[Hindi] बिहार: पटना, पूर्णिया, किशनगंज में भारी बारिश और बिजली गिरने के आसार

May 9, 2017 11:57 AM |

Lightning-story_Indiatoday 600बिहार के उत्तर-पूर्वी जिलों, इससे सटे झारखंड, पश्चिम बंगाल और निचले असम में अगले 24 से 48 घंटों के दौरान भीषण बारिश होने की संभावना है। इन भागों में कई इलाके आकाशीय बिजली से भी प्रभावित हो सकते हैं। गौरतलब है कि उत्तर-पूर्वी बिहार के कई इलाकों में प्री-मॉनसून वर्षा के दौरान तेज़ गर्जना और बारिश के साथ बिजली गिरने की घटनाओं में हर वर्ष सैकड़ों लोग अपनी जान गँवाते हैं।

और पढ़ें: लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी में होगी बारिश, गर्मी से राहत की आस

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार इस समय पश्चिमी विक्षोभ हिमालयी भागों से होते हुए तिब्बत के करीब पहुँच गया है। इसके अलावा पंजाब से पूर्वी भारत तक एक ट्रफ रेखा बनी हुई है जिसके चलते इन भागों में मौसम की व्यापक सक्रियता देखने को मिलेगी। हालांकि पूर्वी भारत में पहले से ही बने एक चक्रवाती सिस्टम के प्रभाव से बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के कई इलाकों में पहले से ही प्री-मॉनसून वर्षा हो रही है।

यह गतिविधियों अगले 24 से 48 घंटों के दौरान और प्रबल हो सकती हैं। वर्तमान मौसमी परिदृश्य के अनुसार बिहार के पूर्णिया, किशनगंज, अररिया, सुपौल और आसपास के जिलों, पश्चिम बंगाल के उत्तरी व दक्षिणी दिनाजपुर, जलपाईगुड़ी और मालदा तथा असम के निचले हिस्सों में इस दौरान कई जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश होगी। कुछ स्थानों पर भारी वर्षा होने के भी आसार हैं। इसके अलावा पटना, गया, रांची और कोलकाता के भी कुछ इलाकों में बारिश हो सकती है।

Lightning-09-05-2017

गर्जना और लाइटनिंग से जुड़ी ताज़ा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें:

गर्जना और बारिश के साथ बिजली गिरने की भी कई जगहों पर आशंका है। स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार छोटा नागपुर पठार के इन भौगोलिक हिस्सों में तूफानी हवाएँ भी चल सकती हैं। उत्तर-पूर्वी बिहार और इससे सटे पश्चिम बंगाल के भागों में मौसम विशेष रूप से उथल-पुथल वाला हो सकता है।

प्री-मॉनसून वर्षा के दौरान पूर्वी भारत के छोटा नागपुर पठार में होने वाली इन मौसमी गतिविधियों को काल बैसाखी यानि नॉरवेस्टर कहा जाता है। काल बैसाखी के चलते छोटा नागपुर पठार के बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, ओड़ीशा और छत्तीसगढ़ के कई भागों में मौसम प्रायः चुनौती बन जाता है। पूर्वी बिहार आकाशीय बिजली के लिहाज से ख़तरनाक ज़ोन में गिना जाता है। यहाँ बारिश के साथ बिजली गिरने की आशंका बनी रहती है। विपरीत मौसम को देखते हुए सुझाव है कि खुले में ना निकलें और सुरक्षित स्थानों पर रहें।

Image credit: India Today

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 

 


For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories

Weather on Twitter
Light #rainfall activities are possible over #Bareilly, #Moradabad, and #Shahjahanpur. Isolated localised #weathert.co/kPs3rCmT2a
Monday, September 16 13:04Reply
There are bright chances that #rains would now pick up pace over #UttarPradesh. And the central and eastern distric… t.co/9tgQY5nbdP
Monday, September 16 13:03Reply
Monday, September 16 13:01Reply
During the next 24 hours, #Monsoon is likely to remain Active over East and Central #UttarPradesh. #Monsoon2019 t.co/FtjdyVbHOs
Monday, September 16 12:17Reply
During the next 24 hours, light to moderate #rains with one or two heavy spells is expected over East and Central… t.co/ObJWAmcXwJ
Monday, September 16 11:30Reply
#Assam: Few spells of #rain over Baksa, Barpeta, Biswanath, Bongaigaon, Cachar, Charaideo, Chirang, Darrang, Dhemaj… t.co/eJLYAFCnvm
Monday, September 16 10:40Reply
#MadhyaPradesh (2/2): #Rain over Khargone (West Nimar), Mandsaur, Morena, Narsimhapur, Neemuch, Panna, Raisen, Rajg… t.co/j6TW9TkrZ1
Monday, September 16 10:39Reply
#MadhyaPradesh (1/2): #Rain over Agar Malwa, Alirajpur, Ashoknagar, Barwani, Betul, Bhind, #Bhopal, Chhatarpur, Chh… t.co/t8skwkDt4V
Monday, September 16 10:38Reply
During the last 24 hours, moderate showers were reported over the northern and western parts of the state, wherein… t.co/1s0p5DSMfW
Monday, September 16 09:53Reply
Guna received 41 mm of rain, followed by Gwalior 26 mm and Indore 9 mm #MadhyaPradesh #weather #Monsoon2019 #rain t.co/ioa0i2BJF0
Monday, September 16 09:51Reply

latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try