[Hindi] बिहार और झारखंड में चल रहे शुष्क मौसम से राहत मिलने की उम्मीद, 17 अक्टूबर के आसपास बारिश का अनुमान

October 16, 2019 6:49 PM |

bihar or jharkhand (2)

बिहार में अक्टूबर का महीना अब तक शुष्क बना हुआ है, जिसके कारण राज्य में 64 प्रतिशत बारिश की कमी रिकॉर्ड  हुई है। जबकि, झारखंड में कुछ स्थानों पर अच्छी बारिश देखी गई, लेकिन इसके बावजूद राज्य में 23 प्रतिशत बारिश की कमी है।

इस बार बिहार ओर झारखंड में मॉनसून की वापसी देरी से हुई है। 13 अक्टूबर को दोनों राज्यो में मॉनसून की विदाई के बाद से यहां मौसम शुष्क बना हुआ है।

अब, दक्षिणी बिहार के भागों पर एक चक्रवाती हवाओ का क्षेत्र बना हुआ है और एक ट्रफ रेखा तेलंगाना से होते हुए झारखंड तक फैला हुआ है।

इसलिए हम उम्मीद करते है की दक्षिण झारखंड में एक-दो स्थानों पर 17 अक्टूबर को हल्की बारिश हो सकती है। हालांकि, 18 अक्टूबर से झारखंड में बारिश की गतिविधियां बढ़ जाएंगी, लेकिन भारी बारिश की उम्मीद नहीं है ।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, झारखंड में अगले चार से पांच दिनों तक हल्की बारिश के साथ एक-दो स्थानों पर मध्यम बारिश जारी रह सकती है।

जबकि, बिहार में 20 अक्टूबर से एक-दो स्थानों पर हल्की बारिश देखी जा सकती है, लेकिन यह बारिश हल्की और अलग-अलग स्थानों पर होगी । हालांकि दोनों राज्यों में कोई महत्वपूर्ण बारिश नहीं होगी, इस बारिश के दौरान बिहार और रांची में बारिश होने से शुष्क मौसम से राहत मिलेगी, जबकि जमशेदपुर में हल्की बारिश हो सकती है।

अनुमान है की,आंशिक रूप से बादल छाए रहने के कारण बिहार में दिन का तापमान 28 से 30 डिग्री सेल्सियस के बीच हो सकता है जबकि न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा।

Also Read In English : Dry spell to break in Bihar and Jharkhand, rain to commence Oct 17 onward

जबकि, झारखंड में न्यूनतम तापमान 18 से 22 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा और अधिकतम तापमान 28 से 30 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा।

Image Credit: Newstrack

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

देश भर के मौसम का पूर्वानुमान जानने के लिए देखें वीडियो:







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×