[Hindi] दिल्ली प्रदूषण अपडेट: दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में पहुंची, अगले 24 घंटों में सुधार की संभावना

January 21, 2020 1:11 PM |

Updated on January 21, 12:20 PM: दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में पहुंची, अगले 24 घंटों में सुधार की संभावना

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आज का ओवर ऑल एक्यूआई 322 रहा। पीएम 10 'मध्यम' श्रेणी में देखा गया, जबकि पीएम 2.5 'खराब से बेहद खराब 'श्रेणी में बना रहा। हवाओं की रफ्तार हल्की होने के कारण पिछले 24 से 48 घंटों के दौरान प्रदूषण के स्तर में वृद्धि हुई है।

अगले 24 घंटों के दौरान दिल्ली में प्रदूषण खराब ही बना रहेगा उसके बाद 22 जनवरी की दोपहर से इसमें सुधार हो सकता है, क्योंकि 22 जनवरी से उत्तर-पश्चिमी शुष्क हवाएँ मध्यम रफ़्तार से चलेंगी। ये हवाएँ 24-25 जनवरी तक जारी रहेंगी जिससे अधिकांश स्थानों पर वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहतर स्थिति में रहने की उम्मीद की जा सकती है।

दिल्ली में अगले कुछ दिनों के दौरान बारिश की संभावना नहीं। इसके बावजूद तेज़ हवाएँ राजधानी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता को बेहतर रखने में मददगार होंगी। बारिश होने की संभावना 28 और 29 जनवरी को है, जिससे प्रदूषण में और सुधार देखा जा सकता है।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on January 20, 15:33 PM: दिल्ली-एनसीआर के प्रदूषण में होगा 21 जनवरी के बाद सुधार 

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आज का ओवर ऑल एक्यूआई 228 रहा। पीएम 10 'मध्यम' श्रेणी में देखा गया, जबकि पीएम 2.5 'खराब से बेहद गरीब' श्रेणी में बना रहा। हवाओं की रफ्तार हल्की होने के कारण अगले 24 से 48 घंटों के दौरान प्रदूषण में और वृद्धि होने की संभावना है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार कल तक प्रदूषण बढ़ेगा उसके बाद 22 जनवरी की दोपहर से सुधार हो सकता है, क्योंकि 22 जनवरी से उत्तर-पश्चिमी शुष्क हवाएँ मध्यम रफ़्तार में चलेंगी। ये हवाएँ 24 या 25 जनवरी तक जारी रहेंगी जिससे अधिकांश स्थानों पर वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहतर स्थिति में रहने की उम्मीद की जा सकती है।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

pollution table

 

 

Updated on January 17, 11:20 AM: खराब’ श्रेणी में रहा, आने वाले दिनों में कोई बदलाव की उम्मीद नहीं

दिल्ली-एनसीआर में पिछले दो दिनों से प्रदूषण में सुधार देखने को मिला था, जो सिर्फ दिल्ली-एनसीआर में हुई बारिश के कारण देखा गया।

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का समग्र एक्यूआई (वायु गुणवत्ता सूचकांक) 266 है, जिसमें राज्य के कई स्थानों पर पीएम 10 को 'मध्यम' श्रेणी का बताया गया है। इसी बीच, पीएम 2.5 कई हिस्सों में 'खराब' श्रेणी में रहा, जबकि दिल्ली-एनसीआर के अलग-अलग स्थानों में अभी भी प्रदूषण 'बहुत खराब श्रेणी में देखा जा रहा हैं।

स्काइमेट के विशेषज्ञों के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर में बारिश की गतिविधियां कम हो गई है जिसके कारण दक्षिण-पूर्वी उत्तर की ओर से चलने वाली हवाओं ने अपनी दिशा उत्तर-पूर्वी दिशा में बदल दी है। लेकिन हवा पैटर्न में बदलाव के बावजूद भी हम कम हवा के गति के कारण वायु प्रदूषण में वृद्धि देखेंगे।

उत्तर-पश्चिमी क्षेत्रों से 10 से 12 किमी प्रति घंटे की गति से हवाएं चल रही हैं, जिसमे प्रदूषण की साफ होने की संभावना नहीं है। क्योकि स्थानीय प्रदूषक एक बार फिर इकट्ठा हो जाएंगे जिससे आने वाले दिनों में प्रदूषण से कोई राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on January 15, 11:20 AM:  दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण के स्तर हुआ सुधार, आज हो सकती है बारिश

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण पिछले कुछ दिनों से 'बहुत खराब' श्रेणी में था। जबकि पिछले 24 घंटों के दौरान उत्तर पश्चिम से मध्यम हवाओं के जारी रहने के कारण हवा की गुणवत्ता में थोड़ा सुधार हुआ है। आज, दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में समग्र AQI 215 है और दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में लगभग सभी जगहों पर पीएम 10 की श्रेणी में देखा गया, जबकि कई हिस्सों में पीएम 5 'मध्यम' श्रेणी में भी देखने को मिला। हालांकि अभी भी कई स्थानों पर प्रदूषण 'ख़राब' से 'बहुत ख़राब' श्रेणी में बना हुआ है।

स्काइमेट के विशेषज्ञों के अनुसार 15 जनवरी यानि आज रात तक दिल्ली-एनसीआर में हल्की बारिश होने की संभावना है, जो कल तक बढ़ सकती है। इसलिए, कल तक पूरी दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के वायु प्रदूषण में और सुधार देखने को मिल सकता है। 17 जनवरी तक, हमें उम्मीद है कि राष्ट्रीय राजधानी के कुछ क्षेत्रों में AQI 'संतोषजनक' श्रेणी में आ सकता है। इस प्रकार, हम कह सकते हैं कि लगभग एक महीने के बाद, दिल्ली स्वच्छ हवा में सांस लेने के लिए तैयार है।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Delhi Pollution update

Updated on January 14, 12:22 PM:  दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु गुणवत्ता में सुधार का अनुमान 

