[Hindi] बाड़मेर में धूलभरी आंधी और बारिश के कारण पंडाल गिरने से 14 लोगों की मौत

June 24, 2019 5:09 PM |

rajasthan-barmer- Dust storm

राजस्थान के कुछ भागों में कल आँधी-तूफान की घटनाएँ देखने को मिलीं। इसका सबसे बड़ा नुकसान बाड़मेर में हुआ, जहां आँधी की चपेट में आने से एक पंडाल के गिरने से 14 लोगों की मृत्यु हो गयी तथा 50 से अधिक लोग घायल हो गए। गौरतलब है कि घटना के दौरान लोग पंडाल में रामकथा सुनने के लिए इकट्ठा हुए थे। सभी घायलों को उपचार के लिए नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

अधिकारियों के मुताबिक, शाम 04:30 बजे के आस-पास आये तेज़ हवाओं के झोंके और बारिश के कारण पंडाल उखड़ गया। जिसमे पंडाल में मौजूद लोगों में अफरा-तफरी मच गई। पंडाल गिरने के कारण 14 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी।"

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र, जो कि अरब सागर से इन इलाकों में नमी बढ़ा रहा था, तथा 40 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा के तापमान से, यहां धूलभरी आंधी और बारिश के लिए स्थितियां अनुकूल बन गयीं।

मौसम जानकारों का मानना है कि बाड़मेर में यह घटना तेज़ धूलभरी आंधी और बारिश के कारण हुई है। घटना के दौरान की रफ्तार 90 किमी/घंटा थी। इसके अलावा बारिश ने स्थितियां और ज्यादा बिगाड़ दी। बाड़मेर में बीते 24 घंटों के दौरान 17-18 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गयी।

मौसम का पूर्वानुमान: मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, बाड़मेर में अचानक हुई बारिश और आसमान में बादल के कारण यहां के तापमान में कुछ कमी होने के आसार हैं। हालांकि आज यानि 24 जून को भी यहां गरज के साथ बारिश हो सकती है। लेकिन धूलभरी आंधी और तेज़ हवाएं चलने की संभावना कम है।

Also Read In English: Rajasthan: Rain and dust storm claim 14 lives and leave 50 injured as pandaal collapses in Barmer

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस घटना में मृतकों के परिवारवालों को 5 लाख तथा घायलों के परिवारवालों को 2 लाख का मुआवजा देने का एलान किया है।

Image Credit: The Indian Express

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें ।







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories





latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×