[Hindi] राजस्थान में टिड्डियों के हमले में सैंकड़ों हेक्टेयर फसल तबाह, पंजाब में भी कुछ इलाके प्रभावित

January 27, 2020 8:16 PM |

राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में टिड्डियों के हमले का मामला सामने आया है। रबी फसलों पर इन टिड्डियों के हमले के चलते किसान परेशान हैं। श्रीगंगानगर में खेतों में गुलाबी रंग के टिड्डियों का प्रकोप देखने को मिल रहा है।

रविवार को हुए टिड्डियों के ताज़ा हमले में कई हेक्टेयर की फसल नष्ट हो गई है। ऐसा माना जा रहा है यह टिड्डी कीट सऊदी अरब की तरफ से भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान से होते हुए भारतीय सीमावर्ती राज्य में पहुंचे हैं। यही वजह है कि पाकिस्तान के सीमावर्ती ज़िले राजस्थान पर सबसे व्यापक असर देखने को मिल रहा है। मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार जैसलमर, बाड़मेर, जोधपुर, चुरू और नागौर सहित राजस्थान एक पश्चिमी जिलों में लगभग 3.5 लाख हेक्टेयर की फसल को इन टिड्डियों ने नष्ट कर दिया है।

राजस्थान में पिछले 8 महीनों से इसी तरह से टिड्डियों का प्रकोप देखने को मिल रहा है। विशेषज्ञों के अनुसार टिड्डी फसलों रस चूस लेते हैं जिससे फसल सूख कर नष्ट हो जाती है। माना जा रहा है कि इनका हमला इतना ज़बरदस्त है कि महज़ आधे घंटे में ही कई सौ हेक्टेयर की फसल को तबाह कर सकते हैं।

English Version: Locust attack in Rajasthan destroys standing crops, some spotted in Punjab as well

टिड्डियों के हमले से खेतों में खड़ी फसल को बचाने के लिए किसान कई उपाय कर रहे हैं। खेतों के पास तेज़ आवाज़ में गाने बजाकर, बर्तन पीटकर और बिना साइलेंसर के ट्रैक्टर चलाकर किसान अपनी तरफ से प्रयास कर रहे हैं लेकिन इससे कोई लाभ होता नज़र नहीं आ रहा है। यही नहीं लकड़ियाँ जलाकर भी भगाने की कोशिश की जा रही है लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ है।

राजस्थान के अलावा पंजाब के भी सीमावर्ती जिलों फाजिल्का, मुक्तसर और भटिंडा में भी टिड्डियों के प्रकोप की खबरें आ रही हैं। हालांकि पंजाब में राज्य कृषि विभाग ने किसानों को आश्वस्त किया है कि सरकार ऐसे उपाय सुनिश्चित करेगी जिससे फसलों को कम से कम नुकसान पहुंचे।

राहत की बात है कि पंजाब में 5 से 20 की संख्या में छोटे-छोटे समूह में टिड्डी दिखाई दे रहे हैं जो बड़ी चिंता का कारण नहीं है। कृषि विशेषज्ञों के अनुसार बड़ी संख्या में जब टिड्डे हमले करते हैं तो फसलों के नुकसान का ज़्यादा डर होता है।

Image credit: Khabar365India

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Weather Forecast

Other Latest Stories




Weather on Twitter
उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश और तटीय कर्नाटक में 28 जनवरी को हल्की बारिश के आसार हैं। 1 और 2 फरवरी को तटीय आंध्र प्रदेश… t.co/qNUvrTXcZb
Monday, January 27 20:15Reply
On January 28 and 29, East #UttarPradesh may get scattered light to moderate rains. Bihar, Jharkhand, West Bengal a… t.co/IVAUepNP2M
Monday, January 27 20:00Reply
Heavy rains may be seen in West #Washington and Vancouver Island in British Columbia, #Canada. As the week progress… t.co/GISisW4zVQ
Monday, January 27 19:45Reply
राजधानी दिल्ली और आसपास के शहरों में भी 27 और 29 जनवरी को कुछ स्थानों पर बारिश होने की संभावना है। इन भागों में 28… t.co/u5p1wDTN9l
Monday, January 27 19:30Reply
Danger of flooding as well as landslides are expected in the Pacific #Northwest this week. Storms and #snow levels… t.co/fg2rAPgEqn
Monday, January 27 19:15Reply
#Marathi: मागील आठवड्यात लागोपाठ पश्चिमी विक्षोभ आल्याने उत्तरेकडील डोंगररांगांवर जास्त हिमवृष्टी झाली.… t.co/kPYUmrU0B8
Monday, January 27 19:00Reply
29 जनवरी, मंगलवार को कोंकण व पूर्वी विदर्भ के बाकी हिस्सों में भी बारिश होने के आसार हैं। 30 जनवरी से फिर से इन भा… t.co/vvXO0Nv8hP
Monday, January 27 18:45Reply
हरियाणा, पंजाब, उत्तरी राजस्थान, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और दिल्ली-एनसीआर सहित उत्तर-पश्चिम भारत में बारिश के साथ कुछ… t.co/HHBy2fpCZG
Monday, January 27 18:30Reply
Scattered rain and thundershowers are likely in Punjab, Haryana and North #Rajasthan, West Uttar Pradesh as well as… t.co/E6yacpswj6
Monday, January 27 18:15Reply
Places like Sarahanpur, #Muzaffarnagar, #Bareilly, Moradabad, Rampur, Shahjahanpur, Lakhimpur, Bahraich, Gonda, Gor… t.co/TpNCYE4ovR
Monday, January 27 18:00Reply

latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try