[Hindi] तूफान फ़ानी: मृतकों की संख्या बढ़कर 16 हुई, हालात का जायज़ा लेने पीएम मोदी जा सकते हैं ओडिशा

1:06 PM

भीषण चक्रवाती तूफान फ़ानी भारत के पूर्वी तटों पर आने वाले तूफानों में वर्ष 1999 के बाद का सबसे ख़तरनाक चक्रवाती तूफान था। इसकी क्षमता को देखते हुए सरकार की सभी एजेंसियां मुस्तैद थीं और प्रभावित होने वाली जगहों से लगभग 12 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया था जिसके चलते इस बार जान और माल के बड़े नुकसान को टाला जा सका। इसके बावजूद तूफान फ़ानी के कारण हुई दुर्घटनाओं में 16 लोग मारे गए हैं।

सबसे ज़्यादा प्रभावित तटीय और उत्तरी ओड़ीशा के ज़िले हुए थे जिनमें मयूरभंज ज़िले में 4 लोग मारे गए। जबकि पुरी, भुवनेश्वर, जाजपुर में 3-3 और क्योंझारगढ़, नयागढ़ और केंद्रपाड़ा में 1-1 लोगों की मौत की खबर है। यही वो ज़िले भी हैं जहां तूफान फ़ानी ने भीषण तबाही मचाई है। जगह-जगह घर गिरे हुए हैं, कच्चे मकान और झोपड़े भी तबाह हो गए हैं। रेलवे स्टेशनों समेत कई स्थानों पर टीन शेड गायब है केवल ढाँचा बचा हुआ है।

मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार सरकार ने स्थिति को दुरुस्त करने के लिए व्यापक अभियान चलाने की तैयारी की है। तूफान के कारण ओड़ीशा में 10,000 गावों और 52 कस्बों में सबसे अधिक नुकसान का आंकलन है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं तूफान के बाद की स्थिति का जायज़ा लेने के लिए ओड़ीशा जा सकते हैं। प्रधानमंत्री ने ओड़ीशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से बात कर जन-जीवन को सामान्य करने में राज्य सरकार को हर संभव मदद मुहैया कराने का आश्वासन दिया है।

फ़ानी ने अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान की क्षमता में 3 मई को ओड़ीशा में पुरी के रास्ते दस्तक दी थी। जब तूफान ओड़ीशा पहुंचा था उस वक़्त 190 से 220 किलोमीटर प्रतिघण्टे की रफ्तार से हवा चल रही थी। ओड़ीशा से आए विडियो और तस्वीरों में देखकर ऐसा लग रहा था जैसे यह हवा सब कुछ उड़ा ले जाना चाह रही हो। 1999 के बाद फ़ानी चक्रवात सबसे ख़तरनाक बताया जा रहा है। इसके लैंडफाल के दौरान ओड़ीशा के तटीय भागों के साथ-साथ पश्चिम बंगाल के भी कुछ भागों में नुकसान पहुंचा था।

लेकिन अब चक्रवाती तूफान बेहद कमजोर हो गया है और निम्न दबाव के क्षेत्र के रूप में पूर्वोत्तर भारत के राज्यों पर है। ओड़ीशा में मौसम साफ होने से राहत, बचाव और पुनर्निर्माण कार्यों को तेज़ी से पूरा करने में मदद मिल रही है।

इतने भीषण तूफान के बावजूद जान और माल के नुकसान को व्यापक रूप में कम किए जाने की दुनिया भर में प्रशंसा हो रही है। संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी भारत की तारीफ की है।

यह भी पढ़ें: तूफ़ान फ़ानी का ताज़ा अपडेट, जानिए देश के किन भागों को करेगा प्रभावित

Image Credit:

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 

 

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Weather Forecast

Other Latest Stories

Weather on Twitter
#CycloneFani live Update: After Cyclone disrupts life in #Odisha, dry weather ahead for the state… t.co/IWBXZtduGT
Sunday, May 05 13:00Reply
बीते 24 घंटों के दौरान महाराष्ट्र के ब्रह्मपुरी में दिन का तापमान 45.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। t.co/mkLTa92JyE
Sunday, May 05 12:30Reply
#Fani is very likely to track northeastwards and move completely over #Bangladesh but as weakened #depression durin… t.co/qlIlTEUon2
Sunday, May 05 11:45Reply
Due to incursion of southwesterly and southerly winds, which are warm and moist laden from Bay of Bengal, on and of… t.co/MWduGNF0hL
Sunday, May 05 11:00Reply
#Heat wave conditions will continue over #Bapatla, Chittoor, East Godavari, Guntur, Kakinada, Krishna, Machilipatn… t.co/Sp7lJ5nJFq
Sunday, May 05 10:19Reply
#Bramhapuri in #Maharashtra is the #hottest city in India with a maximum temperature of 45.5° C. t.co/i8yH6OgGDK
Sunday, May 05 08:59Reply
बिहार का साप्ताहिक मौसम पूर्वानुमान (4 से 10 मई) | Skymet Weather t.co/ZlYuAe7nuR #weather #WeatherUpdatet.co/qYwW8qfZlt
Saturday, May 04 20:05Reply
Weather Forecast May 5: Cyclone Fani weakens into a trough, heat wave conditions in MP, Vidarbha… t.co/2CBNXE72xC
Saturday, May 04 19:43Reply
Saturday, May 04 18:16Reply
Since 8.30 am this morning, #Cherrapunji has recorded 196 mm of rains in wake of #CycloneFani. #Shillong, #Guwahatit.co/UbjuR3tAWR
Saturday, May 04 18:08Reply

latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try