>  
[Hindi] आगरा, मेरठ, लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी में आँधी के साथ अच्छी बारिश के आसार

[Hindi] आगरा, मेरठ, लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी में आँधी के साथ अच्छी बारिश के आसार

01:00 PM

उत्तर प्रदेश के पश्चिमी भागों में पिछले 24 घंटों में कुछ स्थानों पर अच्छी बारिश देखने को मिली है। कहीं-कहीं धूल भरी तेज़ आँधी ने भी लोगों को प्रभावित किया। स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार जम्मू-कश्मीर पर बने पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर प्रदेश पर भी मौसम में सक्रियता देखने को मिल रही है। पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से ही राजस्थान पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है और एक ट्रफ इस सिस्टम से उत्तर प्रदेश होते हुए मध्य प्रदेश तक बनी है।

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार 16 और 17 अप्रैल को पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर हलचल होगी। इस दौरान मेरठ, मुरादाबाद, बरेली, आगरा, मथुरा, सहारनपुर, शाहजहाँपुर, रामपुर लखनऊ, कानपुर सहित उत्तर प्रदेश के पश्चिमी और मध्य भागों में आँधी तूफान के साथ बारिश होगी। इन भागों में अगले 24 से 48 घंटों के दौरान कहीं-कहीं तेज़ बारिश और ओलावृष्टि की भी संभावना है।

अनुमान है कि अब बंगाल की खाड़ी से दक्षिण-पूर्वी हवाएं उत्तर प्रदेश के पूर्वी भागों में भी पहुँच रही हैं। जिसके चलते पूर्वी उत्तर प्रदेश में भी आज शाम से बादल दिखाई देंगे। लेकिन 17 अप्रैल को उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्सों में भी मौसम में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है। 17 अप्रैल को पूर्वी उत्तर प्रदेश में प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर, प्रतापगढ़, जौनपुर, आजमगढ़, बलिया, गाज़ीपुर सहित आसपास के जिलों में आँधी और गर्जना के साथ बारिश होगी।

फसलों को हो सकता है नुकसान

17 अप्रैल को तेज़ हवाओं, धूलभरी आंधी के साथ एक-दो स्थानों पर तेज़ बारिश देखने को मिल सकती है। इस दौरान उत्तर प्रदेश के कुछ स्थानों पर 60-70 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से हवाएं चल सकती हैं, जो गेंहू सहित खेतों में लगभग पककर तैयार हो चुकी रबी फसलों को नुकसान पहुंचा सकती हैं। आंकड़ों की माने तो पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बारिश सामान्य से क्रमशः 58% और 42% की कमी दर्ज की गयी है।

उत्तर प्रदेश के मौसम का ताज़ा हाल जानने के लिए मैप पर क्लिक करें

Also Read In English: Strong winds, rain and dust storm in Lucknow, Kanpur, Agra likely for 48 hrs

उत्तर प्रदेश में मौसम में बदलाव के कारण 16 से 17 अप्रैल के बीच तापमान 3 से 4 डिग्री की कमी के साथ 36-38 डिग्री के आस-पास देखने को मिल सकता है। हालांकि इन मौसमी गतिविधियों के खत्म होने के बाद पारा एक बार फिर से चढ़ना शुरू हो जायेगा।

Image Credit: Social News XYZ

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

We do not rent, share, or exchange our customers name, locations, email addresses with anyone. We keep it in our database in case we need to contact you for confirming the weather at your location.