[Hindi] वैष्णो देवी में 30 मार्च को बारिश के आसार, उसके बाद एक सप्ताह तक भक्तों के लिए अच्छा रहेगा मौसम

March 28, 2019 5:35 PM |

Vaishno-Devi-Attka-Aarti-GoTirupati  600

Updated on March 28, 2019: वैष्णो देवी में 30 मार्च को बारिश के आसार, उसके बाद एक सप्ताह तक भक्तों के लिए अच्छा रहेगा मौसम

कटरा सहित वैष्णो देवी में लंबे समय से मौसम सूखा बना हुआ है, जिसके कारण बड़ी संख्या में श्रद्धालु शक्तिपीठ वैष्णो देवी के दर्शन करने बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं। आने वाले एक सप्ताह तक यहां मौसम परेशान करने वाला नहीं है।हालांकि इस समय एक पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर के करीब आ रहा है जो अगले दो दोनों तक कश्मीर के पास सक्रिय रहेगा। इसके चलते वैष्णो देवी में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश 30 मार्च को देखने को मिल सकती है। कटरा में भी बारिश की संभावना है।

हालांकि बारिश की तीव्रता बहुत कम होगी जिससे तीर्थ यात्रियों को कोई मुश्किल नहीं आएगी। तापमान की अगर बात करें तो इस समय कटरा में अधिकतम तापमान 26-27 डिग्री सेल्सियस के बीच और न्यूनतम तापमान 14 से 15 डिग्री सेल्सियस के बीच रिकॉर्ड किया जा रहा है।अगले एक सप्ताह तक तापमान में बहुत अंतर देखने को नहीं मिलेगा।न्यूनतम तापमान 15 डिग्री के करीब और अधिकतम तापमान 26 डिग्री के आसपास बना रहेगा।

जहां तक भवन पर तापमान की बात है तो भवन पर अधिकतम तापमान 16 से 17 डिग्री और न्यूनतम तापमान 8 से 9 डिग्री के आसपास रहेगा।इसका मतलब है कि कटरा तक आपको सर्दी परेशान नहीं करेगी लेकिन जब भवन पर चढ़ाई करने और देवी के दर्शन के बाद आपको दिन में भी मौसम ठंडा लगसकता है।रात और सुबह के समय अगर आप भवन पर हैं तो काफी अच्छी सर्दी का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए थोड़ी तैयारी के साथ जाना बेहतर रहेगा।

Updated on March 17, 2019: वैष्णो देवी की यात्रा के लिए 18 से 25 मार्च के बीच अनुकूल होगा मौसम

बीते दो-तीन दिनों से उत्तर भारत के पर्वतीय राज्यों में बारिश और बर्फबारी बंद है।वैष्णो देवी में भी मौसम सूखा और सुहावना बना हुआ है।स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार अगले दो-तीन दिनों के दौरान वैष्णो देवी और कटरा सहित आसपास के भागों में मौसम इसी तरह का बना रहेगा। कटरा में न्यूनतम तापमान 12 से 13 डिग्री और अधिकतम तापमान 22 से 23 डिग्री के बीच रहेगा। जबकि भवन पर न्यूनतम तापमान 8 से 10 डिग्री के और दिन में 16 से 18 डिग्री के बीच रिकॉर्ड किया जा सकता है।

इस बीच 19 मार्च को एक नया पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर के पास आता दिखाई दे रहा है। जम्मू कश्मीर में बारिश होगी। वैष्णो देवी में भी बादल दिखाई देंगे और कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा की संभावना को नकारा नहीं जा सकता। हालांकि ज्यादातर इलाकों में बारिश और बर्फबारी का असर नहीं होगा। जिससे यह कहा जा सकता है कि 18 मार्च से शुरू हो रहे नए सप्ताह में यात्रा सुखद होगी।

आगामी सप्ताह में देशभर से वैष्णो देवी जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए मौसम किसी तरह की परेशानी खड़ी नहीं करेगा। तो अगर आप होली के पहले या उसके बाद देश के पवित्र तीर्थस्थानों में शामिल वैष्णो देवी जाने की तैयारी में हैं तो निकल सकते हैं। हालांकि देश के मध्य, दक्षिणी या मैदानी इलाकों से जाने वालों को शायद भवन पर इस समय पड़ रही सर्दी का अंदाजा नहीं होगा इसलिए हमारा सुझाव है कि जाते समय गर्म कपड़े, कंबल या शॉल साथ लेकर जाएं ताकि भवन पर देवी के दर्शन के तुरंत बाद आपको नीचे भागने के लिए मजबूर ना होना पड़े।

Updated on March 6, 2019: वैष्णो देवी में 7-8 मार्च को हल्की बारिश; 11 से 13 के बीच हो सकती है तेज़ वर्षा

