>  
[Hindi] उत्तर भारत में सर्दी ने कसा शिकंजा, शीतलहर के प्रकोप की जल्द ही होगी शुरुआत

[Hindi] उत्तर भारत में सर्दी ने कसा शिकंजा, शीतलहर के प्रकोप की जल्द ही होगी शुरुआत

03:38 PM

north india winters wb

देरी से ही सही, लेकिन सर्दियों ने उत्तर भारत के अधिकांश हिस्सों को जकड़ ही लिया। पहाड़ी इलाके तो पहले से ही घोर सर्दियों से जूझ रहे हैं जहां न्यूनतम तापमान कई जगहों पर शून्य से नीचे है। मगर अब अब मैदानी इलाकों में भी यही हाल है।

स्काईमेट वेदर के अनुसारपिछले 24 घंटों के दौरान पंजाबहरियाणादिल्लीउत्तर प्रदेश और राजस्थान के मैदानी इलाकों में 2-4 डिग्री की महत्वपूर्ण गिरावट देखी गई है।

इससे पहलेबदलती हवाओं के कारण तापमान में मामूली सुधार देखा गया थालेकिन वे अब फिर से गिरावट के लिए अग्रसर हैं।

मौसम के अनुसारउत्तर-पश्चिमी मैदानी इलाकों में सर्द उत्तरी हवाएँ चल रही हैंजिससे न्यूनतम तापमान में गिरावट आई है। बढ़ी हुई हवा की गति के साथ ये हवाएँ आने वाले दिनों में बिना रुके चलती रहेंगी। नतीजतनरात के तापमान में और गिरावट देखी जाएगी। इतना ही नहींदिन का तापमान अब इस क्षेत्र के अधिकांश हिस्सों में डुबकी लगाएगा।

अगले दो से तीन दिनों मेंठंड का मौसम राष्ट्रीय राजधानी सहित पूरे उत्तरपश्चिमी भारत के मैदानी इलाकों में फैल जाएगा। दिन और रात दोनों का तापमान सामान्य औसत से नीचे रहने की संभावना हैजिससे शीतलहर की स्थिति पैदा होने की आशंका है।

शीतलहर की घोषणा तब की जाती है जब मैदानी इलाकों में किसी भी शहर का सामान्य तापमान10°C से कम होता है और सामान्य श्रेणी से 4-6 डिग्री कम होता है।

दिल्ली एनसीआर भी बहुत जल्द इस सर्दी का सबसे कम तापमान देख सकता हैक्योंकि हमें उम्मीद है कि आने वाले दिनों में पारा जल्द ही 3 डिग्री सेल्सियस या उससे भी नीचे पहुंच सकता है।

इन पारिस्थितियों के चलतेपूरे क्षेत्र के लोगों को नए साल तक बेहद सर्द रात और बहुत ठंडे दिनों के लिए तैयार रहना चाहिए।

इमेज क्रेडिट्स- विकिपीडिया

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।