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के अधिकांश हिस्सों में प्रदूषण भी तापमान की तरह कभी ऊपर तो कभी नीचे हो रहा है। इस समय प्रदूषण में कुछ इज़ाफ़ा हुआ है जिससे वायु गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में आ गई है। पिछले 24 घंटों में हवा की रफ्तार में कमी आई थी और कुछ स्थानों पर हल्की बारिश हुई थी जिससे नमी का स्तर बढ़ गया है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार अगले 24 घंटों तक दिल्ली-एनसीआर में बारिश की संभावना नहीं है। लेकिन इस दौरान हवा की रफ़्तार बढ़ेगी जिससे वायु गुणवत्ता में कुछ सुधार की उम्मीद कर सकते हैं। 16 जनवरी को फिर से दिल्ली में तेज़ बारिश की संभावना बन रही है जिससे प्रदूषण साफ होने की उम्मीद है।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Delhi pollution update

Updated on January 10, 1:15 PM: लम्बे अर्से के बाद दिल्लीवासी लेंगे साफ़ हवा में सांस

दिसंबर के अंतिम सप्ताह से लेकर 5 जनवरी तक, दिल्ली प्रदूषण बहुत खराब ’से 'गंभीर’ श्रेणी में था। लेकिन बारिश के साथ-साथ दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में उत्तरी मैदानी इलाकों में हल्की से मध्यम उत्तरी हवाओं ने प्रदूषण के स्तर को ‘बहुत खराब’ से ’मध्यम’ श्रेणी तक कम करने में मदद की।

वर्तमान में, पीएम 10, साथ ही पीएम 2.5 दोनों दिल्ली और एनसीआर के कई हिस्सों में 'मध्यम' श्रेणी में हैं। इसके अलावा, हम उम्मीद करते हैं कि प्रदूषण का स्तर अगले दो दिनों तक मध्यम ’श्रेणी में रहेगा। चूंकि दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 13 जनवरी तक बारिश होने की संभावना है, इसलिए हवा में और सुधार हो सकता है।

इसके बाद, दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र सहित उत्तर पश्चिमी मैदानी इलाकों के कई हिस्सों में 16 जनवरी और 17 जनवरी तक गरज के साथ हल्की वर्षा होगी, इसलिए हम AQI की 'संतोषजनक' श्रेणी में आने की उम्मीद करते हैं। इस प्रकार, हम कह सकते हैं कि दिल्ली लंबे समय के बाद स्वच्छ हवा में सांस लेगी।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Delhi Pollution update

Updated on January 08, 4:00 PM: दिल्ली-एनसीआर में बारिश के बाद बढ़ी ठंड, प्रदूषण हुआ कम 

पिछले कुछ दिनों के दौरान, दिल्ली-एनसीआर के अधिकांश स्थानों में दिल्ली प्रदूषण 'बहुत खराब' श्रेणी में हुआ था। लेकिन पिछले 48 घंटों के दौरान, हवा की गुणवत्ता में सुधार हुआ है और उत्तरी मैदानी इलाकों के साथ-साथ दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में हो रही हल्की बारिश से प्रदूषण के स्तर में धीरे-धीरे कमी आ रही है। जबकि दिल्ली-एनसीआर के अधिकांश हिस्सों में पीएम 10' मध्यम' श्रेणी में देखा गया है जबकि पीएम 2.5 'खराब' श्रेणी में है। दिल्ली और एनसीआर की अलग-अलग स्थानों में प्रदूषण 'बहुत खराब' श्रेणी में बना हुआ हैं।

स्काइमेट के विशेषज्ञों के अनुसार अगले दो दिनों तक प्रदूषण में सुधार बना रहेगा। लेकिन उसके बाद प्रदूषण का स्तर एक बार धीरे-धीरे बढ़ेगा और 'खराब' से 'बहुत खराब' श्रेणी में आ सकता है।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Delhi Pollution

Updated on January 07, 14:38 PM: दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण हुआ कम, आगे और सुधार की उम्मीद

दिल्ली-एनसीआर में पिछले कई दिनों से प्रदूषण ज़्यादातर हिस्सों में खराब से बेहद खराब श्रेणी में बना हुआ था। लेकिन अब इसमें सुधार होने की उम्मीद है क्योंकि दिल्ली-एनसीआर में बारिश के आसार हैं।

दिल्ली में AQI कल 340 था जो आज 286 पर आ गया है। लेकिन कुछ स्थानों पर अभी भी यह 'बेहद खराब' श्रेणी में बना हुआ है।

अगले 48 घंटों तक दिल्ली-एनसीआर में बारिश के आसार हैं जिससे उम्मीद कर सकते हैं कि प्रदूषण और साफ होगा जिससे राष्ट्रीय राजधानी के लोग और बेहतर हवा में सांस ले सकेंगे। 9 जनवरी से हवाएँ तेज़ होने की उम्मीद है जिससे वायु गुणवत्ता और बेहतर हो सकती है।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

PollutionTable

Updated on January 03, 16:06 PM: दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता में कोई सुधार नहीं

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर खराब से बेहद खराब श्रेणी में बना हुआ है। जबकि एक दो स्थानों पर वायु गुणवत्ता खतरनाक श्रेणी में देखी जा रही है।

बता दें कि, हवाएँ अभी भी पूर्वी दिशा से चल रही है जिसके चलते हवा की गति 8 से 10 किलोमीटर प्रति घंटा चल रही है। हालांकि, सुबह के समय मध्यम कोहरा छाया रहेगा। साथ ही,  कोहरे के साथ मिलकर धूल के कण प्रदूषण को बढ़ाएँगे।

अनुमान है कि 6 से 8 जनवरी के बीच बारिश होने की संभावना है जिससे कुछ सुधार देखने को मिल सकता है। आगे भी  प्रदूषण का स्तर बहुत खराब बना रहेगा, क्योंकि राहत की संभावना बहुत कम है।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on January 02, 13:09 PM : प्रदूषण का स्तर खराब श्रेणी में बना रहा, वायु गुणवत्ता सूचकांक में सुधार

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर अभी भी 'खराब' से 'बेहद खराब' श्रेणी में बना हुआ है। स्काइमेट के विशेषज्ञों के अनुसार आने वाले दिनों में हवा की गुणवत्ता में सुधार की कोई संभावना नहीं है क्योंकि हवा की रफ्तार कम है और बारिश भी नहीं हो रही है।

हालांकि दिन के तापमान में वृद्धि के कारण प्रदूषक कण कुछ हद तक कम हो सकते हैं, लेकिन प्रदूषण ‘खराब’ से बेहद खराब ’श्रेणी में ही बना रहेगा।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on December 19, 15:03 PM : दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में पहुंची, अगले 24 घंटों में सुधार की संभावना

