>  
[Hindi] दिल्ली में प्रदूषण का संकट बरकरार; 2 दिसम्बर से हवा होगी और ख़राब

[Hindi] दिल्ली में प्रदूषण का संकट बरकरार; 2 दिसम्बर से हवा होगी और ख़राब

10:22 AM

अनुमानों के मुताबिक दिल्ली प्रदूषण अभी भी उग्र रूप धरण किए हुए है। इसे साफ करने के लिए उत्तर-पश्चिमी ठंडी और शुष्क हवाएँ अब उत्तर भारत के मैदानी राज्यों में चलने लगी हैं। लेकिन शुक्रवार को भी प्रदूषण दिल्ली-एनसीआर का पीछा छोड़ने को तैयार नहीं दिखा और कई जगहों पर वायु गुणवत्ता सूचकांक ख़तरनाक श्रेणी में बना रहा।

आंकड़ों में देखें तो बृहस्पतिवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक दिल्ली में 358, नोएडा में 366, फ़रीदाबाद में 338 के आसपास पहुंचा। यह आंकड़े दिन भर का औसत हैं जबकि सुबह के समय कई जगहों पर सूचकांक 400 के आसपास था।

फिलहाल उत्तर-पश्चिमी हवाएँ दिल्ली, नोएडा, गाज़ियाबाद, गुरुग्राम, फ़रीदाबाद, बल्लभगढ़, पलवल और आसपास के भागों में अब सेट हो गई हैं। इससे अगले 2-3 दिनों तक प्रदूषण से कुछ राहत की उम्मीद कर सकते हैं। लेकिन हवा की औसत गति 10 किलोमीटर के आसपास होगी इसलिए बड़ी राहत की संभावना फिलहाल नहीं है। यही वजह है कि शुक्रवार को पीएम 2.5 के अंतर्गत आने वाले प्रदूषण के तत्व हवाओं में बड़ी संख्या में मौजूद रहे।

इन हवाओं के कारण तापमान आज गिरावट हुई है, जिससे आर्द्रता बढ़ गई और यही वजह है कि प्रदूषण अभी भी चुनौती बना हुआ है। सुबह के समय कुछ इलाकों में थोड़े समय के लिए कोहरा छाया जिससे लगा कि प्रदूषण में और वृद्धि लगी। आज वायु गुणवत्ता सूचकांक पूसा में 325, लोधी रोड में 323, एयरपोर्ट पर 340, मथुरा रोड पर 350 के आसपास रहने की संभावना है।

हालांकि दिन में जैसे-जैसे हवा और धूप का प्रभाव बढ़ेगा प्रदूषण के कण हवा में कम होंगे, जिससे दिल्ली और एनसीआर के लोगों को साँस लेने में थोड़ी आसानी होगी। विशेषज्ञों की मानें तो अगले दो दिन हल्की राहत रहेगी उसके बाद यानि 2 दिसम्बर से प्रदूषण कुछ और ऊपर पहुँच जाएगा।

Image credit: 99Acres.com

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।