Skymet weather

[Hindi] मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में अगले 24 घंटे बाद रफ़्तार पकड़ेगी मॉनसूनी बारिश, जल-जमाव से बढ़ सकती है परेशानी

August 11, 2019 3:25 PM |

rain in Madhya Pradesh

छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटों के दौरान एक-दो स्थानों पर मध्यम बारिश रिकॉर्ड हुई है। जबकि मध्य प्रदेश में मानसून की बारिश केवल हल्की तीव्रता के साथ देखी गई।

शनिवार यानि 10 अगस्त को सुबह 8:30 बजे से पिछले 24 घंटों में, पेंड्रा रोड में 21 मिमी बारिश, अंबिकापुर में 10.5 मिमी, सिवनी में 5.6 मिमी और धार में 4.5 मिमी बारिश दर्ज की गई।

स्काइमेट के अनुसार, मॉनसून ट्रफ की अक्षीय रेखा मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के उत्तरी भागों से होते हुए गुजर रही है। दूसरा सिस्टम यानि एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बंगाल की उत्तरी खाड़ी पर बना हुआ है, जिसके आगे बढ़ने की संभावना है।

इन प्रणाली की वजह से मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के पूर्वी हिस्सों में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। जबकि, मध्य प्रदेश के पश्चिमी हिस्सों में ज्यादातर शुष्क मौसम के साथ एक-दो स्थानों पर अगले 24 घंटों के दौरान हल्की बारिश देखी जा सकती है।

इसके बाद, तीव्रता में वृद्धि होगी और वर्षा की गतिविधियों में वृद्धि 15 अगस्त तक जारी रहेगी। इस दौरान, राज्य के अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा रिकॉर्ड की जा सकती है।

इस दौरान, राज्य के ग्वालियर, भोपाल, दुर्ग, रायपुर, राजनंदगांव, बालाघाट और सिवनी में भारी वर्षा दर्ज की जाएगी। इसके अलावा, अलग-अलग स्थानों पर जलजमाव की समस्या से भी इंकार नहीं किया जा सकता है।

Also, Read In English: Monsoon rains to intensify in Madhya Pradesh and Chhattisgarh after 24 hours, water logging likely

10 अगस्त तक के आंकड़ों के अनुसार, पश्चिमी मध्य प्रदेश में 33 प्रतिशत अधिक बारिश हुई है। जबकि, पूर्वी मध्य प्रदेश में अभी भी 10 प्रतिशत बारिश की कमी है। मॉनसूनी बारिश के बावजूद, छत्तीसगढ़ में 2 प्रतिशत बारिश की कमी है।

Image Credit: India Today

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×