आज सुबह दिल्ली-एनसीआर में घने कोहरे ने दस्तक दी। जिसके कारण दिल्ली-एनसीआर और आसपास के कई हिस्सों में कोहरा देखा गया। इसके अलावा, कुछ क्षेत्रों में घना कोहरा देखने को मिला।

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का समग्र एक्यूआई कुछ स्थानों पर 'खराब' श्रेणी में रहा, जबकि कुछ स्थानों पर 'बेहद खराब' हवा देखी गई।

स्काइमेट विशेषज्ञों के अनुसार उत्तर पश्चिम दिशा से ठंडी हवाएं लगातार दिल्ली एनसीआर को प्रभावित करती रहेगी जिसके चलते तापमान में गिरावट आने की सम्भावना है। दोपहर के घंटों के लिए कुछ सुधार की उम्मीद है और AQI 'मध्यम' श्रेणी में आ सकता है।

अगले 24 घंटों के दौरान हम उम्मीद करते हैं कि हवाएँ हल्की रहेंगी, जिससे दिल्ली और एनसीआर के कई हिस्सों में सुबह के समय प्रदूषण की स्थिति फिर से बिगड़ जाएगी। AQI कुछ स्थानों पर 'बहुत खराब' हो सकता है।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Delhi Pollution

Updated on December 13, 16:41 PM: दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर मध्यम से खराब श्रेणी रहा 

दिल्ली-एनसीआर में अब उत्तरी हवाएं चल रही हैं, और कोहरे की परत भी गायब हो गई है। साथ ही दिल्ली में धूप ने वापसी की है, और तापमान एक बार फिर से बढ़ रहा हैं।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार प्रदूषण का स्तर मध्यम से खराब श्रेणी के बीच आ गया है। हालांकि कल से हवाओं की गति कम हो जाएगी, लेकिन फिर भी धूप रहेगी।

अनुमान है कि 20 दिसंबर के बाद से प्रदूषण का स्तर बिगड़ जाएगा, और दिन का तापमान भी बढ़ जाएगा।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

AQI in Delhi-NCR on December 18, 2019

 

Updated on December 13, 16:41 PM: प्रदूषण के स्तर में सुधार की उम्मीद 

जैसे-जैसे हवाएँ बदल रही हैं, वैसे-वैसे ही हमारे देश के उत्तर-पश्चिमी मैदानी इलाकों में भी तेज़ हवाएँ चलने लगेंगी। इस प्रकार दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु गुणवत्ता में मामूली सुधार देखने को मिलेगा।

हालांकि, सुबह के घंटों के दौरान, कुछ स्थानों में घने कोहरे से प्रदूषण के स्तर में वृद्धि हो सकती है और प्रदूषण का स्तर खराब से बेहद खराब श्रेणी में आ सकता है। जैसे-जैसे दिन आगे बढ़ेगा और हवाएँ रफ्तार पकड़ेंगी, इसके बाद वायु गुणवत्ता में सुधार देखने को मिलेगा जिससे एक बार फिर प्रदूषण का स्तर मध्यम से खराब श्रेणी में आ जाएगा।

अनुमान है कि, 19 दिसंबर तक वायु गुणवत्ता इसी तरह रहेगी। हालांकि जैसे ही अगला पश्चिमी विक्षोभ पहाड़ियों के पास जाएगा, वेसे ही वायु गुणवत्ता एक बार फिर से खराब होने लगेगी।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Delhi AQI on December 14

Updated on December 13, 16:41 PM:  बारिश के कारण दिल्ली-एनसीआर में घटा प्रदूषण का स्तर, लेकिन बढ़ी राहत का अभी भी इंतज़ार 

गुरुवार शाम से लेकर शुक्रवार सुबह तक हुई बारिश के बावजूद आज भी दिल्ली-वासियों को वायु प्रदूषण से राहत नहीं मिली है।

पिछले कई दिनों की तुलना में आज वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 114 के स्तर पर पहुँच गया है जो मध्यम श्रेणी में बना हुआ है। कुछ स्थानों में खराब से बेहद खराब हवा भी देखने को मिली है।

स्काइमेट विशेषज्ञों के अनुसार, उत्तर-पश्चिम से जल्दी ही हवाएँ हवाऐं चलना शुरू हो जाएंगी। जिससे प्रदूषण से कुछ राहत देखने को मिल सकती है।

साथ ही अब शहर में रात के तापमानों में गिरावट देखने को मिलेगी ओर सुबह के समय कोहरा छाया रहेगा।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on December 12, 13:59 PM:  दिल्ली में 12 दिसम्बर को प्रदूषण पहुंचा खतरनाक स्तर पर, आज से संभावित बारिश दिलाएगी राहत

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर आज फिर से चरम पर पहुंचा। पिछले कई दिनों की तुलना में आज वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 407 के स्तर पर पहुँच गया। हवा में मौजूद प्रदूषण का यह स्तर स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं होता है।

यह स्थिति अगले कुछ घंटों तक ऐसे ही रहने की उम्मीद है। इसके बाद, दिल्ली और एनसीआर में बारिश की संभावना है, जिससे प्रदूषण में कमी आएगी। बारिश कल तक जारी रहेगी जो वायु प्रदूषकों को साफ करने में बड़ी मददगार होगी।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

DelhiAQI

Updated on December 11, 16:00 PM: 24 घंटों तक नहीं सुधरेगा प्रदूषण का हाल, बदलाव 12 दिसम्बर के बाद दिखेगा जब आएगी बारिश

देश की राजधानी दिल्ली में आज भी कई इलाकों में प्रदूषण का स्तर चिंताजनक रिकॉर्ड किया गया। मौसमी स्थितियाँ अभी भी प्रदूषण के अनुकूल हैं। प्रदूषण से राहत अगले 24 घंटों के बाद ही मिल सकती है। फिलहाल दिल्ली, और नोएडा के विभिन्न इलाकों में आज रिकॉर्ड किया गया वायु गुणवत्ता सूचकांक नीचे दिए गए टेबल में देख सकते हैं।

Pollution in Delhi

अगले 24 घंटों के बाद राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और इससे सटे शहरों नोएडा, गुरुग्राम, गाज़ियाबाद, फ़रीदाबाद में मौसम बदलेगा। 12 दिसम्बर से 13 दिसम्बर के बीच हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। बारिश के चलते दिल्ली के ऊपर मौजूद प्रदूषण साफ हो जाएगा। उसके बाद 14-15 दिसम्बर से उत्तर-पश्चिमी हवाएँ चलेंगी जिनसे दिल्ली के हवा के और साफ होने के आसार हैं।

