Skymet weather

[Hindi] उत्तरी बिहार में फिर होगी भारी बारिश, पटना और गया सहित राज्य के बाकी हिस्सों में भी वर्षा के आसार

July 22, 2019 8:14 PM |

बिहार में इस बार मॉनसून का एक अलग ही रूप देखने को मिल रहा है। एक तरफ राज्य का दक्षिणी इलाका जहां बारिश के लिए तरस रहा है वहीं थोड़े-थोड़े अंतराल पर होने वाली मूसलधार बारिश के कारण उत्तरी जिलों में बाढ़ का तांडव देखने को मिला है।

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार बिहार में फिर से अच्छी बारिश के लिए मॉनसून सक्रिय हो गया है। बिहार पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना है जो अगले कुछ दिनों तक समूचे राज्य में मौसम बदल देगा। अनुमान है कि अगले 3 दिनों के दौरान पटना, गया, भागलपुर सहित बिहार के अधिकांश हिस्सों में बारिश दर्ज की जाएगी। लेकिन बारिश का अधिक ज़ोर मधुबनी, सुपौल, सीतामढ़ी, पूर्णिया, किशनगंज सहित उत्तरी भागों में होगा।

लेकिन राहत की बात है कि आने वाले दिनों में बिहार में जो बारिश संभावित है, वह इतनी अधिक नहीं होगी कि पिछले दिनों की बाढ़ की पुनरावृति हो। लेकिन राहत और पुनर्वास कार्यों में इस बारिश से दिक्कत आ सकती है।

Read this article in English: HEAVY MONSOON RAIN FORECAST FOR MADHUBANI, SUPAUL, PURNEA, KISHANGANJ IN THE NEXT 3 DAYS

बात पिछले दिनों की करें तो जून में बिहार में बारिश सामान्य से 51% कम रही थी। जुलाई में स्थिति सुधरी और 7 जुलाई से राज्य के उत्तरी जिलों में अच्छी बारिश रिकॉर्ड की गई। बिहार के लिए 12 जुलाई का दिन मॉनसून 2019 में अब तक का सबसे अधिक बारिश वाला दिन रहा जहां पूरे राज्य में औसत बारिश रही 59.3 मिलीमीटर। इसी दौरान बिहार के उत्तरी भागों में कई जिलों में 24 घंटों की अवधि में 200 मिमी वर्षा दर्ज की गई।

बिहार के उत्तरी भागों में 7 जुलाई से 15 जुलाई के बीच तकरीबन एक सप्ताह तक चली अच्छी बारिश के कारण राज्य में बारिश के आंकड़ों में सुधार देखने को मिला। अब राज्य में महज 1% की कमी रह गई है। लेकिन यह आंकड़े उत्तरी बिहार में बारिश की दें और एक जहां राज्य के उत्तरी जिलों में बाढ़ का संकट झेलना पड़ रहा था तो दूसरी ओर दक्षिणी बिहार में सूखे और गर्मी के कारण लोगों का जन-जीवन, कृषि, जानवर सब प्रभावित हो रहे थे।

फिलहाल अगले कुछ दिनों के दौरान संभावित बारिश से राज्य के दक्षिणी भागों में भी लोगों को गर्मी और सूखे के संकट से कुछ राहत मिलेगी।

Image credit: Odishsamay

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।







For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories






latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try

×