबर की शाम से 16 नवंबर तक बारिश होने की संभावना है। इस दौरान तूफानी हवाएँ भी चलेंगी। सबसे अधिक असर 15 नवंबर को देखने को मिलेगा जब तूफ़ान भारतीय तटों पर प्रवेश कर रहा होगा।

Image credit:

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।