Updated on December 10, 13:38 PM: दिल्ली की हवा में अगले 48 घंटों में हो सकता है सुधार

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का वायु प्रदूषण 'खराब से बहुत खराब' श्रेणी में बना हुआ है क्योंकि इस क्षेत्र में चलने वाली हवाएँ बहुत हल्की हैं। जबकि दिल्ली और एनसीआर के कुछ स्थान 'खराब' श्रेणी में देखे जा रहे है।

स्काइमेट विशेषज्ञों के अनुसार, 12 दिसंबर तक हल्की बारिश की गतिविधियों की उम्मीद है जो वायु प्रदूषकों को फैलाने में मदद करेगी। इस प्रकार, AQI 'संतोषजनक' श्रेणी में प्रवेश करेगा।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on December 09, 11:43 AM:  11 दिसंबर तक दिल्ली प्रदूषण से कोई राहत नहीं

दिल्ली-एनसीआर में लगातार प्रदूषण का स्तर बेहद खराब श्रेणी में बना हुआ है, जबकि एक या दो जगहों में प्रदूषण का स्तर खराब श्रेणी में देखा जा रहा है।

स्काईमेट विशेषज्ञों के अनुसार, दिल्लीवासियों को अगले दो से तीन दिनों तक खराब हवा का सामना करना पड़ेगा, जिससे लोगों को सांस लेने में दिक्कत होगी। क्योंकि हवाएँ प्रदूषित और शांत रहेंगी, जो की वायु प्रदूषकों को फैलाने में सक्षम नहीं होंगी।

सुबह के समय कोहरे के कारण स्थिति और खराब हो जाएगी। साथ ही AQI ज्यादातर हिस्सों में 'खराब से बेहद खराब' श्रेणी में बना रहेगा।

Updated on December 08, 18:30 PM: अगले तीन दिन वायु गुणवत्ता रहेगी ख़राब, 11-12 दिसम्बर से इस प्रदूषण को धुलेगी बारिश

दिल्ली में प्रदूषण इस समय बढ़ा हुआ है, इसकी वजह है उत्तर पश्चिमी हवाओं की रफ्तार में आई कमी है। इस समय वातावरण में नमी अधिक है। ऐसे में हवा की रफ्तार जब भी कम होगी प्रदूषण का स्तर बढ़ता जाएगा। हवा में मौजूद प्रदूषण के तत्व चाहे पीएम 2.5 हो, पीएम 10 हो या पीएम 1 हो, बढ़ेगा ही। कम से कम 11 दिसंबर की सुबह तक स्थितियां कुछ इसी तरह की रहेंगी। हवा की रफ्तार बढ़ने वाली नहीं बल्कि कुछ और कम हो सकती है।

हवा कम होने के कारण ही धुंध भी दिल्ली और एनसीआर के शहरों के ऊपर दिखेगी जिसके कारण प्रदूषण के कण इस धुंध में मिलकर स्थिति को और विषम बना देंगे। स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार अगले दो-तीन दिनों के दौरान पीएम 2.5 और पीएम 10 कई जगहों पर 300 से 400 के बीच रिकॉर्ड किया जाएगा और यही वजह है कि कुछ स्थानों पर खासकर आनंद विहार, आजादपुर, दिल्ली विश्वविद्यालय, चांदनी चौक, मथुरा रोड, नोएडा, गाजियाबाद और गुरुग्राम में कुछ स्थानों पर वायु गुणवत्ता सूचकांक 500 के आसपास पहुंच सकता है।

इस प्रदूषण से 11 दिसंबर के बाद छुटकारा मिलने की संभावना है, क्योंकि 11 दिसंबर से लेकर 14 दिसंबर तक दिल्ली-एनसीआर सहित उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में बारिश के संकेत मिल रहे हैं। बारिश के दौरान भी प्रदूषण कम होगा और उसके बाद 15 दिसंबर से जब उत्तर पश्चिमी शुष्क और ठंडी हवाएं तेज रफ्तार से चलनी शुरू होंगी उस दौरान प्रदूषण में भारी कमी आएगी। 15 दिसंबर से लेकर अगले तीन-चार दिनों तक आसमान साफ रहेगा और तेज धूप से साथ स्वच्छ हवा का आनंद दिल्ली और एनसीआर के लोग ले सकेंगे। सुबह और रात में कड़ाके की ठंड से दिल्ली-एनसीआर के लोग दो-चार होंगे।

Updated on December 06, 12:54 PM: दिल्ली में वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में, आने वाले दिनों में कोई बदलाव की उम्मीद नहीं

जैसा कि स्काईमेट द्वारा पूर्वानुमान लगाया गया था, दिल्ली में प्रदूषण का स्तर आज और बढ़ गया है। दिल्ली एनसीआर का समग्र एक्यूआई सुबह 363 पर दर्ज किया गया था। यहाँ तक कि राष्ट्रीय राजधानी के अधिकांश स्थानों में 'बेहद खराब' श्रेणी में देखा गया है। लगभग सभी स्थानों पर पीएम 2.5 ’बहुत खराब’ श्रेणी में बना हुआ है, जबकि पीएम 10 ’खराब’ श्रेणी में है।

दिल्ली से सटे नोएडा, चांदनी चौक, और धीरपुर जैसे शहर में 'बेहद खराब' हवा देखी जा रही है।

हम अगले कुछ दिनों तक इस क्षेत्र में प्रदूषण से किसी भी महत्वपूर्ण राहत की उम्मीद नहीं करते हैं क्योंकि हवाएं ज्यादातर हल्की रहेंगी। हालाँकि, 10 दिसंबर के आसपास कुछ राहत  देखी जा सकती है।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on December 05, 12:14 PM: फिर बढ़ा दिल्ली प्रदूषण, वायु गुणवत्ता सूचकांक और हो सकता है खराब

दिल्ली-एनसीआर प्रदूषण फिर से घातक हो रहा है। लंबे समय की राहत के बाद वायु गुणवत्ता सूचकांक में गिरावट आने लगी है। पिछले 24 घंटों से बढ़ रहा है। आज यानि 5 नवंबर को दिल्ली-एनसीआर का वायु गुणवत्ता सूचकांक बढ़ते हुए 334 के आसपास पहुँच गया।

