>  
[Hindi] राजधानी दिल्ली को फिर से तड़पाएगी गर्मी; अगले कुछ दिनों के दौरान मौसम रहेगा शुष्क

[Hindi] राजधानी दिल्ली को फिर से तड़पाएगी गर्मी; अगले कुछ दिनों के दौरान मौसम रहेगा शुष्क

12:32 PM

Heat-wave in Delhiदिल्ली-एनसीआर में शनिवार को हुई बारिश के बाद से मौसम बदल गया है। तेज़ उत्तर-पश्चिमी हवाएँ चलने लगी हैं। इससे पहले हवाओं का रुख दक्षिण-पूर्वी और दक्षिण-पश्चिमी था जिससे उमस अधिक थी। अब हवा में बदलाव से उमस कम हो गई है लेकिन तापमान में वृद्धि देखने को मिल रही है। दिल्ली सहित आसपास के भागों में इस सप्ताह मौसम मुख्यतः साफ, शुष्क और बेहद गर्म रहने के आसार हैं।

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार इन भागों में सतह की तरह ही 15 से 20 हज़ार फुट की ऊंचाई पर भी उत्तर-पश्चिमी शुष्क हवाएँ चलेंगी। इसके अलावा अगले 3-4 दिनों तक कोई सक्रिय मौसमी सिस्टम भी विकसित नहीं होने वाला है। इस मौसमी परिदृश्य के बीच दिल्ली और आसपास के भागों में 15 जून तक मौसम शुष्क रहने की संभावना है। बारिश जैसी मौसमी हलचल की उम्मीद कम है। दिल्ली और आसपास के शहरों में इस दौरान पारा 42 से 44 डिग्री तक पहुँच सकता है।

इस समय हिमालय के तराई क्षेत्रों में एक ट्रफ बनी हुई है। अनुमान है कि यह ट्रफ सप्ताह के आखिर में थोड़ा सक्रिय होगी जिससे उत्तर भारत के मैदानी हिस्सों में मौसम में हलचल दिखेगी। इससे 16 जून के आसपास दिल्ली, गाज़ियाबाद, नोएडा, फ़रीदाबाद और गुरुग्राम में कुछ स्थानों पर बादलों की गर्जना और आँधी-तूफान के साथ हल्की बारिश देखने को मिल सकती है। यह प्री-मॉनसून मौसम थोड़े समय के लिए संभावित है।

Related Post

राष्ट्रीय राजधानी में 17 जून से फिर से मौसम साफ हो जाएगा। यानि अगले कुछ दिनों दिल्ली वालों को तेज़ गर्मी और चिलचिलाती धूप का सामना करने के लिए तैयार रहना होगा। इस बीच राजधानी दिल्ली को अब मॉनसून का इंतज़ार है। यह इंतज़ार जल्द पूरा होता दिखाई नहीं दे रहा है क्योंकि देश के मध्य और पूर्वोत्तर भागों तक पहुँच चुके मॉनसून में अगले एक सप्ताह के लिए सुस्ती बने रहने की संभावना है। इससे पहले मॉनसून की तेज़ रफ़्तार को देखते हुए संभावना थी कि यह दिल्ली में अपने निर्धारित समय से एक सप्ताह पहले यानि 22-23 जून को दस्तक दे सकता है।

Image credit: The south Indian post

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।