>  
[Hindi] जबलपुर, छिंदवाड़ा, भिलाई, रायपुर में हल्की वर्षा; भोपाल, इंदौर, ग्वालियर में शुष्क मौसम

[Hindi] जबलपुर, छिंदवाड़ा, भिलाई, रायपुर में हल्की वर्षा; भोपाल, इंदौर, ग्वालियर में शुष्क मौसम

04:25 PM

Rain in raipurमध्य प्रदेश के दक्षिण-पूर्वी भागों और दक्षिणी छत्तीसगढ़ में कुछ स्थानों पर बारिश की गतिविधियां देखने को मिल रही हैं। हालांकि इन भागों में बारिश में धीरे-धीरे कमी आने की संभावना है और अगले 24 घंटों के बाद मौसम शुष्क हो जाएगा। छत्तीसगढ़ के उत्तरी भागों और मध्य प्रदेश के शेष हिस्सों में फिलहाल मौसम शुष्क बना हुआ है और इसमें जल्द बदलाव के भी संकेत नहीं हैं।

छत्तीसगढ़ से विदर्भ होते हुए कोंकण गोवा तक एक ट्रफ रेखा बनी हुई थी जिसके प्रभाव से मध्य भारत के कुछ भागों में बारिश की गतिविधियां देखने को मिल रही थीं। इस सिस्टम की स्थिति अब बदल रही है जिससे अगले 24 घंटों के बाद मध्य प्रदेश और दक्षिणी छत्तीसगढ़ में बारिश बंद हो जाएगी और मौसम शुष्क हो जाएगा। वर्तमान मौसमी परिदृश्य के अनुसार दुर्ग, भिलाई, रायपुर, बालाघाट, छिंदवाड़ा, जबलपुर, बेतुल और आसपास के हिस्सों में अगले 24 घंटों तक गरज के साथ हल्की वर्षा हो सकती है।

Related Post

आगामी 24 घंटों के बाद इन भागों में भी बारिश की गतिविधियां कम हो जाएंगी। बारिश के चलते दक्षिण-पूर्वी मध्य प्रदेश और दक्षिणी छत्तीसगढ़ में अधिकतम तापमान सामान्य से नीचे 32-34 डिग्री के बीच रिकॉर्ड किया जा रहा है। न्यूनतम तापमान भी 15 से 18 डिग्री के बीच चल रहा है। इन भागों में तापमान में धीरे-धीरे और कमी आने की संभावना है।

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में गरज और वर्षा वाले बादलों की ताज़ा स्थिति जानने के लिए नीचे दिए गए मैप पर क्लिक करें।

Madhya pradesh and chhattisgarh Lightning

दूसरी ओर ग्वालियर, शिवपुर, श्योपुर, राजगढ़ और टीकमगढ़ सहित उत्तरी और उत्तर-पश्चिमी मध्य प्रदेश में अधिकतम तापमान सामान्य से काफी ऊपर बना हुआ है। इन भागों में दिन में पारा 36-37 डिग्री तक अभी भी रिकॉर्ड किया जा रहा है। हालांकि मध्य भारत के अधिकतर भागों में हवाओं का रुख बदल रहा है। इन भागों में उत्तर-पश्चिमी हवाएँ चलेंगी जिससे इंदौर, उज्जैन, मंदसौर, ग्वालियर, गुना, रतलाम सहित लगभग सभी भागों में तापमान में गिरावट देखने को मिलेगी।

Image credit: Patrika News

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।