[Hindi] उत्तर प्रदेश में मॉनसून: अब एक सप्ताह तक जारी रहेगी बारिश, राज्य में होगा सुहावना मौसम

July 24, 2019 4:11 PM |

Hot and dry weather in Uttar Pradesh--The Indian Express 1200

उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में रुक-रुक कर बारिश हो रही है तो कुछ भागों में सूखे मौसम के कारण संकट बढ़ता जा रहा है। मॉनसून के आगमन के बाद राज्य के उत्तर-पूर्वी भागों में अच्छी बारिश हुई है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के भी तराई वाले भागों में मॉनसून का प्रदर्शन संतोषजनक रहा है।

एक ओर राज्य के उत्तरी भागों में बारिश हो रही थी तो दक्षिणी इलाकों में बारिश में कमी के कारण लोग परेशान हैं।राज्य के दक्षिणी भागों में कानपुर, बांदा, हमीरपुर, झाँसी, जालौन, महोबा, फ़तेहपुर, औरैया, आगरा, फ़िरोज़ाबाद, मैनपुरी ऐसे इलाके हैं जहां अब तक सामान्य से काफी कम बारिश हुई है।

वाराणसी से कानपुर और आगरा तक बारिश का होगा मौसम

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार मॉनसून की अक्षीय रेखा अब उत्तर प्रदेश के ऊपर पहुँच गई है। इसके चलते अरब सागर और बंगाल की खाड़ी से राज्य पर हवाओं के साथ भरपूर आर्द्रता पहुँच रही है। यह स्थिति उत्तर प्रदेश पर अगले एक सप्ताह तक बने रहने की संभावना है।

अगले 48 घंटों के दौरान वाराणसी, प्रयागराज, मिर्ज़ापुर, भदोही, जौनपुर, गाजीपुर, प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, फ़ैज़ाबाद, बाराबंकी, रायबरेली, कानपुर, लखनऊ, गोरखपुर, देवरिया, बलिया, गोंडा, बस्ती, बहराइच सहित उत्तर प्रदेश के पूर्वी और मध्य भागों में अच्छी बारिश होने की संभावना है। उसके बाद बारिश में कुछ कमी आ जाएगी। लेकिन जुलाई के आखिर तक इन सभी भागों पर बादलों का डेरा रहेगा और रुक-रुक कर कहीं-कहीं हल्की से कहीं मध्यम बौछारें बनी रह सकती हैं।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आगरा, अलीगढ़, मुजफ्फरनगर, मेरठ, सहारनपुर, बदायूं, बरेली, पीलीभीत, बिजनौर सहित आसपास के लगभग सभी भागों में अगले 24 घंटों के बाद अच्छी बारिश होने के आसार हैं। उम्मीद है कि 25 और 26 जुलाई को उत्तराखंड से सटे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलों में भीषण बारिश दर्ज की जाएगी।

यह भी पढ़ें: दिल्ली में अब महा-मॉनसून, 25 और 26 जुलाई को मूसलाधार बारिश के आसार

मौसम की वर्तमान स्थिति को देखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि समूचे उत्तर प्रदेश पर मॉनसून अब कम से कम एक हफ्ते तक मेहरबान रहेगा। यही कारण है कि जिन क्षेत्रों में अब तक बारिश कम हुई है वहाँ भी बारिश दर्ज की जाएगी। इससे उम्मीद कर सकते हैं कि खेती को फायदा होगा।

अब तक के बारिश के आंकड़ों पर नज़र डालें तो पूर्वी उत्तर प्रदेश सामान्य से 1 प्रतिशत ऊपर पहुँच गया है। जहां 1 जून से 23 जुलाई के बीच औसत 317.2 मिमी बारिश की तुलना में 320 मिमी बारिश रिकॉर्ड की जा चुकी है। दूसरी ओर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में सामान्य से 25% कम बारिश हुई है। यहाँ 250.3 मिमी के मुक़ाबले 188.3 मिमी बारिश हुई है।

Image credit: The Indian Express

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories





latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×