>  
[Hindi] जानिए 17 नवंबर को कहाँ होगी बारिश और कहाँ रहेगा मौसम सूखा

[Hindi] जानिए 17 नवंबर को कहाँ होगी बारिश और कहाँ रहेगा मौसम सूखा

05:20 PM

Rain in Central India

चक्रवात गज तमिलनाडु और केरल में भारी बारिश देने के बाद अब आगे निकल गया है। यह अब कमजोर होकर डिप्रेशन बन गया है और इस समय अरब सागर में लक्षद्वीप के पास है। इसके चलते लक्षद्वीप में भारी बारिश हो सकती है।

जबकि दक्षिणी प्रायद्वीपीय क्षेत्र में अब गज की आफत खत्म हो गई है। हालांकि केरल में इसके प्रभाव से कम से कम आज तक अच्छी बारिश जारी रहने की संभावना है। तमिलनाडु, इससे सटे आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में भी हल्की बारिश हो सकती है।

इस बीच बंगाल की खाड़ी से चक्रवात गज के जाने के बाद यहाँ एक नया चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र विकसित हो गया है। यह सिस्टम भी तमिलनाडु की तरफ बढ़ेगा। इससे उम्मीद कर सकते हैं कि दक्षिणी राज्यों में आने वाले दिनों में भी उत्तर पूर्वी मॉनसून सक्रिय बना रहेगा।

उत्तर भारत के मौसम की बात करें तो पहाड़ों पर बर्फबारी बंद है लेकिन यहाँ उत्तराखंड, हिमाचल और कश्मीर की वादियाँ बर्फ की सफ़ेद चादर में ढँकी हुई हैं। लेह, पहलगाम, कुपवाड़ा, मनाली में आज भी रात का तापमान शून्य से नीचे रिकॉर्ड किया जाएगा। सबसे बुरे हालात लेह में होंगे जहां पारा शून्य से 8 डिग्री तक नीचे होगा।

अब यहाँ से हवाएँ बर्फ की ठंडक अपने साथ लेकर Plains में पंजाब, हरियाणा, दिल्ली-एनसीआर, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तरी मध्य प्रदेश तक पहुँच रही हैं। इन भागों में तापमान में गिरावट आई है। आज भी पारा नीचे जा सकता है।

इन हवाओं को दिल्ली-एनसीआर के लोग वरदान मान सकते हैं। क्योंकि ठंडी और शुष्क हवाओं ने दिल्ली की फिज़ाओं में घुले प्रदूषण को साफ कर दिया है। कम से कम दो दिन लोग इसी तरह से बेहतर हवा में सांस ले सकते हैं।

इस दौरान अमृतसर, अंबाला, हिसार, भिवानी, दिल्ली-एनसीआर, जयपुर, बुलंदशहर, आगरा, मथुरा, ग्वालियर सहित कई शहरों में आज भी तापमान 2-3 डिग्री और नीचे जाएगा।

इसी तरह कानपुर, प्रयाग, वाराणसी, पटना, बक्सर, औरंगाबाद और रांची सहित पूर्वी भारत में भी रात में सर्दी बढ़ेगी क्योंकि पारा गिरेगा। अरुणाचल, असम और मेघालय में बारिश जारी रहेगी।

Image credit: Nai Dunia

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 

 

We do not rent, share, or exchange our customers name, locations, email addresses with anyone. We keep it in our database in case we need to contact you for confirming the weather at your location.