[Hindi] गोरखपुर में भीषण वर्षा; लखनऊ, वाराणसी सहित शेष भागों में सक्रिय रहेगा मॉनसून

July 10, 2017 4:11 PM |

Rain in Uttar Pradesh Gorakhpur_Hindustan Times 600उत्तर प्रदेश में बीते कई दिनों से भारी बारिश हो रही है जिससे बारिश में कमी के आंकड़ों में सुधार हुआ है और किसानों को राहत मिली है। साथ ही मौसम भी खुशनुमा हो गया है। विशेष बारिश उत्तर प्रदेश के पूर्वी जिलों में दर्ज की गई है। वाराणसी, गोरखपुर, बहराइच, लखनऊ और बरेली जैसे जिलों में पिछले कुछ दिनों से मूसलाधार वर्षा देखने को मिल रही है। वर्तमान मौसमी परिदृश्य संकेत करता है कि इन भागों में बारिश की गतिविधियां अगले कुछ दिनों तक इसी प्रकार बनी रह सकती हैं।

रविवार की सुबह 8:30 बजे से सोमवार की सुबह 8:30 बजे के बीच गोरखपुर में 158.7 मिलीमीटर की भारी वर्षा हुई। इसके चलते गोरखपुर देश के वर्षा वाले प्रमुख स्थानों में शुमार रहा। गोरखपुर में यह बारिश बीते 7 वर्षों में किसी एक दिन में रिकॉर्ड की गई सबसे अधिक बारिश है। इससे पहले 2010 में रिकॉर्ड वर्षा हुई थी।

[yuzo_related]

इलाहाबाद में 84.2 मिमी, बहराइच में 48 मिमी, वाराणसी में 27 और लखनऊ में 17 मिलीमीटर बारिश हुई है। पूर्वी और मध्य उत्तर प्रदेश के अन्य हिस्सों में भी कुछ स्थानों पर हल्की बारिश की गतिविधियां देखने को मिली हैं।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार बिहार पर बने चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र के चलते उत्तर प्रदेश के पूर्वी भागों में मॉनसून सक्रिय बना हुआ है। इसके अलावा एक ट्रफ पंजाब से उत्तर प्रदेश और बिहार होते हुए पश्चिम बंगाल के दक्षिण तक बनी हुई है। इस ट्रफ के चलते भी बंगाल की खाड़ी से पर्याप्त आर्द्रता पूर्वी भारत होते हुए उत्तर प्रदेश तक पहुँच रही है और अच्छी वर्षा हो रही है।

अनुमान है कि उत्तर प्रदेश के पूर्वी और मध्य भागों में मॉनसूनी बादल छाए रहेंगे और अच्छी वर्षा दर्ज की जाएगी। अगले 24 से 48 घंटों के दौरान गोरखपुर, बलिया, बहराइच और वाराणसी सहित पूर्वी और तराई जिलों में मूसलाधार वर्षा हो सकती है। बरेली, मुरादाबाद सहित पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी मध्यम से भारी बारिश की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है।

इसके अलावा अन्य जिलों की बात करें तो इलाहाबाद, जौनपुर, प्रतापगढ़, अमेठी, बलरामपुर, फ़ैज़ाबाद, बस्ती, कुशीनगर, लखीमपुर खीरी, मऊ, रायबरेली, श्रावस्ती, सिद्धार्थ नगर, सीतापुर और सुल्तानपुर तथा आसपास के भागों में अगले 24 से 48 घंटों के दौरान कई जगहों पर गरज के साथ हल्की से मध्यम बौछारें गिर सकती हैं।

Image credit: Hindustan Times

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 

 







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories




Weather on Twitter
On February 18, isolated light rain is expected to commence in North #JammuandKashmir. On February 19 and 20, rainf… t.co/l1ax2dn83h
Monday, February 17 16:15Reply
जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में बारिश और हिमपात की संभावना | पहाड़ो की यात्रा के दौरान सावधानी… t.co/nQ0b3HlpEp
Monday, February 17 16:00Reply
#Winter is over for #Gujarat and hot/humid days are in the offing. The temperatures are expected to see a further i… t.co/NPi5fhy5Qo
Monday, February 17 15:45Reply
During the next 24 hours, scattered rain and thundershowers are likely in #Assam, Meghalaya, Nagaland and Arunachal… t.co/eObjbnaNuW
Monday, February 17 15:30Reply
19 से 23 फरवरी के बीच #JammuKashmir, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और #Uttarakhand में कुछ स्थानों पर अच्छी वर्षा होने की… t.co/uyOG6t65uM
Monday, February 17 15:15Reply
सोमवार को देश के मैदानी भागों में सबसे ठंडा स्थान रहा #Haryana का नारनौल शहर। जहां न्यूनतम तापमान 5.9 डिग्री सेल्सि… t.co/hSnABDmT1F
Monday, February 17 15:00Reply
Scattered to patchy rain may occur in #Delhi on the night of February 20. There are chances of some showers on Febr… t.co/e4CQMa7CX7
Monday, February 17 14:30Reply
#Hindi: एक नया पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत की तरफ आ रहा है। यह अभी उत्तरी अफगानिस्तान और इससे सटे पाकिस्तान पर दिखाई… t.co/HavaFdKAGu
Monday, February 17 14:00Reply
पिछले 24 घंटों के दौरान अरुणाचल प्रदेश में एक-दो स्थानों पर हल्की वर्षा और बर्फबारी दर्ज की गई। पश्चिमी… t.co/s0y80ZktNt
Monday, February 17 13:30Reply
#Hindi: पिछले कुछ दिनों के दौरान ठंडी हवाओं का प्रभाव देश के मैदानी भागों में कम हुआ है जिससे सर्दी में कमी आने लगी… t.co/BCRhTVQ0ql
Monday, February 17 13:15Reply

latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try