Skymet weather

[Hindi] शिमला, मनाली, गुलमर्ग की खूबसूरत वादियाँ पर्यटकों के इंतज़ार में

July 14, 2017 11:09 AM |

Shimla tour_Theautomotiveindia 600उत्तर भारत के तीनों पर्वतीय राज्यों में मॉनसून की सक्रियता कम हो गई है। इस सप्ताह की छुट्टियों पर जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थलों पर मौसम रहेगा खुशनुमा। जबकि उत्तराखंड में हल्की से मध्यम वर्षा के बीच हालात चुनौतीपूर्ण बने रहेंगे।

जम्मू कश्मीर पर बना पश्चिमी विक्षोभ पूर्वी दिशा में आगे निकल गया है। इसके अलावा उत्तरखंड और उत्तर प्रदेश के करीब बनी ट्रफ दक्षिण में पहुँच गई है जिससे उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर में बारिश की गतिविधियां में व्यापक कमी आ गई है।

[yuzo_related]

वर्तमान मौसमी परिदृश्य के अनुसार अगले 2-3 दिन यानि रविवार तक जम्मू कश्मीर में मौसम मुख्यतः शुष्क रहेगा। हालांकि कहीं आंशिक बादल छाने और हल्की वर्षा होने की संभावना को खारिज भी नहीं किया जा सकता। इस बीच जम्मू कश्मीर के पहलगाम, गुलमर्ग, श्रीनगर, वैष्णो देवी, लेह और लद्दाख में इस सप्ताह के आखिर में पर्यटन के लिए मौसम खुशगवार रहेगा।

हिमाचल प्रदेश में अधिकांश हिस्सों में मॉनसून इस सप्ताह के आखिर में शांत रहेगा। कुछ भागों में आंशिक बादलों के बीच हल्की वर्षा देखने को मिल सकती है। हालांकि यह बारिश चुनौती नहीं खड़ी करेगी। कह सकते हैं कि शिमला, कुल्लू, मनाली, धर्मशाला में इस सप्ताह के आखिरी दिनों में छुट्टी मनाने के लिए समय अनुकूल है। साथ ही बारिश के पानी में धुलकर स्वच्छ हुई सुंदर वादियाँ खुशनुमा मौसम के साथ आपका स्वागत करेंगी।

हालांकि उत्तराखंड में स्थितियाँ अभी भी कुछ चिंताजनक हैं। बीते दो दिनों की भारी बारिश के बाद राज्य के कई इलाकों में सड़कें टूट गई हैं। भूस्खलन से रस्तों पर आवागमन अवरुद्ध है। इसके अलावा अगले 24 से 48 घंटों तक राज्य में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना भी बनी हुई है।

बारिश के चलते भागीरथी और अलकनंदा सहित कई नदियों में जलस्तर काफी बढ़ गया है। इससे मौसम विशेषज्ञों की सलाह है कि उत्तराखंड के पर्यटन स्थलों पर अगर आप जाना चाहते हैं तो सतर्क रहना होगा।

पिछले 24 घंटों के दौरान उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में भारी वर्षा रिकॉर्ड की गई है। देहारादून में 112 मिलीमीटर, धर्मशाला में 62, मनाली में 37 और शिमला में 22 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।

Image credit: Theautomotiveindia

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 

 








For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×