[Hindi] शिमला, श्रीनगर, धर्मशाला, नैनीताल, देहारादून में जारी रहेगी मॉनसून वर्षा

August 3, 2017 12:43 PM |

Jammu and Kashmir Heavy rainउत्तर भारत की पहाड़ियों पर कई दिनों से अच्छी वर्षा हो रही है। इस बारिश के चलते पहाड़ी राज्यों में मौसम सुहावना हो गया है। उत्तरी पश्चिमी हिमालयी भागों पर बने पश्चिमी विक्षोभ और तराई क्षेत्रों में पहुंची मॉनसून की अक्षीय रेखा के चलते जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई है।

प्रमुख वर्षा वाले स्थानों का ज़िक्र करें तो बुधवार को 8.30 बजे से आज सुबह 8:30 बजे के बीच धर्मशाला में 32 मिमी, कुपवाड़ा में 31.8 मिमी, उत्तरकाशी में 29 मिमी, पंतनगर में 27 मिमी, चंपावत में 26 मिमी, मसूरी में 24 मिमी, मनाली में 13 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई।

इसी दौरान, श्रीनगर, शिमला, टिहरी, मुक्तेश्वर, नैनीताल और ऊना में भी हल्की बारिश देखने को मिली। स्काइमेट वेदर के अनुसार, उत्तर भारत के पर्वतीय राज्यों विशेषकर उत्तराखंड में अगले 24 से 48 घंटों के दौरान बारिश की गतिविधियों में इसी तरह की निरंतरता बनी रहेगी। हिमाचल और जम्मू कश्मीर में हल्की वर्षा हो सकती है। वैष्णो देवी में मौसम अगले कुछ दिनों तक खुशनुमा और अनुकूल बना रहेगा।

[yuzo_related]

मॉनसून की अक्षीय रेखा इस समय अमृतसर, करनाल और बरेली में होकर पूर्वोत्तर भारत में पहुँच रही है। इसके चलते हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और जम्मू कश्मीर के कुछ हिस्सों में अगले 24 घंटों के लिए हल्की से मध्यम बारिश जारी रहेगी। तीनों पर्वतीय राज्यों में सबसे अधिक प्रभावित उत्तराखंड के होने के आसार हैं।

उत्तराखंड में 24 से 48 घंटों तक वर्षा बनी रह सकती है। राज्य के अल्मोड़ा, पिथौरागढ़, नैनीताल, चमोली, पौड़ी, उत्तरकाशी, देहारादून, हरिद्वार, केदारनाथ, केदारनाथ, बद्रीनाथ और जोशिमठ में अगले 24 से 48 घंटों तक कई जगहों पर हल्की से मध्यम वर्षा हो सकती है। उसके पश्चात बारिश कम हो जाएगी। हालांकि कुछ स्थानों पर हल्की बारिश जारी रहेगी।

HILLS

उत्तराखंड में बीते कुछ समय से हो रही भारी वर्षा के कारण भूस्खलन की कई घटनाएं हुई हैं, जिससे कुछ लोगों की मौत की भी खबर है। उत्तराखंड में 6 अगस्त से फिर से बारिश बढ़ने की संभावना है। जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में बारिश की तीव्रता कल से ही कम हो जाएगी।

Image credit: Daily Excelsior

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 

 







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×