Skymet weather

[Hindi] दिल्ली में प्रदुषण: राजधानी समेत नोएडा, गुरुग्राम, गाज़ियाबाद और फरीदाबाद में जल्द ही 'बेहद ख़राब' होने वाली है हवा की गुणवत्ता

October 12, 2019 1:53 PM |

delhi pollution

दिल्ली में विस्तारित मॉनसून के मौसम ने वायु प्रदूषण को अब तक कम करके रखा हुआ था। लेकिन, दिल्ली का प्रदूषण धीरे-धीरे और लगातार एक बार फिर राजधानी सहित नोएडा, गुरुग्राम और फरीदाबाद में बढ़ रहा है।

एयर क्वालिटी इंडेक्स 150 से 300 के बीच रहने के साथ कई क्षेत्र पहले से ही खराब से बेहद खराब श्रेणी में प्रवेश कर चुके हैं। स्काईमेट के अनुसार, आने वाले दिनों में एयर क्वालिटी इंडेक्स और बढ़ने के साथ स्थिति और खराब होने की संभावना है।यहाँ तक कि कुछ स्थान तो आज यानि शनिवार को ही इस श्रेणी में आ जाएंगे।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, इस समय, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में हल्की परिवर्तनशील हवाएँ चल रही है तथा हवा की दिशा में लगातार बदलाव के कारण, वातावरण में गड़बड़ी हुई है जिसके कारण दिल्ली-एनसीआर में स्थानीय प्रदूषक जमा हो गए हैं।

इसके अलावा, पड़ोसी राज्यों पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने में भी वृद्धि हुई है। कुछ समय के लिए उत्तर-पूर्वी हवाओं के कभी-कभार बहने के कारण, पराली के प्रदूषक भी शहर में पहुंच गए हैं।

हालांकि यह अब तक एक प्रमुख चिंता का विषय नहीं रहा है, लेकिन अब मॉनसून की वापसी होने से अब जल्द ही हवाएँ उत्तर पश्चिमी दिशा से चलना शुरू कर देगी, जिससे दिल्ली में प्रदूषण अब बढ़ जाएगा। इससे वायु प्रदूषण जल्द ही दिल्लीवासियों को झकझोरने लगेगा।

Also, Read In English: Delhi Pollution: Deteriorating air quality to choke city again, to enter very poor category soon

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, अगले कुछ दिनों तक हवा की गुणवत्ता में किसी भी राहत की उम्मीद नहीं है। जब हवाएँ रफ्तार पकड़ेंगी तब जाकर कुछ राहत दिखाई देगी। यह मध्यम हवाएँ केवल कुछ हद तक प्रदूषण को साफ कर सकती हैं।

Image Credit: Wikipedia

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×