>  
[Hindi] गया, पटना, रांची में हुई अच्छी वर्षा; अगले 24 घंटों तक जारी रहेंगी मॉनसूनी बौछारें

[Hindi] गया, पटना, रांची में हुई अच्छी वर्षा; अगले 24 घंटों तक जारी रहेंगी मॉनसूनी बौछारें

03:15 PM

Rain-in-Ranchiबिहार के दक्षिणी भागों और झारखंड में पिछले 24 घंटों के दौरान कई जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई है। मॉनसूनी हवाओं की सक्रियता के चलते पूर्वी भारत के इन राज्यों में कई स्थानों पर वर्षा की गतिविधियां देखने को मिल रही हैं। हमारा अनुमान है कि बिहार के दक्षिणी भागों और झारखंड के लगभग सभी क्षेत्रों में अगले 24 घंटों तक बारिश बनी रहेगी। 24 घंटों के बाद बारिश की गतिविधियों में कमी की संभावना है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार झारखंड और उससे सटे भागों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ था। इसके चलते बंगाल की खाड़ी से बिहार और झारखंड में पिछले 2 दिनों से दक्षिण-पूर्वी आर्द्र हवाओं का प्रवाह बढ़ गया था और मॉनसून मेहरबान था। यह सिस्टम अब दक्षिण-पश्चिमी दिशा में बढ़ेगा और मध्य प्रदेश तथा उससे सटे छत्तीसगढ़ पर पहुँच जाएगा। हालांकि अनुमान है कि अगले 24 घंटों तक दोनों राज्यों में यह बारिश देता रहेगा।

 

 

lightning and thunderstorm in bihar JPG

रांची, जमशेदपुर, धनबाद, बोकारो, डाल्टनगंज सहित झारखंड के अधिकांश हिस्सों में अगले 24 घंटों के दौरान हल्की से मध्यम बारिश जारी रहेगी। इस दौरान कुछ स्थानों पर भारी वर्षा से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। दूसरी राजधानी पटना सहित बिहार के गया, नवादा, सासाराम और अन्य दक्षिणी भागों में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश हो सकती है। छिटपुट जगहों पर मध्यम बारिश की भी संभावना है।

Related Post

पिछले 24 घंटों के दौरान गया में 70 मिलीमीटर, पटना में 19 और भागलपुर में 10 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। रांची में 9 मिलीमीटर वर्षा रिकॉर्ड की गई है। अगले 24 घंटों के बाद दोनों राज्यों में वर्षा की गतिविधियां कम हो जाएंगी। हालांकि 25 सितंबर से फिर से बिहार और झारखंड में बढ़ सकती है मॉनसून वर्षा। बिहार और झारखंड में गरज और वर्षा वाले बादलों की ताज़ा स्थिति जानने के लिए नीचे दिए गए मैप पर क्लिक करें।

 

पूर्वी भारत के इन दोनों राज्यों में 1 जून से 19 सितंबर के बीच सामान्य से 8 प्रतिशत कम वर्षा हुई है। बिहार में इस दौरान कुल 881 मिलीमीटर तो झारखंड में 936 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है।

Image credit: Lense Eye

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।