>  
[Hindi] जयपुर, श्रीगंगानगर, जोधपुर, जैसलमेर में बारिश, तेज़ हवाएँ; फसल को नुकसान कि उम्मीद

[Hindi] जयपुर, श्रीगंगानगर, जोधपुर, जैसलमेर में बारिश, तेज़ हवाएँ; फसल को नुकसान कि उम्मीद

05:34 PM

Rain in Rajasthan

राजस्थान राज्य में सर्दियों के दौरान बारिश की गतिविधि कम देखी जाती है। हालांकि, इस बार नज़ारा कुछ और ही है। पिछले 24 घंटों के दौरान, जैसलमेर, बाड़मेर, बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, जयपुर, अजमेर और अलवर में व्यापक वर्षा देखी गई है।

राजस्थान में जनवरी और फरवरी के अंत में बारिश की गतिविधियां तभी देखी जाती हैं, जब पश्चिमी विक्षोभ और उनसे प्रेरित हवाओं का चक्रवात दक्षिण की ओर बढ़ते हैं।

इस बार, वर्षा ने राजस्थान के अधिकांश हिस्सों को कवर किया है। राजस्थान के दक्षिणी जिले जैसे बांसवाड़ा,उदयपुर, डूंगरपुर, चित्तौड़गढ़, प्रतापगढ़, सिरोही और भीलवाड़ा सबसे कम बारिश वाले जिले हैं क्योंकि वे गुजरात और मध्य प्रदेश के साथ अपनी सीमा साझा करते हैं।

आने वाले 24 घंटों में, राजस्थान का एक बड़ा हिस्सा हल्की बारिश के साथ कवर किया जाएगा। राजस्थान केपूर्वी भागों में जैसे जैसलमेर, जोधपुर और बाड़मेर दिल्ली और एनसीआर की निकटता के कारण हल्की बारिश होती है। राजस्थान के दक्षिणी हिस्से से बारिश ने पहले ही अलविदा लेना शुरू कर दिया है। परंतु पंजाब और हरियाणा से सटे राजस्थान के चरम उत्तरी हिस्सों में मध्यम बारिश और ओलावृष्टि की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।

इन बारिशों के कारण दिन का तापमान गिर जाएगा और न्यूनतम तापमान बढ़ जाएगा। राजस्थान में दल छाएँ रहेंगे ओर तेज़ हवाएँ चलेंगी। जोधपुर, जैसलमेर और फलौदी जैसे स्थान हवा की गति 30-35 किमी / घंटा को छू लेगी। कल से, हमें मौसम साफ हिने लगेगा और 22 फरवरी तक मौसम पूरी तरह से शुष्क हो जाएगा।

इस सीज़न में, पंजाब और हरियाणा से सटे राजस्थान के उत्तरी जिलों जैसे श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ और सूरतगढ़ में जल्दी ही बारिश होने लगी। आज तक, पश्चिम राजस्थान में वर्षा की कमी केवल 3% है, पूर्वी राजस्थान में 20% की कमी है। राजस्थान में एक बारिश वितरण पैटर्न देखा गया है, यानी एक साथ, बारिश प्रमुख क्षेत्रों को कवर नहीं करती है।

Image Credit: Wikipedia

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।