Skymet weather

[Hindi] तूफान बुलबुल से पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार को कोई खतरा नहीं, लेकिन झारखंड में तूफानी हवाओं के साथ होगी बारिश

November 9, 2019 1:29 PM |

बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती तूफान अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है और ओडिशा के उत्तरी तटीय भागों के काफी करीब पहुंचने के बाद अपना रास्ता बदलकर उत्तर-पूर्वी दिशा की तरफ बढ़ रहा है। चक्रवाती तूफान ‘बुलबुल’ ओडिशा और पश्चिम बंगाल के अलावा पूर्वी भारत के अन्य राज्यों पर भी अपना असर दिखाएगा। झारखंड में बादल बढ़ गए हैं और कुछ स्थानों पर बारिश होने के लिए स्थितियां अनुकूल बनी हैं। बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश में भी कुछ बादल दिखेंगे, हवाएँ चलेंगी और वातावरण में धुंध बढ़ जाएगी लेकिन बारिश नहीं होगी।

इसे भी पढ़ें: 

[Hindi] ओड़ीशा के तटों पर बुलबुल कहर, पुरी, बालासोर सहित कई जिलों में अगले 24 घंटों तक होगी भीषण बारिश 

[Hindi] अत्यंत भीषण हो गया है तूफान ‘बुलबुल’, ओडिशा के करीब पहुँचकर मुड़ जाएगा पश्चिम बंगाल की ओर

9 नवंबर की सुबह 11:30 बजे इस तूफान ने अपना रुख बदला था और उत्तर पश्चिमी दिशा की बजाय उत्तर पूर्वी दिशा की तरफ आगे बढ़ने लगा था। पहले अनुमान लगाया गया था कि चक्रवात ओडिशा और इससे सटे पश्चिम बंगाल पर लैंडफॉल करेगा लेकिन अब यह तूफान पश्चिम बंगाल तथा बांग्लादेश की तरफ मुड़ चुका है। यह सुंदरबन डेल्टा से होते हुए पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप और बांग्लादेश के खेतूपुरा के बीच से लैंडफॉल कर सकता है।

English Version: Bihar and Jharkhand to also bear brunt of approaching Cyclone Bulbul

जब तूफान लैंडफॉल करेगा उस समय पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटीय भागों पर हवा की रफ्तार 100 से 120 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है। बिहार और झारखंड में भी हवा तेज़ हो जाएगी। अगले 24 घंटों के दौरान दक्षिणी बिहार और दक्षिण पूर्वी झारखंड में कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा होने की संभावना है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार जमशेदपुर, रांची, धनबाद, देवगढ़, दुमका, झारखंड के दक्षिण पूर्वी इलाकों में अगले 36 घंटों के दौरान 20 से 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है। हवाओं की रफ्तार कुछ समय के लिए 40 किलोमीटर प्रति घंटे तक जा सकती है। बिहार के भागलपुर, नवादा, जमुई सहित दक्षिणी और पूर्वी हिस्सों में भी कुछ स्थानों पर 20 किलोमीटर की गति से हवाएँ चल सकती हैं।

बादलों की ताज़ा स्थिति देखने के लिए मैप पर क्लिक करें: 

हालांकि बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश में यह तूफान बारिश नहीं देगा। लेकिन बादल छाए रहने और वातावरण में धुंध का प्रभाव होने की संभावना है। कल दोपहर बाद जब तूफान बंगाल और बांग्लादेश के भीतर पहुंच जाएगा उसके बाद से पूर्वी भारत के राज्यों में मौसम साफ होना शुरू करेगा। तूफान का प्रभाव कम होने के बाद बिहार और झारखंड में उत्तर पश्चिमी दिशा से ठंडी हवाएं आएंगी जिसके कारण इन राज्यों के ठंडक बढ़ जाएगी।

Image credit: The Indian Express

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×