>  
[Hindi] चक्रवाती तूफान गज के चलते तमिलनाडु में भीषण बारिश जारी रहने की संभावना

[Hindi] चक्रवाती तूफान गज के चलते तमिलनाडु में भीषण बारिश जारी रहने की संभावना

04:00 PM

Updated on November 16, 2018 at 01:00 PM चक्रवाती तूफान गज के चलते तमिलनाडु में भीषण बारिश जारी रहने की संभावना

भीषण चक्रवाती तूफान गजनेबीती रात्रि में 2:00 बजे तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों से भारत के मुख्य भू-भाग में प्रवेश किया। तूफान गज का लैंडफॉल नागापट्टिनम और वेदारण्यम के आसपास हुआ। तूफान के लैंडफॉल के समय हवा की 100 से 120 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चल रही थी।

स्काईमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार चक्रवात गज शुक्रवार की दोपहर में तमिलनाडु के आंतरिक हिस्सों पर यह पहुँच गया और अनुमान इसके पश्चिमी दिशा में जाने का है। माना जा रहा है कि आज शाम तक यह कमजोर होकर डिप्रेशन बन जाएगा इसके चलते तमिलनाडु और केरल के अधिकांश भागों में अच्छी वर्षा अगले 24 से 48 घंटों तक जारी रहेगी।

CYCLONE GAJA ART

चक्रवाती तूफान पश्चिमी दिशा में आगे बढ़ते हुए केरल को पार करेगा और भारत के भू-भाग से अरब सागर में पहुंच जाएगा। हालांकि तब तक यह कमजोर हो जाएगा और शनिवार को यह निम्न दबाव का क्षेत्र बन जाएगा। उसके बाद यह सिस्टम पश्चिमी दिशा में आगे बढ़ता रहेगा और फिर से समुद्री क्षेत्र में आने के चलते यह इसे फिर से सशक्त होने के लिए ऊर्जा मिलने लगेगी जिससे इसके पुनः एक प्रभावी मौसमी सिस्टम में तब्दील होने की आशंका है। हालांकि उस दौरान यह पश्चिमी दिशा में जाएगा जिससे भारत के तटों के प्रभावित होने का खतरा नहीं रहेगा।

इस बीच तमिलनाडु के दक्षिणी भागों और केरल में व्यापक रूप में तूफानी हवाएं चलने और मूसलाधार वर्षा आज तक जारी रहने की संभावना है। लेकिन तूफान के आगे बढ़ने और धीरे-धीरे कमज़ोर होने के चलते गतिविधियां कम होती जाएंगी जिससे सामान्य जनजीवन फिर से पटरी पर लौट सकता है।

Published on November 15, 2018 at 06:00 PM चक्रवात 'गज' रामनाथपुरम, पंबन, नागापट्टिनम में देगा मूसलाधार वर्षा

चक्रवाती तूफान गज बंगाल की खाड़ी में लगातार दक्षिण-पश्चिमी दिशा में आगे बढ़ते हुए तमिलनाडु के काफी करीब पहुँच गया है। बृहस्पतिवार की शाम को लगभग 8 बजे नागपट्टिनम से लगभग 150 किलोमीटर पूर्व में था। आज रात यह तमिलनाडु में लैंडफॉल कर सकता है। इसके चलते कुछ भागों में कमज़ोर पेड़ और बिजली खंभे उखड़ने तथा कच्चे मकानों के क्षतिग्रस्त होने की आशंका है।

चक्रवात गज लैंडफॉल करने के बाद भी दक्षिण-पश्चिमी दिशा में बढ़ता रहेगा और कमजोर हो जाएगा। अनुमान है कि 16 नवंबर को तूफान गज कमजोर होकर डीप डिप्रेशन बन जाएगा है और केरल पर पहुँच जाएगा। इसके प्रभाव से दक्षिणी तटीय तमिलनाडु में बारिश बढ़ गई है। तेज़ हवाएँ भी शुरू हो गई हैं। तटों से टकराने के बाद आज रात में तमिलनाडु में भारी बारिश होने की संभावना है।

कल से बारिश में धीरे-धीरे कमी आ जाएगी। लेकिन इसका दायरा बढ़ेगा। कल यानि 16 नवंबर को समूचे तमिलनाडु में बारिश की उम्मीद है। स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार दक्षिणी तमिलनाडु में कन्याकुमारी, शिवगंगा, कोयंबटूर, रामनाथपुरम, पंबन, नागापट्टिनम और आसपास के दक्षिणी भागों में अच्छी बारिश कल भी जारी रहने की उम्मीद है। दूसरी ओर चेन्नई, तिरुवन्नामलाई, वेल्लोर औरकाँचीपुरम जैसे उत्तरी शहरों में हल्की से मध्यम बारिश देखने को मिलेगी।

तमिलनाडु से दूर और केरल के नज़दीक होने के कारण चक्रवाती तूफान गज का केरल पर कल ज़्यादा प्रभाव देखने को मिलेगा। अनुमान है कि त्रिवेन्द्रम से कोलम, कोट्टायम, इडुक्की औरएर्णाकुलम सहित दक्षिणी केरल के शहरों में तेज़ हवाओं के साथ भारी बारिश देखने को मिलेगी। जबकि पलक्कड़, मलप्पुरम, वायनाड़, कन्नूर सहित उत्तरी केरल में कुछ स्थानों पर वर्षा होने की संभावना है।

तूफान के बंगाल की खाड़ी के दक्षिण में जाने से आंध्र प्रदेश में बारिश की गतिविधियां कम हो गई हैं। हालांकि अगले 24 से 48 घंटों के दौरान विशाखापत्तनम सहित आंध्र प्रदेश के कुछ शहरों में हल्की वर्षा देखने को मिल सकती है। तेलंगाना और उत्तरी कर्नाटक में मौसम शुष्क रहेगा जबकि बंगलुरु सहित दक्षिणी और तटीय कर्नाटक के कुछ इलाकों में तूफान गज के चलते हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं।

Image credit: CIMSS

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।