Skymet weather

[Hindi] दिल्ली-एनसीआर में 25-26 जुलाई को मूसलाधार मॉनसून वर्षा के आसार, कई इलाके हो सकते हैं जलमग्न

July 23, 2019 1:32 PM |

राजधानी दिल्ली में साल 2019 में मॉनसून की पहली भारी बारिश 21 जुलाई को दर्ज की गई। हालांकि इसी दिन एनसीआर के अधिकांश शहरों में मौसम शुष्क बना रहा। लेकिन 21 जुलाई को हुई भारी बारिश के चलते दिल्ली में बारिश में कमी के आंकड़े में सुधार देखने को मिला है और यह 78% से घटकर 64% पर आ गया है। फिलहाल दिल्ली और एनसीआर पर अगले 24 से 36 घंटों के दौरान मौसम काफी गर्म और उमसभरा रहेगा।

मॉनसून की अक्षीय रेखा इस समय दिल्ली के दक्षिण से राजस्थान और उत्तरी मध्य प्रदेश पर से गुज़र रही है। इसके प्रभाव से दिल्ली और एनसीआर में अभी भी पूर्वी आर्द्र हवाओं का प्रवाह बना हुआ है। इसके चलते अगले दो दिन यानि 23 और 24 जुलाई को उमस और गर्मी जारी रहेगी।

हवाओं में अधिक नमी और उच्च तापमान के कारण पिछले दो दिनों के दौरान दिल्ली में बारिश हुई है। आज, 23 जुलाई को भी मौसम की यही स्थिति जारी रहने की संभावना है। स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार थोड़े समय के लिए अचानक बारिश वाले बादल विकसित हो सकते हैं और दोपहर बाद कुछ हिस्सों में बारिश हो सकती है।

Delhi-water-logging NMTV1200

भारी मॉनसून वर्षा जल्द भिगोएगी दिल्ली को

मॉनसून की अक्षीय रेखा धीरे-धीरे दिल्ली के और करीब आएगी। इसके चलते दिल्ली, नोएडा, गुरुग्राम, फ़रीदाबाद और गाज़ियाबाद में 24 जुलाई से बारिश ज़ोर पकड़ सकती है।

अनुमान है कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 25 और 26 जुलाई इस मॉनसून सीज़न की सबसे अच्छी बारिश दर्ज की जाएगी। मूसलाधार मॉनसून वर्षा के चलते राजधानी के कई इलाकों में जल भराव की स्थिति आ सकती है और दिल्ली वालों को जाम की समस्या का सामना भी करना पड़ सकता है।

दिल्ली में अनेक रास्ते ऐसे हैं जहां भारी बारिश के कारण जलभराव की समस्या सबसे अधिक होती है। इसमें रिंग रोड पर धौला कुआं और एम्स, मिंटो रोड, आईटीओ, कश्मीरी गेट आईएसबीटी, रानी झाँसी रोड, क़ुतुब रोड, लाजपत नगर मेट्रो स्टेशन, लोधी कॉलोनी, गोविंदपुरी, जंगपुरा, मथुरा रोड, विकासपुरी और मायापुरी जैसे कई इलाके शामिल हैं। इसके अलावा ज़्यादातर अंडरपास में भी पानी भर जाता है।

भारी बारिश के कारण जल भराव वाले इलाकों की सूची दिल्ली यातायात पुलिस की वेब साइट पर देखें

25 और 26 जुलाई को भारी बारिश के कारण दिल्ली वालों को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि अगर समय रहते सिविक एजेंसियां तत्परता दिखाती हैं तो जल-भराव की समस्या को कुछ कमतर किया जा सकता है। 27 जुलाई से फिर से बारिश में कमी आएगी। हालांकि हवाओं में मौजूद नमी के चलते जुलाई के आखिर तक रुक-रुक कर बारिश होती रहेगी।

Image credit: NMTV

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×