प्रदूषण वाले तत्व यानि पीएम 2.5 खराब श्रेणी में चला गया है। हालांकि पीएम 10 अभी भी कुछ हिस्सों में मध्यम श्रेणी में बना हुआ है। लेकिन नोएडा में पीएम 10 खराब श्रेणी में पहुँच गया है। आने वाले दिनों में प्रदूषण से  कोई राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।

प्रदूषण स्तर में इसलिए वृद्धि हो रही है क्योंकि तापमान कम हो गया है और उत्तर-पश्चिमी हवाएँ अब मंद पड़ गई हैं। अगले कुछ दिनों के दौरान प्रदूषण के अलावा धुंध और कोहरा भी बढ़ेगा। यही वजह है कि प्रदूषण और अधिक घातक हो सकता है।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on December 04, 12:51 PM: दिल्ली में फिर खराब हुई वायु गुणवत्ता,आने वाले दिनों में कोई बदलाव की उम्मीद नहीं

दिल्ली-एनसीआर में बारिश और तेज हवाओं के कारण पिछले दिनों प्रदूषण से थोड़ी राहत मिलने के बाद वायु गुणवत्ता फिर खराब हो गई है और आगामी दिनों में इसके और खराब होने की आशंका है।

आज सुबह, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के AQI को 305 पर रिकॉर्ड किया गया। जैसा कि स्काईमेट द्वारा पूर्वानुमान लगाया गया था, कई स्थानों पर प्रदूषण का स्तर ’खराब’ श्रेणी में है।

प्रदूषण स्तर के बढ़ने का मुख्य कारण है उत्तर से बहने वाली हल्की हवाएँ। अगले कुछ दिनों तक हवा के ऐसे ही बने रहने की संभावना है।

हमें उम्मीद है कि आने वाले 48 घंटों में हवा और भी खराब हो जाएगी।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on December 03, 11:51 AM: दिल्ली प्रदूषण एक बार फिर से खराब श्रेणी, आने वाले दिनों में कोई बदलाव की उम्मीद नहीं

ऐसा लगता है कि दिल्ली में बेहतर वायु गुणवत्ता के अच्छे दिन समाप्त होने को आएँ हैं, लेकिन स्थिति उतनी गंभीर नहीं है जितनी पहले थी। लंबे समय के बाद, दिल्ली और आस-पास के क्षेत्र जैसे नोएडा, गुरुग्राम और फरीदाबाद में कुछ हिस्सों में आज प्रदूषण का स्तर 'बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज गया। लेकिन अभी भी अधिकांश स्थान 'मध्यम से खराब’ श्रेणी में हैं। वास्तव में, पीएम 10 पूरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 'मध्यम' श्रेणी में है, लेकिन पीएम 2.5 'खराब' श्रेणी में है।

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार, प्रदूषण का स्तर आमतौर पर सुबह के दौरान बढ़ जाता है क्योंकि रात के समय हवाएं शांत या बहुत हल्की हो जाती हैं जो स्थानीय प्रदूषकों के संचय में मदद करती हैं। जैसे ही सूरज चढ़ता है और हवा की गति के साथ साथ तापमान में वृद्धि होती है, तब प्रदूषण के स्तर में भी दोपहर के बाद सुधार होता है। दिन के दौरान वायु की गुणवत्ता सुबह के समय में तुलनात्मक रूप से बेहतर होती है।

हम उम्मीद करते हैं कि इसी तरह की स्थिति 4 दिसंबर तक बनी रहेगी। इसके बाद हवा की गति में थोड़ी कमी आ सकती है और प्रदूषण बढ़ सकता है। उस समय दिल्ली के कुछ हिस्सों में प्रदूषण 'बहुत खराब' श्रेणी में प्रवेश कर सकता है, लेकिन प्रदूषण का ‘गंभीर' श्रेणी में आने की उम्मीद नहीं करते हैं।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on December 01, 02:51 PM: दिल्ली-एनसीआर प्रदूषण लाइव अपडेट: प्रदूषण नहीं होगा प्रचंड, राहत रहेगी बरकरार

प्रदूषण के स्तर में काफी कमी आई है जिससे पिछले कुछ दिनों से दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु गुणवत्ता संतोषजनक स्तर पर बनी हुई है। दिल्ली सहित उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में 27 और 28 नवंबर को हुई बारिश और उसके बाद से चल रही उत्तर-पश्चिमी तेज़ हवाओं के कारण दिल्ली में प्रदूषण घटा है।

इन उत्तरी हवाओं के चलने के कारण राष्ट्रीय राजधानी में अधिकांश इलाकों में प्रदूषण अगले दो-तीन दिनों तक प्रचंड नहीं होगा।

मौसम विशेषज्ञों की मानें तो दिल्ली-एनसीआर सहित आसपास के क्षेत्र पर कोई सक्रिय मौसमी सिस्टम नहीं है जिससे अगले कुछ दिनों तक दिन में मध्यम से तेज़ हवाएँ इसी तरह चलती रहेंगी। इसलिए प्रदूषण का स्तर संतोषजनक से ‘मध्यम' श्रेणी में बना रहेगा।

अब आप अपने लोकेशन में हवा की गुणवत्ता, सीधे ट्रैक कर सकते हैं। इसके लिए आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on November 30, 12:51 PM:दिल्ली में आज भी संतोषजनक है हवा गुणवत्ता

कल पहली बार दिल्ली प्रदूषण 'संतोषजनक' श्रेणी में देखा गया, जिसके बाद आज भी दिल्ली की हवा 'मध्यम’ श्रेणी में बनी हुई है।

आज सुबह 8:30 बजे तक, शहर के लिए समग्र पी.एम. 2.5 का स्तर 83 पर बना हुआ है जो कि 'मध्यम' श्रेणी में आता है।

इसके अलावा, दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में मध्यम तीव्रता के साथ उत्तरी हवाएं चल रही हैं। इस समय दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में स्वच्छ हवा बह रही है, जिसके साथ ही शहर में प्रदूषण के स्तर में सुधार हुआ है।

इसके अलावा, अगले कुछ दिनों तक इसी तरह की तेज हवाएं चलने का अनुमान है। साथ ही आकाश मुख्य रूप से साफ रहेगा।

