[Hindi] ग्रीन हाऊस गैस उत्सर्जन में कमी, जलवायु परिवर्तन से निपटने का उपाय

March 18, 2019 2:48 PM |

Climate Change and Global Warming--theworshipinitiative 600भारत सहित दुनिया भर के देशों में जलवायु परिवर्तन का असर मौसम के चक्र पर पड़ रहा है। सबसे बड़ी चिंता का विषय है ग्लोबल वार्मिंग, जो ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में वृद्धि के कारण खतरनाक स्तर पर पहुंचता जा रहा है। एक शोध के मुताबिक ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में कमी लाने से हम जलवायु परिवर्तन के कारण होने वाली प्रचंड मौसमी आपदाओं को कम किया जा सकता है।

वैज्ञानिकों और विश्व के बड़े विश्वविद्यालयों के शोधकर्ताओं के एक समूह ने जलवायु परिवर्तन के कारण बारिश पर पड़ने वाले प्रभावों का पता लगाने के लिए दुनिया भर के 20 क्लाइमेट मॉडल्स का अध्ययन किया है। उसके बाद शोधकर्ताओं ने यह अनुमान लगाने के लिए कि कैसे कोई क्षेत्र विशेष प्रभावित होता है, ग्रीन हाऊस गैस के कम उत्सर्जन परिदृश्य के साथ मॉडल्स को जोड़कर देखा।

Read this in English: Climate change: Reducing emissions could alleviate worst effects

अध्ययन के निष्कर्ष में पाया गया कि गेहूं, मक्का, चावल और सोयाबीन की उपज वाले क्षेत्रों के 14% हिस्से में बारिश में कमी आ सकती है जबकि 31% हिस्से में बारिश में बढ़ोत्तरी दर्ज हो सकती है। शोध के अनुसार कम ग्रीन हाऊस गैस उत्सर्जन के परिदृश्य में विश्व के 2 सबसे बड़े चावल उत्पादक देश चीन और भारत में अध्ययन में शामिल सभी चारों फसलों के समय बारिश की मात्रा में वृद्धि हो सकती है।

निष्कर्ष यह है कि ग्रीन हाऊस गैसों के उत्सर्जन में कमी करके चीन में प्रभावित क्षेत्र को 11% से कमकर 6% पर और भारत में 80% प्रतिशत से 17% पर लाया जा सकता है।

अध्ययन में पता चला है कि ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में व्यापक कमी अगर नहीं की गई तो उत्तरी अमरीका और यूरोप जैसे भूमध्य रेखा के ऊपरी भागों में 2020 के शुरुआत में वर्षा में भारी बढ़ोत्तरी देखने को मिल सकती है। कुछ इलाकों में पहले से ही बदलाव दिखाई देने लगा है।

दुनिया भर में खाद्यान्न खपत में गेहूं, मक्का, चावल और सोयाबीन का योगदान 40%  है। शोध के मुताबिक यदि ग्रीन हॉउस गैसों को सीमित कर दिया जाये तो वर्षा के क्रम को सीमित किया जा सकता है और अत्यधिक बारिश सूखे से वैश्विक स्तर और होने वाले खाद्य संकट को टाला जा सकता है।

Image credit: theworshipinitiative

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 





For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories



Weather on Twitter
Delhi and NCR are observing #AirEmergency. Track #AirQuality and #AirPollution of your location, download… t.co/OWc2otPg2J
Thursday, November 14 11:55Reply
Light to moderate #rain will continue in #TamilNadu, South Coastal #AndhraPradesh and parts of #Kerala. Isolated ra… t.co/gTEV6gtzrq
Thursday, November 14 11:55Reply
Scattered light rain and snow may occur over the upper reaches of #Uttarakhand. Isolated light #rain is likely in… t.co/lU5NKjGmbP
Thursday, November 14 11:52Reply
The #rainfall activities will increase in #JammuandKashmir as well as #HimachalPradesh. There may be moderate to he… t.co/MgTlGyLnhQ
Thursday, November 14 11:49Reply
We further expect #Barmer, #Jaisalmer, #Jodhpur and #Bikaner as well as parts of Jalore to receive good rains and t… t.co/Hl2AHkpzUg
Thursday, November 14 11:05Reply
#Weather of #Rajasthan will start clearing up from November 16. The day temperatures which have dropped will rise o… t.co/m7fjQEIoY0
Thursday, November 14 11:00Reply
#Rajasthan: #Barmer has received 58 mm of rain during the last 24 hours, which is the highest rain recorded in the… t.co/1Gh1QSPSSW
Thursday, November 14 10:53Reply
Historically, the lowest minimum temperature recorded in #Delhi for the month of November is 3.9 degrees Celsius in… t.co/Vbd1dGbZf8
Thursday, November 14 10:09Reply
It seems like #Winters have started setting in for #Delhi and NCR with Tuesday being the coldest day of the season… t.co/D4vMW0YpO1
Thursday, November 14 10:08Reply
RT @SkymetAQI: With PM 2.5 over 600, Faridabad NIT has HAZARDOUS air quality. Track #AirQuality and #AirPollution of your location, downloa…
Thursday, November 14 09:44Reply


latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try