Skymet weather

[Hindi] मॉनसून 2019: अगस्त में बारिश ने तोड़े कई रिकॉर्ड, पिछले एक दशक में हुई सबसे अधिक वर्षा

August 25, 2019 2:43 PM |

मॉनसून की शुरुआत जिस सुस्ती के साथ हुई थी उसके मुकाबले अगस्त में इसका प्रदर्शन काफी बेहतर रहा है। अगस्त के 3 सप्ताह बीत चुके हैं। इस साल के मॉनसून सीजन में अगस्त में अब तक कई दिन ऐसे रहे जब भारी वर्षा रिकॉर्ड की गई। बीते 10 वर्षों के आंकड़े देखें तो इस साल जैसा मॉनसून का प्रदर्शन अगस्त में दिखा वह एक रिकॉर्ड है।

पिछले 10 सालों में अगस्त में मॉनसून का प्रदर्शन: 

Rainiest Aug

इन आंकड़ों के अनुसार इससे पहले अगस्त महीने में मॉनसून का अच्छा प्रदर्शन देखने को मिला था वर्ष 2012 में जब सामान्य से 2% अधिक बारिश दर्ज की गई थी। 2012 के बाद यानी 2013 से लेकर 2018 तक मॉनसून अगस्त में काफी कमजोर रहा था, जो ऊपर दिए गए आंकड़ों से स्पष्ट है।

इस साल अगस्त में अच्छी बारिश का मतलब यह है कि बीते 5 वर्षों के बाद साल 2019 में मॉनसून का अगस्त में अच्छा प्रदर्शन रहने वाला है।

इस साल अगस्त के शुरुआती 20 दिनों में भारत में कुल 230 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई थी जो इस दौरान होने वाली सामान्य वर्षा से 31% अधिक है। स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों का अनुमान है कि अगस्त महीने का आखिरी सप्ताह भी सामान्य मॉनसून वर्षा का गवाह बनेगा और इस तरह अगस्त की समाप्ति 15% अधिक वर्षा के साथ होगी। अगर ऐसा होता है तो पिछले एक दशक का रिकॉर्ड टूटेगा।

Read in English: AUGUST BREAKS RAIN RECORDS, WETTEST IN THE LAST TEN YEARS

आमतौर पर भारत में मॉनसून सीजन में जुलाई और अगस्त ऐसे महीने हैं जब समूचे भारत में सबसे अधिक वर्षा रिकॉर्ड की जाती है। इस तरह अगर जुलाई या अगस्त में बारिश कम हो यानी मॉनसून का प्रदर्शन इन दोनों महीनों में कमजोर रहे तो इसमें कोई संदेह नहीं है कि मॉनसून की समाप्ति सामान्य से कम वर्षा के साथ हो।

मॉनसून सीजन में दीर्घावधि औसत 887 मिलीमीटर वर्षा के मुकाबले सबसे अधिक 33% बारिश जुलाई में होती है। जबकि अगस्त में 30% बारिश होती है। दोनों महीनों में होने वाली बारिश को एक साथ अगर मिला लें तो 4 महीनों के मॉनसून सीजन की दो-तिहाई वर्षा इन्हीं 2 महीनों में होती है।

अगस्त की शुरुआत हालांकि 7% कम वर्षा के साथ हुई थी। यही नहीं 12 अगस्त को दैनिक वर्षा में कमी 55% की थी। लेकिन 1 से 22 अगस्त के बीच लगभग सभी दिन ऐसे रहे जब सामान्य से अधिक वर्षा रिकॉर्ड की गई। सिर्फ 1 अगस्त और 12 अगस्त को छोड़कर। यही दो दिन मात्र ऐसे रहे जब दैनिक वर्षा से कम बारिश हुई।

देशभर में बारिश के आंकड़ों को बदलने में अगस्त में हुई बारिश का बड़ा योगदान रहा है। 1 अगस्त से 10 अगस्त के बीच सामान्य से 49% अधिक बारिश हुई थी। जबकि इससे पहले जुलाई के आखिर में देश 9% बारिश से पिछड़ रहा था। बारिश 10 अगस्त आते-आते सामान्य के स्तर पर आ गई। यही नहीं 16 अगस्त को बारिश के आंकड़ों में और सुधार देखने को मिला और देशभर में दीर्घावधि औसत वर्षा के मुकाबले बारिश सामान्य से 2% ऊपर पहुँच गई।

स्काईमेट का मानना है कि अगस्त के बाकी बचे दिनों में ज्यादातर दिन ऐसे होंगे जब सामान्य से कम वर्षा होगी सिर्फ एक या 2 दिन छोड़कर। इसके बावजूद हमारा अनुमान है कि अगस्त महीने की समाप्ति सामान्य से 15 फ़ीसदी अधिक वर्षा के साथ होगी, जो पिछले 10 वर्षों में सबसे अधिक बारिश का रिकॉर्ड होगा।

Image credit: YouTube

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 

 







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×