अब आप ट्रैक कर सकते हैं कि आपके लोकेशन में कैसी रहेगी हवा की गुणवत्ता, आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on November 29, 11:41 AM:  दिल्ली एनसीआर की हवा में सुधार, एक महीने में सबसे साफ़

दिल्ली प्रदूषण महीने में पहली बार संतोषजनक ’श्रेणी में आया है। आज सुबह, दिल्ली का समग्र एक्यूआई 97 पर दर्ज किया गया था। यह इस महीने दिल्ली में दर्ज की गई सबसे साफ हवा है।

हवा में हुए इस सुधार की वजह पड़ोसी राज्यों पंजाब और हरियाणा में गरज के साथ अच्छी वर्षा है। इसके साथ ही दिल्ली और एनसीआर में पिछले दो दिनों से बारिश हो रही है।

अब, हम दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में प्रदूषण बढ़ने की उम्मीद नहीं करते हैं। हालांकि, इसमें मामूली वृद्धि हो सकती है क्योंकि हवाएं 24 घंटे के बाद कमजोर हो जाएंगी। तब प्रदूषण का स्तर ‘मध्यम’ श्रेणी में जा सकता है।

Updated on November 28, 11:41 AM:  दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में बारिश, वायु गुणवत्ता में आया सुधार

दिल्ली की वायु गुणवत्ता में बुधवार को सुबह थोड़ा सुधार आया और यह 'मध्यम' श्रेणी में दर्ज की गई। इससे पहले दो दिनों तक वायु गुणवत्ता 'खराब' श्रेणी में रही थी

दिल्ली- राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में बारिश के कारण हवा बेहतर हो गई है।

दिल्ली और आसपास के सटे इलाकों में पिछलें 24 घंटों के दौरान गरज के साथ बारिश हुई दर्ज की गयी है। इस बारिश के साथ-साथ पश्चिम दिशा से बहती मध्यम गति की हवाओं ने दिल्ली की हवा को बेहतर बनाने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

Updated on November 27, 15:10 PM:  आज हवा की गुणवत्ता में आ सकता है हल्का सुधार 

कल से, दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में दक्षिण-पूर्वी हवाएँ चल रही हैं। जिससे अधिकांश स्थानों पर प्रदूषण 'मध्यम' श्रेणी में बना हुआ  है, जबकि कुछ स्थानों पर 'खराब' हवा भी देखी जा रही है।

स्काइमेट के पूर्वानुमान के अनुसार दिल्ली की वायु गुणवत्ता आने वाले दिनों के लिए भी स्थिर ही रहेगी।

पंजाब और हरियाणा के कई हिस्सों में पहले ही अच्छी बारिश हुई है। साथ ही  दिल्ली-एनसीआर में भी आज बारिश होने की उम्मीद है।

जल्द ही क्षेत्र पर पूर्वी हवाएँ चलने का अनुमान है जिसके चलते पंजाब और हरियाणा से उड़ता धुआँ दिल्ली एनसीआर को प्रभावित नहीं कर पाएगा।

28 नवम्बर से हवाओं की दिशा बदलेगी जिसके चलते दिल्ली में प्रदूषण फिर एक बार बढ़ेगा।

अब आप ट्रैक कर सकते हैं कि आपके लोकेशन में कैसी रहेगी हवा की गुणवत्ता, आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on November 26, 12:20 PM:  दिल्ली में 26 व 27 नवंबर को बारिश की संभावना, लेकिन दिल्ली प्रदूषण रहेगा खराब स्थिति में

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पिछले 24 घंटों में हवा हल्की हो गई है। हवा की दिशा भी बदलकर पूर्वी हो गई है, जिससे नमी बनी रहेगी। यानि प्रदूषण साफ होने के संकेत नहीं हैं।

जब भी हल्की हवा होती है और हवा में नमी बढ़ जाती है तब प्रदूषण का स्तर भी बढ़ जाता है। और आज की सुबह से ही एसी स्थिति बनी हुई है जिससे प्रदूषण में मामूली वृद्धि हुई है।

दिल्ली और एनसीआर के एक बड़े हिस्से में प्रदूषण एक बार फिर 'खराब से बेहद खराब' श्रेणी में पहुंच गया है।

हालांकि, दिल्ली और इसके आस-पास के इलाकों में आज और कल बारिश होने की संभावना है, लेकिन इस बारिश से वायु गुणवत्ता में कोई सुधार देखने को नहीं मिलेगा। जबकि यह बारिश स्थिति को और खराब कर देगी। जिसके कारण, 27 और 28 नवंबर को AQI (PM 2.5) और खराब श्रेणी में प्रवेश कर लेगा।

अब आप ट्रैक कर सकते हैं कि आपके लोकेशन में कैसी रहेगी हवा की गुणवत्ता, आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on November 24, 12:20 AM:  दिल्ली में बारिश, तेज़ हवाएँ जल्द ही लाएँगी प्रदूषण से राहत

दिल्ली प्रदूषण अभी भी बना हुआ है हालांकि, पिछले 24 घंटों के दौरान थोड़ा सुधार देखा गया है। दिल्ली के अधिकांश स्थानों पर पीएम 10 मध्यम श्रेणी में है, वहीं PM 2.5 अभी भी बहुत खराब’ से खराब श्रेणी में है।

अगले 24 घंटों के दौरान प्रदूषण की स्थिति राष्ट्रीय राजधानी और इससे सटे नोएडा, गुरुग्राम तथा फ़रीदाबाद में बनी रहेगी। हालांकिउत्तर पश्चिम दिशा से मध्यम हवाओं के कारण मामूली सुधार देखा जा सकता है।

परंतु हम जल्द ही राहत की उम्मीद करते हैं। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार कल दिल्ली में छिटपुट वर्षा की गतिविधियों की संभावना है। दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 27 नवंबर तक बारिश जारी रहने का अनुमान है जो प्रदूषण को कम करने में काफी मदद करेगा। राजस्थान के कई हिस्सों मेंसाथ ही पंजाब और हरियाणा के कुछ हिस्सों में भी गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश होगी।

Updated on November 23, 11:20 AM:  दिल्ली के प्रदूषण स्तर में आया मामूली सुधार, पश्चिमी विक्षोभ के बनने के बाद फिर खराब होगी वायु गुणवत्ता

