>  
[Hindi] दिल्ली दिल्ली में लू का प्रकोप शुरू; पालम में पारा 46 डिग्री के रिकॉर्ड स्तर पर

[Hindi] दिल्ली दिल्ली में लू का प्रकोप शुरू; पालम में पारा 46 डिग्री के रिकॉर्ड स्तर पर

06:00 PM

 Heatwave in Delhi and NCR

Updated on May 22, 2018 at 06:00 PM: दिल्ली में लू का प्रकोप शुरू; पालम में पारा 46 डिग्री के रिकॉर्ड स्तर पर

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भीषण गर्मी का तांडव शुरू हो गया है। मंगलवार को तापमान ने सारे रिकॉर्ड तोड़े और पालम मौसम केंद्र पर दिन में पारा 46 डिग्री सेल्सियस के स्तर पर पहुँच गया, जो इस सीज़न का अब तक सबसे अधिक है। यही नहीं यह सामान्य से 6 डिग्री ऊपर है। पालम में इस समय का औसत तापमान है 40.3 डिग्री सेल्सियस।

सफदरजंग में भी अधिकतम तापमान सामान्य से 4 डिग्री ऊपर 44 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों का अनुमान है कि अगले 24 से 48 घंटों तक भीषण गर्मी का तांडव इसी तरह से जारी रहेगा। राहत की कोई संभावना नहीं है क्योंकि तापमान में कुछ और वृद्धि हो सकती है।

राष्ट्रीय राजधानी में इस सीजन में आज पहली बार लू की घोषणा की गई है। किसी भी जगह लू की घोषणा तब की जाती है जब उस स्थान का औसत तापमान 40 डिग्री हो और यह उससे 5 डिग्री ऊपर चला जाये।

इस पूरे सप्ताह लू के प्रकोप से राहत मिलने के संकेत नहीं हैं। ऐसे में यह गर्मी लोगों के लिए चुनौती बन सकती है। चिलचिलाती धूप और लू का प्रकोप देखते हुए दोपहर से शाम तक खुली धूप में ना निकलना ही बेहतर होगा। यह मौसम बुज़ुर्गों और बच्चों के लिए घातक हो सकता है। इसलिए बच्चों को खुले में बिलकुल निकलने ना दें। पानी जितना अधिक हो सके पियें।

 

Published on May 22, 2018 at 12:00 PM: राजधानी दिल्ली में अगले एक सप्ताह झुलसाएगी गर्मी; मौसम रहेगा शुष्क, बढ़ेगा पारा

दिल्ली-एनसीआर में इस बार मई महीने में मौसम के कई रूप देखने को मिले। कभी धूलभरी आँधी, गरज और तूफानी हवाओं के साथ हल्की बारिश ने परेशान किया तो कभी गर्मी और उमस ने सामान्य जन-जीवन को प्रभावित किया। इन प्री-मॉनसून हलचलों के कारण ही दिल्ली में 20 मई तक गर्मी का प्रचंड प्रकोप देखने को नहीं मिला था। यहाँ तक की कई बार राजधानी में रात का तापमान सामान्य से नीचे भी रिकॉर्ड किया गया जिससे रात में मौसम सुहावना रहा।

लेकिन अब मौसम ने पलटी मार ली है। पिछले दो दिनों से प्री-मॉनसून गतिविधियां बंद हो गई हैं जिससे पारा तेज़ी से ऊपर का रुख कर चुका है। कल पालम मौसम केंद्र में इस सीज़न का सबसे अधिक 44.2 डिग्री तापमान रिकॉर्ड किया गया और कल का दिन राजधानी में इस सीज़न का सबसे गर्म दिन रहा। आने वाले दिनों में तापमान में वृद्धि का यही सिलसिला जारी रहेगा क्योंकि इस सप्ताह राजधानी में बारिश जैसी राहत की संभावना फिलहाल नहीं है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार उत्तर-पश्चिम भारत पर अगले कुछ दिनों तक ऐसा कोई मौसमी सिस्टम बनता दिखाई नहीं दे रहा है जिससे दिल्ली और आसपास के शहरों में पिछले दिनों की तरह प्री-मॉनसून बारिश हो। हवा भी बदल गई है। दिल्ली सहित मैदानी राज्यों में दक्षिण-पूर्वी हवाओं की जगह उत्तर-पश्चिमी शुष्क व बेहद गर्म हवाएँ चलने लगी हैं। इन हवाओं का प्रभाव अगले 4-5 दिनों तक बना रहेगा जिससे बारिश जैसी राहत के आसार नहीं हैं।

Related Post

गर्म हवाएँ चल रही हैं और वातावरण में नमी कम है जिससे अगले 4-5 दिनों तक धूप का असर भी बढ़ेगा। दिल्ली, नोएडा, गुरुग्राम, गाज़ियाबाद, फ़रीदाबाद, पलवल सहित आसपास के हिस्सों में इस सप्ताह चिलचिलाती गर्मी पड़ेगी जिससे सामान्य जन-जीवन प्रभावित हो सकता है। स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार 29 मई तक इस गर्मी से राहत की संभावना फिलहाल नहीं है। बल्कि इस दौरान तापमान में कुछ और वृद्धि होने के आसार हैं। प्री-मॉनसून वर्षा की 29-30 मई से वापसी होने की संभावना है। उसके बाद ही गर्मी से कुछ राहत मिलेगी।

Image credit: IBTimes

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।