Skymet weather

[Hindi] बिहार में भीषण लू के कारण मरने वालों की संख्या 61 पहुंची, गया में धारा-144 लागू

June 17, 2019 3:39 PM |

heatwave in Bihar

बिहार में बीते कुछ दिनों से गर्मी और उमस बढ़ी हुई है। प्री-मॉनसून सीज़न के दौरान यहां बारिश में कमी दर्ज की गयी है। जिसके कारण यहां के पश्चिमी और दक्षिणी जिलों में भीषण लू का प्रकोप बना हुआ है। खबरों के मुताबिक, भीषण लू के चलते बिहार में अब तक कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

सबसे ज्यादा यानि 30 लोगों की मृत्यु औरंगाबाद में हुई है। इसके अलावा, गया में 20 और नवादा में 11 लोगों की जान लू के कारण गयी है। जिसके बाद, बिहार में लू के कारण मरने वालों की संख्या 61 तक पहुँच गयी है।

भीषण लू के चलते बिहार के गया में जिलाधीश ने लू के कारण हो रही मौतों को कम करने के लिए ज़िले में धारा 144 लागू कर दी है। इसके तहत, अब जिले में कहीं भी भीड़ का इकट्ठा होना वर्जित है। जिलाधिकारी द्वारा दिए गए आदेश के अनुसार अब सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक सभी सरकारी/गैर सरकारी निर्माण कार्य, मनरेगा मजदूरों के काम करने और खुले मैदान में हो रहे कार्यक्रमों पर भी रोक लगी रहेगी।

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, बिहार में इस साल प्री-मानसून सीज़न में बेहद कम बारिश दर्ज की गयी है। इस दौरान बारिश की गतिविधियां सिर्फ उत्तर-पूर्वी जिलों जैसे भागलपुर, पूर्णिया, अररिया और सुपौल आदि इलाकों में हुई है। वहीं पटना, गया और नवादा समेत पश्चिमी और दक्षिणी जिलों में आधे मई से जून में अभी तक सिर्फ 1-2 छिटपुट बारिश की गतिविधियां हुई हैं। इसके अलावा कोई अच्छी बारिश देखने को नहीं मिली है।

जिसके कारण यहां का तापमान सामान्य से काफी ऊपर बना हुआ है। बिहार के पटना में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के आस-पास बना हुआ है। मौसम के लगातार शुष्क बने रहने और पश्चिम बंगाल से आ रहीं पूर्वी हवाओं के कारण यहां उमस बढ़ी हुई है। इसके अलावा यहां भीषण लू का भी प्रकोप बना हुआ है।

यह भी पढ़ें:  बिहार और झारखण्ड में प्रचंड गर्मी से राहत की उम्मीद, कुछ भागों में जारी रहेगी गर्मी

मॉनसून की बात करें तो 15 जून तक मॉनसून बिहार के लगभग सभी इलाकों में पहुँच जाता है। लेकिन इस साल अभी तक मॉनसून पश्चिम बंगाल के उत्तरी भागों तक ही पहुँच पाया है। ऐसा मॉनसून के आगमन में देरी के कारण हुआ है। मौसम विशेषज्ञों की मानें तो मॉनसून के बिहार में दस्तक देने में अभी कुछ दिन और लग सकते हैं। तब तक यहां के लोगों को गर्मी और उमस का सामना करना पड़ सकता है।

Image Credit: The Indian Express

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें ।


For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories

Weather on Twitter
#Weather Alert for #Punjab #HimachalPradesh and #Haryana Intermittent moderate #rains and #thundershowers at many p… t.co/XTN5e3LRGC
Saturday, August 17 23:23Reply
Weather Alert For #Odisha and #Jharkhand Moderate #rains and #thundershowers at many places with isolated heavy spe… t.co/i2jxReK3v8
Saturday, August 17 23:22Reply
Weather Alert for #Uttrakhand Spells of moderate #rains and #thundershowers at many places with isolated heavy spe… t.co/joPFmSBj8N
Saturday, August 17 23:21Reply
हिमाचल प्रदेश में भारी से अति भारी वर्षा के साथ एक-दो स्थानों पर अत्यंत भारी बारिश की संभावना है। इसके अलावा उत्तरा… t.co/Nneo7yhKM8
Saturday, August 17 22:27Reply
The rainfall activities over the northwestern plains of the country might slow down. However, #rains of light to mo… t.co/xyjbzWVSbu
Saturday, August 17 22:25Reply
मौसम प्रणालियों के चलते देश के उत्तरी पहाड़ी राज्यों में पिछले दो तीन दिनों से काफ़ी अच्छी बारिश देखने को मिल रही… t.co/zRxp8AFpez
Saturday, August 17 22:23Reply
मॉनसून प्रणालियों के चलते देश के उत्तर पश्चिमी मैदानी इलाकों में काफ़ी अच्छी बारिश देखने को मिल रही है। ##Punjab… t.co/pxtWqH2kB0
Saturday, August 17 21:28Reply
बिहार के अधिकांश जिलों में अब वर्षा की गतिविधियां बढ़ने का अनुमान है। 22 अगस्त यानि गुरुवार से बिहार के अधिकांश भा… t.co/Sck2DRo3ca
Saturday, August 17 21:23Reply
अगले ४८ घंटों तक पूरे बिहार, झारखण्ड, पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में एक जबरदस्त बारिश का दौर देखने को मिले… t.co/gnrcSGWprw
Saturday, August 17 20:35Reply
अगले 24 घंटों के दौरान, सतना, ग्वालियर, दमोह जैसे पूर्वी इलाकों में मध्यम बारिश की संभावना है। #Monsoont.co/Ht3lnyANv7
Saturday, August 17 20:30Reply

latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try