Skymet weather

[Hindi] उत्तर प्रदेश में सक्रिय मॉनसून, बिजली गिरने की घटनाओं में 10 लोगों की मौत, आगे भी हो सकती है बारिश

September 18, 2019 4:39 PM |

उत्तर प्रदेश के पश्चिमी और उत्तर-पश्चिमी किनारों को छोड़कर बाकी हिस्सों पर पिछले कुछ दिनों से मॉनसून सक्रिय है। बीते 24 घंटों के दौरान उत्तर प्रदेश के पूर्वी और मध्य भागों में कई जगहों पर हल्की से मध्यम और कुछ स्थानों पर भारी बारिश रिकॉर्ड की गई है।

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार मध्य प्रदेश पर बने निम्न दबाव के क्षेत्र के कारण उत्तर प्रदेश पर मॉनसून सक्रिय हुआ है। हालांकि यह सिस्टम अब कमजोर हो गया है और मध्य प्रदेश के दक्षिणी भागों पर चक्रवती हवाओं के क्षेत्र के रूप में दिखाई दे रहा है। हालांकि अभी भी कुछ मौसमी सिस्टम हैं जिनके चलते उत्तर प्रदेश के पूर्वी और मध्य भागों में मॉनसून सक्रिय रहेगा।

Read English Version: Thundershowers, lightning kills almost 10 people in Uttar Pradesh with 68 mm of rains in Varanasi, more rains to follow

बीते 24 घंटों के दौरान वाराणसी में सबसे अधिक 79 मिमी की मूसलाधार बारिश रिकॉर्ड की गई। गोरखपुर में 59 मिमी, शाहजहाँपुर में 41 मिमी, बांदा में 34 मिमी, हरदोई में 24 मिमी, चित्रकूट में 22 मिमी, फ़तेहपुर में 17 मिमी, अलीगढ़ में 11 मिमी, प्रयागराज में 8 मिमी और आगरा में 3 मिमी बारिश दर्ज की गई। राज्य के बाकी हिस्सों में भी हल्की बारिश हुई है। हालांकि राजधानी लखनऊ और उद्योग नगर कानपुर में बारिश दर्ज नहीं की गई।

बिजली गिरने की घटनाओं में 10 लोगों की मौत

कल यानि 17 सितंबर को बारिश के साथ बिजली गिरने की घटनाओं में पूर्वी उत्तर प्रदेश में 10 लोगों के मारे जाने और कई के ज़ख्मी होने की खबर है। कल दोपहर के समय वाराणसी, सोनभद्र और आजमगढ़ में बिजली गिरने की घटनाएँ हुई थीं।

बदले मौसम के कारण हो रही बारिश का असर राज्य की नदियों पर भी दिखाई दे रहा है। गंगा और यमुना नदियां कई जगहों पर खतरे के निशान के आसपास या ऊपर बह रही हैं। खासकर वाराणसी और प्रयागराज में गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुँच गया है।

इससे पहले जून से अगस्त तक उत्तर प्रदेश में काफी कम बारिश हुई थी जिसके चलते राज्य में बारिश के आंकड़ों में 24% की कमी रही है। इसमें अधिक कमी पश्चिमी भागों में रही जहां सामान्य से 30% कम वर्षा हुई है। दूसरी ओर पूर्वी उत्तर प्रदेश में बारिश में कमी 21% की रही है।

उत्तर प्रदेश के लिए आज की मौसम चेतावनी

प्रयागराज, अंबेडकरनगर, अमेठी, औरैया, बहराइच, बलरामपुर, बांदा, बाराबांकी, बस्ती, चित्रकूट, फैजाबाद, फतेहपुर, गोंडा, हमीरपुर, हरदोई, जालौन, जौनपुर, झांसी, कन्नौज, कानपुर देहात, कानपुर नगर, कौशाम्बी, ललितपुर, लखनऊ, महोबा, प्रतापगढ़, रायबरेली, संत कबीरनगर, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, सीतापुर, सुल्तानपुर और उन्नाव सहित आसपास के इलाकों में अगले 4 से 6 घंटे के बीच बारिश हो सकती है।

इस साल मॉनसून सीज़न में 16 सितंबर महज़ एक ऐसा दिन था जब पूर्वी उत्तर प्रदेश में सामान्य से 130% अधिक बारिश रिकॉर्ड की गई। दूसरी ओर इसी दिन पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बारिश में 42% की कमी भी रही। उत्तर प्रदेश के पूर्वी और मध्य भागों में अगले दो-तीन दिनों के दौरान इसी तरह हल्की से मध्यम बारिश कुछ स्थानों पर जारी रहेगी। एक-दो स्थानों पर अचानक भारी वर्षा भी हो सकती है। लेकिन पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अभी भी मॉनसून की मेहरबानी नहीं होगी।

Image credit: Ronnieborr

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

देश भर के मौसम का हाल







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×