Skymet weather

[Hindi] दिल्ली में हुई भीषण बारिश; अगस्त इसी तरह तेज़ बारिश के साथ होगा विदा

August 28, 2018 2:50 PM |

Heavy rain in Delhi NCR 

राजस्थानी दिल्ली में मंगलवार की सुबह मॉनसून ने उग्र रूप धारण किया और भीषण बारिश रिकॉर्ड की गई। पालम मौसम केंद्र पर सोमवार की सुबह 8:30 बजे से मंगलवार की सुबह 8:30 बजे के बीच 24 घंटों की अवधि में 101 मिलीमीटर की भीषण वर्षा हुई, जो बीते 10 वर्षों में सबसे अधिक है। यानि आज की बारिश ने 10 का रिकॉर्ड तोड़ दिया। इसी तरह सफदरजंग में भी 50 मिलीमीटर की मूसलाधार वर्षा रिकॉर्ड की गई है।

भीषण बारिश के चलते राजधानी दिल्ली के अनेक इलाकों में पानी भर गया है और सड़कों पर भयानक जाम देखने को मिल रहा है। खासतौर पर दक्षिणी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली, गुड़गांव और फरीदाबाद से आने वाले रास्तों पर जाम की सबसे ज्यादा समस्या देखने को मिली है। दिल्ली में ऐसी भारी बारिश का अनुमान जताया गया था लेकिन अनुमान यह था कि बारिश पैची होगी।

दूसरी ओर पूर्वी दिल्ली और नोएडा जैसे स्थानों पर बारिश काफी कम हुई है। स्काईमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार बारिश का यह सिलसिला आने वाले दिनों में भी जारी रहेगा। इसी तरह कहीं हल्की, कहीं मध्यम तो कुछ क्षेत्रों में मूसलाधार वर्षा रिकॉर्ड की जाएगी जिससे दिल्ली एनसीआर में अगस्त की विदाई के दौरान भी मौसम बारिश का बना रहेगा।

मौसम विशेषज्ञों का मानना है कि देश के पूर्वी भागों पर बने निम्न दबाव के क्षेत्र के कारण राजधानी और आसपास के भागों में भारी बारिश हुई है। यह सिस्टम उत्तर पश्चिमी दिशा में आगे बढ़ रहा है साथ ही मॉनसून की अक्षीय रेखा का पूर्वी सिरा इस सिस्टम में मर्ज हो गया है। मॉनसून ट्रफ पश्चिमी में दिल्ली-एनसीआर के पास से गुजर रही है जिसके कारण यहां मौसम में हलचल देखने को मिल रही है।

अनुमान है कि दिल्ली-एनसीआर पर पूर्वी हवाएं अगले तीन-चार दिनों तक इसी तरह बनी रहेगी जिससे बारिश के लिए स्थितियां अनुकूल बनी रहेंगी। रुक-रुककर या यहां-वहां हो रही बारिश का असर तापमान पर भी दिखेगा जिससे लोगों को तेज गर्मी से राहत मिलेगी। लेकिन उमस अधिक होने के कारण पसीने वाली गर्मी परेशान कर सकती है। बीते 24 घंटे में रिकॉर्ड की गई बारिश इस मॉनसून सीजन में सबसे अधिक है। इसके चलते बारिश में कमी के आंकड़ों में व्यापक सुधार देखने को मिलेगा।

Image credit: News Track English

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 

 








For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×