दिल्ली में आज यानि शनिवार सुबह हवाओं की रफ्तार में मामूली रफ्तार आने से प्रदूषण में हल्की सुधार दर्ज की गई है। हालांकि हल्की सुधार के बावजूद राजधानी दिल्ली की हवा खराब से बेहद खराब श्रेणी में बनी हुई है। आपको बता दें कि शुक्रवार रात से ही इस क्षेत्र में हवाएं चल रही है। स्काईमेट के मौसम विशेषज्ञों का मानना है कि दिन के दौरान हवाओं की गति में और रफ्तार देखने को मिल सकती है। उम्मीद है कि यह हवा दिल्ली एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण के स्तर को कुछ हद तक कम कर देगी।

हालांकि, दिल्ली एनसीआर में हवाओं की गति बहुत कम समय के लिए ही रहेगी। क्यूंकि, जैसे ही एक ताज़ा पश्चिमी विक्षोभ 25 नवंबर तक पश्चिमी हिमालय के भागों पर विकसित होगा। हवाओं की गति में कमी आनी शुरू हो जाएगी और उस दौरान प्रदूषण एक बार फिर बढ़ता नजर आएगा।

अब आप ट्रैक कर सकते हैं कि आपके लोकेशन में कैसी रहेगी हवा की गुणवत्ता, आज ही डाउनलोड करें SkymetAQI ऐप प्लेस्टोर से

Updated on November 22, 12:55 PM:  दिल्ली-एनसीआर में फिर खतरनाक हुआ प्रदूषण का स्तर, 28 नवंबर तक कोई राहत नहीं

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का समग्र 'एक्यूआई' 359 दर्ज किया गया है। जबकि कई क्षेत्रों में हवा ‘खराब’ से बेहद खराब ’श्रेणी में देखी जा रही है। वहीं, एक-दो स्थानों पर प्रदूषण 'खराब ' श्रेणी में देखा जा रहा है।

स्काइमेट द्वारा किए गए पूर्वानुमान के मुताबिक के कारण हवाएँ अपनी दिशा बदलेगी। दिल्ली में अगले 24 घंटों तक इसी तरह का प्रदूषण बना रहेगा।

23 नवंबर को पश्चिमी विक्षोभ अपनी दिशा बदलेगा , जिससे उत्तर पश्चिमी दिशा से चलने वाली हवाओं की गति बढ़ जाएगी। और साथ ही प्रदूषण के स्तर में भी मामूली कमी देखी जा सकती है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, 28 नवंबर तक प्रदूषण का स्तर ’खराब’ से बेहद खराब ’श्रेणी में रहेगा।

उत्तर की ओर चलने वाली हवाएँ वापस आएंगी और फिर से रफ्तार पकड़ेंगी।

दिल्ली-एनसीआर के अलग-अलग क्षेत्रों में दर्ज वायु गुणवत्ता के आंकड़ों पर एक नजर -

pollutio

Updated on November 20, 9:01 AM: दिल्ली में फिर एक बार गंभीर श्रेणी में पहुंचने वाली है वायु गुणवत्ता, 24 नवंबर से पहले राहत की उम्मीद नहीं

स्काइमेट द्वारा किए गए पूर्वानुमान के मुतंबिक ही दिल्ली प्रदूषण पिछले 24 घंटों के दौरान बढ़ रहा है। इस समय पीएम 2.5 मध्यम से खराब श्रेणी में है जबकि पीएम 10 अधिकांश स्थानों पर खराब से बेहद खराब श्रेणी में है। दिल्ली-एनसीआर के लिए वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 269 है, जो कि स्वास्थ के लिहाज से ठीक नहीं है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों का मानना है कि राजधानी दिल्ली और इससे सटे आसपास के इलाकों में वायु की गुणवत्ता और खराब होगी और इसके खतरनाक श्रेणी में पहुंचने की आशंका है। हवा की गति पहले ही कम हो गई है और अगले दो दिनों में और कम होने की संभावना है। इसके साथ, प्रदूषण के लिहाज से दिल्ली-एनसीआर के कुछ हिस्से 21 और 22 नवंबर को खतरनाक श्रेणी में आ सकते हैं।

दिल्ली के वायु प्रदूषण में इस वृद्धि का मुख्य कारण है पश्चिमी विक्षोभ जिसने हवा की दिशा बदल दी है और साथ ही इसकी गति को भी धीमा कर दिया है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार अब 24 नवंबर के आसपास ही कुछ राहत की उम्मीद है, जब उत्तर की ओर चलने वाली हवाएँ वापस आएंगी और फिर से रफ्तार पकड़ेंगी।

Updated on November 19, 11:30 AM: बहुत जल्द  बेहद खतरनाक होने वाली है दिल्ली और एनसीआर की हवा 

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, पश्चिमी हिमालयी भागों पर जल्द ही एक पश्चिमी विक्षोभ दस्तक देने वाला है। इस मौसम प्रणाली की वजह से दिल्ली और एनसीआर के हिस्सों में मध्यम गति से चल रही हवाओं का बहना बंद हो जाएगा। हवाओं की अनुपस्थिति में फिर से वायु प्रदूषक धरती से सतहों पर जमना शुरू हो जाएगी।

अगले 24 घंटों के दौरान, इन तमाम कारणों की वजह से प्रदूषण में मामूली वृद्धि की आशंका है। इतना ही नहीं कल यानि 20 नवंबर को दिल्ली-एनसीआर के अधिकांश क्षेत्रों में प्रदूषण के खराब से बेहद खराब श्रेणी में रहने का अनुमान लगाया जा रहा है।

वहीं, नवंबर 21 और 22 को स्थिति और खराब हो सकती है। प्रदूषण के कारण कुछ क्षेत्रों में तो लोगों का घर से निकलना भी दूभर हो जाएगा।

Updated on November 17, 08:59 AM: तेज हवाओं के वापसी से दिल्ली एनसीआर के प्रदूषण स्तर में सुधार

शनिवार को तेज हवाओं के वापसी होने से दिल्ली और एनसीआर में प्रदूषण के स्तर में सुधार देखा गया। शनिवार को समग्र AQI 357 पर दर्ज किया गया था, जो शुक्रवार को दर्ज की गई तुलना में लगभग 100 कम था। 15 से 20 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली मध्यम हवाओं के साथ ही आज भी ऐसी ही स्थिति रहने की संभावना है। इससे वायु प्रदूषण में और कमी आएगी क्योंकि ये हवाएँ व्यापक क्षेत्र में प्रदूषकों को फैलाने में मदद करेंगी।

