[Hindi] दिल्ली-एनसीआर में रात भर रुक-रुक हुई बारिश, 18 जुलाई तक बना रहेगा बारिश का मौसम

July 17, 2019 10:20 AM |

राजधानी दिल्ली में उम्मीद के अनुसार 16 जुलाई को दिन में छिटपुट बारिश हुई। लेकिन मध्य रात्रि के बाद से और 17 जुलाई की सुबह तक रुक रुक कर रिमझिम मानसूनी बौछारों ने दिल्ली का मौसम सुहाना कर दिया है।  देर से ही सही लेकिन दिल्ली में बरसे मॉनसून ने दिल्ली के लोगों को बड़ी राहत दी है। पिछले 24 घंटों में सफदरजंग में 22 मिमी जबकि पालम में 17 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई है।

वर्तमान मौसमी स्थितियां संकेत कर रही हैं कि अगले 48 घंटे तक यानी 18 जुलाई तक इसी तरह रुक-रुक कर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सहित एनसीआर में बारिश होती रहेगी। इस दौरान दिल्ली के अलावा गाजियाबाद, गुरुग्राम, नोएडा, फरीदाबाद, बल्लभगढ़ और आसपास के इलाकों में बारिश देखने को मिलेगी।

19 जुलाई से राजधानी दिल्ली में मॉनसून की हलचल कुछ कम होने की संभावना है। हालांकि 19 और 20 जुलाई को भी एक-दो स्थानों पर हल्की वर्षा हो सकती है। 21 जुलाई से दिल्ली और एनसीआर में मौसम शुष्क हो जाएगा और उसके बाद दो-तीन दिनों तक बारिश की उम्मीद कम है।

दिल्ली में यह बारिश दिल्ली के करीब से गंगा के मैदानी भागों से होते हुए पूर्वोत्तर भारत तक बनी मॉनसून ट्रफ के चलते हो रही है। बंगाल की खाड़ी की तरफ से आर्द्र मॉनसूनी हवाएं चल रही हैं। आज और कल यानी 17 और 18 जुलाई को इसी तरह से पूर्वी हवाएं बनी रहेंगी, बादल बने रहेंगे जिसके कारण रुक-रुक कर कई जगहों पर हल्की और कुछ स्थानों पर मध्यम वर्षा होगी। बारिश दोपहर में या रात में देखने को मिल सकती है।

21 जुलाई से 24 जुलाई तक राजधानी दिल्ली और आसपास के शहरों में मौसम शुष्क हो जाएगा। उसके बाद 24 जुलाई की शाम या रात से मौसम में बदलाव के संकेत मिल रहे हैं। उस दौरान फिर से मॉनसून ट्रक दिल्ली के करीब आएगी जिसके कारण उम्मीद है कि 25 जुलाई से अगले कुछ दिनों के दौरान राजधानी के लोगों को अच्छी बारिश देखने को मिल सकती है।

आपको बता दें कि दिल्ली में आमतौर पर 29 जून को मॉनसून आता है उसके बाद जुलाई और अगस्त वह महीने हैं जब दिल्ली में पूरे साल की सबसे अधिक बारिश रिकॉर्ड की जाती है। लेकिन इस बार मॉनसून लगभग 1 सप्ताह की देरी से 5 जुलाई को आया। उसके बाद भी इसने दिल्ली को बारिश के लिए खूब तरसाया। यही वजह है कि दिल्ली में 1 जून से लेकर 16 जुलाई तक बारिश में कमी लगभग 87% की रह गई है।

Image credit: Millennium Post

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।


 

 


For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Weather Forecast

Other Latest Stories

Weather on Twitter
During the next 24 hours, #Monsoon will remain vigorous over #Kerala. At the same time, Active Monsoon conditions a… t.co/htU3CtnRUS
Thursday, July 18 17:30Reply
अगले 24 घंटों के दौरान, केरल में भारी से मूसलाधार बारिश की उम्मीद है। via @SkymetHindi #Hindi #Keralat.co/0TIzz2e89R
Thursday, July 18 17:03Reply
#KeralaFloods #Alert: The Low Pressure Area will infuse a fresh surge which also activate the off shore trough whic… t.co/vJlMSxrfV2
Thursday, July 18 16:30Reply
#AndhraPradesh: Light to moderate rain with strong winds will occur over East Godavari, #Guntur, #Krishna,… t.co/L3sOR4hL53
Thursday, July 18 16:03Reply
दरम्यान सध्या, मुंबईत पावसाचा जोर कमी राहणार असून मुसळधार पावसाची शक्यता नसून पुढील चार ते पाच दिवस शहरात कोणतीही… t.co/Gm1zpGl0iW
Thursday, July 18 16:01Reply
पिछले एक सप्ताह से राज्य में अत्यधिक भारी मॉनसून वर्षा हो रही है। व्यापक बाढ़ के कारण कई नदियों भी उफान पर है। via… t.co/qmJiQYKcD0
Thursday, July 18 15:45Reply
#Rajasthan: Pests known as #Locust have infested some part of the state particularly border areas of #Jaisalmer,… t.co/wrFJJUyhUb
Thursday, July 18 15:34Reply
मुंबईत पावसाचा जोर कमी राहणार असून मुसळधार पावसाची शक्यता नसून पुढील चार ते पाच दिवस शहरात कोणतीही तीव्र पावसाळी ग… t.co/CteZbimDps
Thursday, July 18 15:15Reply
#Maharashtra: We expect #rains to revive over #Vidarbha and #Marathwada, i.e. July 19 onward. t.co/QFbzBuVDQM
Thursday, July 18 15:00Reply
During the next 24 hours, heavy to very heavy #rains are likely over #Kerala. #Monsoon #Monsoon2019 t.co/ARrCUAzVRK
Thursday, July 18 14:44Reply

latest news

USAID Skymet Partnership

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try