Skymet weather

[Hindi] गुजरात के सूरत, वलसाड और भावनगर में जारी रहेगी बारिश, 2 अगस्त से तेज हो जाएगी बारिश की तीव्रता

July 31, 2019 9:53 AM |

gujarat rains

गुजरात के अधिकांश भागों में पिछले 24 घंटों के दौरान अच्छी बारिश देखी गई है। इसके अलावा सौराष्ट्र के ज़्यादातर स्थानों तथा कच्छ में खासकर नलिया, वोखा, सूरत और भुज के हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश दर्ज की गई। बीते 2-3 दिनों से गुजरात के लगभग सभी स्थानों पर अच्छी बारिश रिकॉर्ड हुई है। लगातार हो रही बारिश के कारण कच्छ के बनासकाठा में बाढ़ जैसी हालात पैदा हो गई है।

कच्छ और उससे सटे दक्षिणी सिंध के हिस्सों में एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र अभी भी बना हुआ है। इस मौसम प्रणाली के कारण कच्छ के मेहसाणा, पाटन, साबरकांठा, बनासकाठा के हिस्सों और उससे सटे आसपास के क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश जारी रहने की संभावना है।

इसके अलावा सूरत, वलसाड, दांग और पंचमहल के हिस्सों में भी गरज के साथ बारिश की गतिविधियां जारी रहेगी। हालांकि, 2 अगस्त से 4 अगस्त के बीच बारिश की तीव्रता में बढ़ोतरी की उम्मीद है।

उपरोक्त मौसमी प्रणाली को देखते हुए हम कह सकते हैं कि गुजरात के लिए अगस्त का महीना बारिश के लिहाज़ से अच्छा रहने वाला है। लगातार हो रहे बारिश से गुजरात में बारिश की कमी काफी हद तक कम हो जाएगी। साथ ही, पानी की कमी की समस्या भी काफी हद तक हल हो जाएगी क्योंकि अगले कुछ दिनों में बांधों और अन्य जलाशयों में भी उनकी क्षमता से 50% से अधिक पानी भर जाएगा।

Also Read In English: Rains to continue over Surat, Valsad, Bhavnagar, intensity to pick up pace from August 2

राज्य के कई इलाके अभी भी अपनी जल उपलब्धता के लिए पूरी तरह से बारिश पर निर्भर पर ही निर्भर हैं। इसके अलावा, गुजरात में किसानों को बारिश का सबसे ज्यादा फायदा हो रहा है क्योंकि आने वाली बारिश से मूंगफली जैसी फसलों को भी फायदा होने वाला है।

Image Credit: DNA India

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×