Skymet weather

[Hindi] श्रीनगर, शिमला, मसूरी, नैनीताल में भारी बारिश की संभावना; कुछ स्थानों भूस्खलन का अनुमान

April 19, 2018 3:36 PM |

Rain in Jammu and Kashmir - DailyHunt 600उत्तर भारत के पर्वतीय राज्यों में आ रहे एक के बाद एक प्रभावी पश्चिमी विक्षोभों के चलते निरंतर बारिश हो रही है। खासतौर पर जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में पिछले कई दिनों से वर्षा की गतिविधियां जारी हैं। जिससे इन भागों में तापमान सामान्य से नीचे बना हुआ है। उत्तराखंड में भी कुछ स्थानों पर वर्षा दर्ज की जा रही है। हालांकि वर्षा बहुत अधिक नहीं है जिससे उत्तराखंड में ज्यादातर जगहों पर पारा सामान्य से ऊपर रिकॉर्ड किया जा रहा है।

इस बीच एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर के पास है और तीनों पर्वतीय राज्यों में बारिश दे रहा है। जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में 19 और 20 अप्रैल को अच्छी वर्षा हो सकती है। 20 अप्रैल को कुछ इलाकों में भारी वर्षा होने की भी संभावना है। अगले 48 घंटों तक होने वाली वर्षा के चलते उत्तराखंड में भी पारा नीचे आएगा और लोगों को गर्मी से व्यापक राहत मिलेगी।

इस बीच पिछले 24 घंटों के दौरान जैसा कि स्काइमेट ने अनुमान लगाया था, कश्मीर और हिमाचल के कुछ इलाकों में हिमस्खलन और भूस्खलन की घटनाएं हुई हैं, जिससे कई रास्ते अवरुद्ध हो गए हैं। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर रामबन क्षेत्र में भारी चट्टानें दरक कर सड़कों पर आ गई हैं और आवागमन बाधित हुआ है।

[yuzo_related]

मौसम से जुड़े वैज्ञानिकों के अनुसार अगले दो-तीन दिनों तक तीनों पर्वतीय राज्यों में खास तौर पर ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भूस्खलन की आशंका बनी हुई है, जिससे सामान्य जनजीवन प्रभावित हो सकता है। हमारा सुझाव है कि अगले दो-तीन दिनों तक विशेषकर इस सप्ताह के आखिर तक पर्यटकों को पहाड़ी स्थानों पर जाने से बचना चाहिए और स्थानीय लोगों को भी सावधानी बरतनी चाहिए ताकि किसी अप्रिय स्थिति का सामना ना करना पड़े। गरज और वर्षा वाले बादलों की ताज़ा स्थिति जानने के लिए नीचे दिए गए मैप पर क्लिक करें।

Lightning in jammu and Kashmir and north India

श्रीनगर, पहलगाम, गुलमर्ग, शिमला, धर्मशाला, नाहन, रोहतांग पास, नैनीताल और मसूरी जैसे लोकप्रिय हिल स्टेशनों पर अगले दो-तीन दिनों तक पर्यटन की गतिविधियों को रोक देना चाहिए और स्थानीय प्रशासन को लोगों को सतर्क रहने तथा जिन स्थानों पर चट्टानें खिसकने की आशंका अधिक हो उन स्थानों पर जाने से रोकने की चेतावनी जारी करनी चाहिए।

इन भागों में 20 अप्रैल को भारी बारिश की संभावना बनी हुई है। उसके बाद पश्चिम विक्षोभ पूर्वी दिशा में आगे निकलेगा और 21 अप्रैल से धीरे-धीरे बारिश में कमी आनी शुरू होगी। खासकर जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में बारिश में व्यापक कमी आ जाएगी। जबकि उत्तराखंड में कुछ स्थानों पर वर्षा जारी रहेगी और 22 अप्रैल से तीनों पर्वतीय राज्यों में अगले कुछ दिनों के लिए मौसम साफ तथा शुष्क हो जाएगा।

Image credit: Daily Hunt

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 

 







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×