दिल्ली-एनसीआर के अलग-अलग क्षेत्रों में दर्ज वायु गुणवत्ता के आंकड़ों पर एक नजर -

Pollution in Delhi and NCR

Updated on November 16, 12:30 AM: शनिवार से राहत के बाद मंगलवार से फिर बेहद खतरनाक होने वाला है प्रदूषण

दिल्ली में आज सुबह प्रदूषण थोड़ा कम हुआ है। हालाँकि आज की सुबह की ओवरऑल AQI अभी भी 505 दर्ज की गई है, लेकिन लगभग सभी जगह पर अभी भी 'बेहद खतरनाक' वायु स्थितियों को अब 'खतरनाक' श्रेणी में रिकॉर्ड किया जा रहा है। अब आप भी स्काइमेटAQI ऐप  के माध्यम से  दिल्ली सहित आसपास के क्षेत्रों में प्रदूषण के हालात पर बिल्कुल सटीक जानकारी पा सकते हैं।

स्काइमेट का अनुमान है कि, प्रदूषण में यह कमी क्षेत्र में उत्तर की ओर से हल्की हल्की हवाएं चलने की वजह से आई है। शनिवार से सोमवार तक हवा की गति अच्छी रहेगी। इस प्रकार, सोमवार तक इस क्षेत्र में वायु प्रदूषण में काफी कमी आएगी।

राजधानी दिल्ली सहित आसपास के भागों में मंगलवार से फिर हवा बेहद खतरनाक होने वाली है, क्योंकि हवाएं थम जाएंगी।

Updated on November 15, 10:30 AM: दिल्ली में आज लगातार तीसरे दिन प्रदूषण बेहद खराब श्रेणी में, बाल दिवस पर घर में ही कैद रहे बच्चे

राजधानी दिल्ली सहित नोएडा, गुरुग्राम, फ़रीदाबाद और गाजियाबाद में कल यानि 14 नवंबर को बेहद गंभीर वायु गुणवत्ता के बाद अब आज भी लगातार तीसरे दिन भी वायु प्रदूषण का कहर जारी है।

बुधवार को हवा की गुणवत्ता खराब होने के बाद सुप्रीम कोर्ट के आदेश से दिल्ली और एनसीआर में सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया है। इतना ही नहीं प्रदूषण का कहर इतना ज्यादा है कि इस बार बाल दिवस में एक भी बच्चा स्कूल में नहीं गया।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, इस बुरी हवा से शनिवार यानि 16 नवंबर तक कोई राहत नहीं मिलने की उम्मीद है क्योंकि बादल छाए रहेंगे, हवाएँ शांत रहेगी और तापमान कम बना रहेगा।

दिल्ली-एनसीआर के अलग-अलग क्षेत्रों में दर्ज वायु गुणवत्ता के आंकड़ों पर एक नजर -

Delhi Air

Updated on November 14, 11:20 AM: प्रदूषण से दिल्ली-एनसीआर में बिगड़े हालात, उपमुख्यमंत्री ने दिए स्कूल बंद रखने के आदेश

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली और उससे सटे आसपास के क्षेत्र में लगातार गिरती वायु गुणवत्ता को देखते हुए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के सभी स्कूलों को गुरुवार और शुक्रवार यानि 14 तथा 15 नवंबर तक बंद रखने का आदेश दिया है।

बुधवार को, दिल्ली का समग्र AQI 456 दर्ज किया गया था, जो इस मौसम के लिए अब तक का तीसरा उच्चतम आंकड़ा है। उत्तर-पश्चिम दिशा से आने वाली हवाएँ बहुत हल्की ओर होती हैं, जबकि बैक टू बैक पश्चिमी विक्षोभ मध्यम हवाओं के प्रवाह को रोकती है, इस प्रकार वायु प्रदूषकों की गति को रोक देती है। इसके अलावा, 15 नवंबर तक जहरीली हवा की गुणवत्ता से कोई राहत मिलने की संभावना नहीं है।

दिल्ली-एनसीआर के अलग-अलग क्षेत्रों में दर्ज वायु गुणवत्ता के आंकड़ों पर एक नजर -

Pollution in Delhi

Updated on November 13, 01:30 PM: दिल्ली-एनसीआर में 14 व 15 नवंबर को खतरनाक श्रेणी में रहने वाला है वायु प्रदूषण, जल्द राहत के आसार नहीं

दिल्ली में कल यानि मंगलवार, 12 नवंबर से प्रदूषण में एक बार फिर से वृद्धि शुरू हुई। हवा की गुणवत्ता बेहद ख़राब श्रेणी में रिकॉर्ड की गई। प्रदूषण बढ़ने का यह सिलसिला बुधवार, 13 नवंबर को भी जारी रहा। स्काइमेट का आंकलन है कि दिल्ली-एनसीआर में 14 और 15 नवंबर को स्थिति और ख़राब हो सकती है।

प्रदूषण के स्तर में हो रही इस वृद्धि के लिए प्रतिकूल मौसम की स्थिति और आस-पास के राज्यों में पराली जलाए जाने की घटनाएँ ज़िम्मेदार हैं।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली प्रदूषण: फिर खराब हुई दिल्ली-एनसीआर की हवा, प्रदूषण अगले दो दिन बना रहेगा जानलेवा

फिलहाल, प्रदूषण से कोई तत्काल राहत नहीं मिलने वाली क्योंकि मौसम की स्थिति प्रतिकूल बनी हुई है। एक तरफ जहां हवा की रफ़्तार बहुत कम है वहीं आंशिक दिखाई दे रहे हैं और तापमान में गिरावट हो रही। साथ ही उत्तर-पश्चिमी हवाएँ पंजाब और हरियाणा में जलाई जा रही पराली के धुएं को दिल्ली की ओर ला रही हैं।

English Version: Delhi NCR Air Pollution Live Update With Air Quality: Air pollution chokes Delhi again, AQI in hazardous category, no relief soon

दिल्ली-एनसीआर के अलग-अलग क्षेत्रों में दर्ज वायु गुणवत्ता के आंकड़ों पर एक नजर -

Image Credit: Voice of America

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें। 







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×