>  
[Hindi] अगले सप्ताहांत तक दिल्ली एनसीआर में होगी बारिश, प्रदूषण में अस्थायी रूप से आयेगी कमी

[Hindi] अगले सप्ताहांत तक दिल्ली एनसीआर में होगी बारिश, प्रदूषण में अस्थायी रूप से आयेगी कमी

06:43 PM

img1

महीना भले ही अक्टूबर का है लेकिन दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में मौसम अभी भी गर्म और शुष्क बना हुआ है। हालांकि 4 अक्टूबर को पूर्वी दिल्ली, नोएडा और गाजियाबाद के कुछ हिस्सों में गरज के साथ बौछारें पड़ीं, जिससे लोगों को फौरी तौर पर कुछ राहत मिली।

 हालांकि ये कोई मानसूनी बारिश नहीं थी बल्कि स्थानीय मौसमी गतिविधियों की वजह से चंद इलाकों में हल्की बारिश देखने को मिली। दिन में तापमान लगातार 35 डिग्री सेल्सियस से ऊपर बना हुआ था, जबकि वातावरण में थोड़ी नमी मौजूद थी। इस वजह से शहर के कुछ हिस्सों में बादलों ने डेरा डाला, जिसकी परिणीति वर्षा के रूप में हुई। हालांकि मौसम की ये गतिविधि अल्प समय के लिए ही बरक़रार रह सकी।

 आज 5 अक्टूबर को दिल्ली-एनसीआर के कई हिस्सों में सुबह के वक़्त धुंध और कोहरा देखा गया और प्रदूषण के स्तर में भारी वृद्धि हुई। यह हवा की दिशा में परिवर्तन की वजह से हुआ जो उत्तर-पश्चिम से पूर्वोत्तर और दक्षिण-पूर्व की ओर बह रही है। इसके अलावा हवाओं की गति में भी काफी कमी आई है। पिछली रात हवा काफी शांत थी।

 पूर्वी हवाओं की वजह से वायुमंडल में नमी के कणों में इजाफा हो रहा है जिसकी वजह से धुंध हो रही है। जब हवाएं हल्की होती हैं, धूल और धुएं के कण, धुंध से मिश्रित होते हैं और पृथ्वी की सतह के पास ठहर जाते हैं।

 अब हवाओं ने फिर से उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ मार्ग बदल दिया है। हवा की गति भी तेज हुई है। इसलिए उम्मीद है कि 11 अक्टूबर तक राष्ट्रीय राजधानी में गर्मी भरा मौसम बरक़रार रहेगा।

 12-15 अक्टूबर के बीच दिल्ली-एनसीआर में बारिश की उम्मीद है क्योंकि अरब सागर में संभावित चक्रवात उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ेगा। ऐसी उम्मीद है की इसी दौरान पश्चिमी विछोभ, पश्चिमी

हिमालयी क्षेत्र को प्रभावित करेगा।

 पश्चिमी विछोभ के साथ आर्द्र दक्षिण-पश्चिम हवाओं के सम्मिलित प्रभाव से ही इन इलाकों में बारिश होगी। हालांकि भारी बारिश होने की संभावना नगण्य है और इस दौरान हल्की बारिश ही देखने को मिलेगी।

Image Credit: topmedicaltourismdestinations.com 

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।