Skymet weather

[Hindi] राजस्थान में मॉनसून की विदाई में होगी देरी, जयपुर, उदयपुर और कोटा में बारिश जारी रहने का अनुमान

September 3, 2019 6:16 PM |

राजस्थान में अच्छी बारिश का रुझान जारी है। स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों का मानना है कि 1 सितंबर से होने वाली मॉनसून की वापसी में इस साल एक सप्ताह की देरी हो सकती है। राज्य के उदयपुर, माउंट आबू, चित्तौड़गढ़, भीलवाड़ा, बूंदी और कोटा जैसे स्थानों पर अगले दो से तीन दिनों तक बारिश के आसार हैं। इस बीच जयपुर में भी कुछ स्थानों पर हल्की बारिश के आसार बने रहेंगे।

राजस्थान में भारी बारिश के बाद अब राज्य में बारिश की तीव्रता कम हो गई है। इस बीच, पूर्वी जिलों में पिछले 24 घंटों के दौरान हल्की से मध्यम बारिश हुई है। केवल अजमेर में 55 मिमी की भारी वर्षा दर्ज की गई थी।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, मॉनसून की अक्षीय रेखा अब उत्तर दिशा की ओर शिफ्ट हो गई है। इस प्रणाली के कारण राज्य में अब बारिश की गतिविधियां कम हो जाएंगी और अब अगले 2-3 दिनों तक भारी से मूसलाधार बारिश की कोई उम्मीद नहीं है। हालाँकि, राज्य के पूर्वी और दक्षिण-पूर्वी भागों में अलग-अलग स्थानों पर बारिश की गतिविधियां जारी रह सकती है।

4 और 5 सितंबर के आसपास अलवर, जयपुर, सीकर, धौलपुर, भरतपुर, और चूरू जैसे उत्तरी जिले में अलग-अलग स्थानों पर हल्की बौछारें देखने को मिल सकती है। यह बारिश फ़िलहाल चल रहे शुष्क मौसम की स्थिति से एक बड़ी राहत लाएगी।

Read In English: Rains to continue in Udaipur, Jaipur and Kota, Monsoon withdrawal to be delayed by a week

राजस्थान में दक्षिण पश्चिम मानसून 2019 का प्रदर्शन अब तक बहुत अच्छा रहा है। अब तक के आंकड़ों के अनुसार, राजस्थान में ओवरऑल 34 प्रतिशत अधिक बारिश हुई है। वहीं, पूर्वी राजस्थान में 42 प्रतिशत तथा पश्चिमी राजस्थान में 20 प्रतिशत अधिक बारिश दर्ज की गई है। आंकड़ों को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि राजस्थान मॉनसून सीजन में हुए अच्छी बारिश वाले हिस्सों में से एक है।

Image credit: DNA India

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×