Skymet weather

[Hindi] पहाड़ों पर रिकॉर्ड तोड़ बारिश और बर्फबारी, आगे वाले दिनों में बर्फबारी बन सकती है आफ़त

January 15, 2020 4:30 PM |

नए साल की शुरुआत से उत्तर भारत के पहाड़ों पर अच्छी बर्फबारी हो रही है। आंकड़ों पर नज़र डालें तो 1 जनवरी से 15 जनवरी के बीच जम्मू कश्मीर और लद्दाख में 36.5 मिलीमीटर औसत बारिश की तुलना में 85.1 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई जो सामान्य से 133% अधिक है। हिमाचल प्रदेश में 159% अधिक 86.6 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। उत्तराखंड सबसे आगे रहा, जहां 831% अधिक 130.3 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है।

इन आंकड़ों से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि नवंबर और दिसम्बर में जो कहानी शुरू हुई थी, जनवरी में भी जारी है। पहाड़ों पर मौसम को प्रभावित करने वाले पश्चिमी विक्षोभ इस बार की सर्दी में कुछ अधिक ही मेहरबान हैं जिससे ज़्यादा बारिश हो रही है। पिछले दिनों भारी हिमपात देने वाला सिस्टम आगे चला गया है। इसके बावजूद जम्मू कश्मीर में पिछले 24 घंटों के दौरान अच्छी बारिश और हिमपात देखने को मिला। इस दौरान काजीगुंड में 31 मिमी और श्रीनगर में 6 मिमी वर्षा/हिमपात हुआ।

English Version: Rain and snow in Jammu and Kashmir, Ladakh, Himachal Pradesh, Uttarakhand for next 3 days

 

यह सिलसिला अभी नहीं थमने वाला है क्योंकि एक नया पश्चिमी विक्षोभ भारत के करीब आने को है। फिलहाल यह सिस्टम उत्तरी पाकिस्तान तक पहुँच गया है। आज शाम या रात से कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल और उत्तराखंड में बारिश शुरू हो सकती है। 16 जनवरी से गतिविधियां बढ़ेंगी। उत्तराखंड में 16 जनवरी को कई जगहों पर भारी हिमपात हो सकता है। ओले गिरने के भी आसार हैं।

17 जनवरी से कश्मीर, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में अतिविधियाँ कम हो जाएंगी लेकिन उत्तराखंड में 18 जनवरी तक अच्छी वर्षा और बर्फबारी होने के आसार हैं।

पिछले दिनों पहाड़ों पर हुई अच्छी बर्फबारी के चलते कई जगहों पर हिमस्खलन और भूस्खलन की घटनाएँ हुई हैं जिससे अनेकों सड़कें बंद हैं। आने वाले दिनों में भारी बर्फबारी स्थिति को और विषम बना सकती है। अवलांच की आशंका भी है।

Image credit: TOI

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×