Skymet weather

[Hindi] कश्मीर, हिमाचल, उत्तराखंड भारी बारिश और हिमपात के लिए तैयार

January 17, 2019 7:00 PM |

coldcold

उत्तर भारत की पहाड़ियों में सर्दियों की बारिश और बर्फबारी ने अब तक इस मौसम को निराश किया है। उत्तराखंड में ये निराशा सबसे अधिक देखी गयी और उसके बाद हिमाचल प्रदेश मेंजबकि जम्मू और कश्मीर ने तब भी बेहतर प्रदर्शन किया है।

tablee

उत्तर भारतीय राज्यों जम्मू और कश्मीरहिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड की पहाड़ियों पहले से ही बर्फ की सफ़ेद चादर में ढकी हुई है। मगर एक बार फिर, ये तीनों राज्य भारी बर्फबारी का एक और दौर देखने के लिए तयार हो रहें हैं।

स्काईमेट वेदर के अनुसारआने वाले दस दिन इन पर्वतीय राज्यों के लिए काफी व्यापक बारिश और बर्फबारी लेके आएंगे। कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश और हिमपात होने की आशंका है। अगले चार दिनों मेंउत्तर भारत के पहाड़ी राज्यों पर दो पश्चिमी विक्षोभ दस्तक देंगे जिनके चलते कुछ जगहों पर बारिश देंगे। 20 जनवरी कोएक बहुत ही प्रभावशाली पश्चिमी विक्षोभ आने की उम्मीद है जो की लगातार पाँच दिनों तक बारिश और बर्फबारी देना शुरू कर देगा। यह गतिविधि 20 जनवरी से 25 जनवरी तक देखी जाएगी,जिसमे से 23 और 24 जनवरी को तेज बारिश और बर्फबारी देखने को मिल सकती है

पहाड़ियों की निचली इलाके में बारिश के साथ ओलावृष्टि होने की आशंका, वहीं ऊपरी स्थानों पर अधिकांश हिस्सों में भारी से बहुत भारी बारिश और हिमपात होगा

उम्मीद है कि आगामी बारिश से जम्मू और कश्मीर में बारिश की कमी पूरी हो जाएगी तथा वर्षा का स्तरअधिशेष में आ सकता है। हिमाचल प्रदेश भी अपनी सामान्य बारिश की आकड़ों की तरफ बढ़ सकता है। हालांकि उत्तराखंड राज्य में बारिश के स्तर में भी बढ़ोतरी देखी जाएगी परंतु वर्षा में कमी बनी रहेगी।

हम यात्रियों से सावधानी बरतने की अनुरोध करते है क्योंकि भारी बर्फबारी के कारण सड़कें अवरुद्ध हो सकती हैं। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों के आवागमन को रोकने का भी संकेत मिल सकता है।

Image Credit: triptouttarakhand.com

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 

 

 







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×