वैष्णो देवी में जनवरी और फरवरी महीनों में अच्छी बारिश और बर्फबारी हुई है। हालांकि बीते 48 घंटों से कटरा सहित त्रिकुटा पर्वत पर बारिश नहीं हुई। शुष्क मौसम के बावजूद कटरा सहित वैष्णो देवी में पारा सामान्य से नीचे रिकॉर्ड किया जा रहा है और अच्छी सर्दी पड़ रही है।

बीते 24 घंटों के दौरान कटरा में दिन का तापमान सामान्य से 2 डिग्री कम 20 डिग्री सेल्सियस रहा जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से 3 डिग्री नीचे 8 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। भवन पर शीतलहर जैसे हालात हैं क्योंकि न्यूनतम तापमान अभी भी 4-5 डिग्री और अधिकतम तापमान 14-15 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना हुआ है।

मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि अगले 24 घंटों तक मौसम मुख्यतः शुष्क बना रहेगा और सर्दी इसी तरह से जारी रहेगी। हालांकि एक कमजोर पश्चिमी विक्षोभ बुधवार की शाम तक जम्मू कश्मीर के पास पहुँच सकता है। इसके चलते बादल कटरा तक देखे जा सकते हैं लेकिन आज मौसम सूखा ही बना रहेगा।

अनुमान है कि 7 और 8 मार्च को बादल बढ़ेंगे और कुछ स्थानों पर गर्जना के साथ हल्की वर्षा हो सकती है। हालांकि इस दौरान बारिश की संभावना बहुत अधिक नहीं है। लेकिन 9 और 10 मार्च के अंतराल के बाद फिर से एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ पहाड़ों का रुख करेगा जो अधिक वर्षा दे सकता है। माना जा रहा है कि 11 से 13 मार्च के बीच कटरा और वैष्णो देवी भवन पर हल्की से मध्यम बारिश देखने को मिल सकती है। 12 मार्च को ओले भी गिर सकते हैं।  

Updated on Feb 27, 2019: वैष्णो देवी में आज से मौसम साफ; 2-3 मार्च को फिर से होगी वर्षा

वैष्णो देवी सहित जम्मू कश्मीर में कई जगहों पर पिछले कुछ दिनों से बारिश हो रही है। आज से इस मौसम में बदलाव आयेगा। अनुमान है कि 28 फरवरी और 1 मार्च को जम्मू कश्मीर के लगभग सभी भागों में मौसम सूखा और साफ रहेगा। वैष्णो देवी सहित राज्य के अधिकांश हिस्सों में हो रही बारिश अब इसलिए बंद हो गई है क्योंकि पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर से आगे निकल गया है।

इसके चलते वैष्णो देवी जाने के लिए अगले दो दिनों तक मौसम अनुकूल रहेगा। लेकिन स्थितियाँ फिर से जल्द ही बदलेंगी। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार एक नया पश्चिमी विक्षोभ 2 मार्च को फिर से जम्मू कश्मीर के पास आएगा। इसके चलते मौसम बदलेगा। माना जा रहा है कि 2 और 3 मार्च को कटरा, जम्मू सहित आसपास के इलाकों में रुक-रुक कर हल्की से मध्यम बारिश होगी।

इस दौरान भवन पर भी बारिश होने और ओले गिरने की संभावना है। इन गतिविधियों के कारण श्रद्धालुओं को कुछ मुश्किलें हो सकती हैं। चढ़ाई में फिसलन होगी, साथ ही दिन में भी सर्दी बढ़ जाएगी। अगले दो दिनों तक वैष्णो देवी भवन पर अधिकतम तापमान 8 से 10 डिग्री और न्यूनतम तापमान 2 से 4 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने की संभावना है। कटरा में पारा दिन में 14-15 डिग्री और रात में 6 डिग्री के आसपास रहेगा।

हालांकि 2 और 3 मार्च को बारिश शुरू होने पर अधिकतम तापमान में कमी आएगी जबकि न्यूनतम तापमान ऊपर जाएगा। इसके चलते वीकेंड पर दिन में फिर से मौसम काफी ठंडा हो जाएगा।

Updated on Feb 25, 2019, at 06:00 PM वैष्णो देवी में भारी बारिश और बर्फबारी से यात्रा में आएगी बाधा

जम्मू कश्मीर में एक बार फिर से मौसम बदल गया है। शुरुआत बीते 24 घंटों से हो चुकी है। गतिविधियां 26 और 27 को चरम पर होंगी। इससे जम्मू कश्मीर के न सिर्फ घाटी वाले इलाके प्रभावित होंगे बल्कि जम्मू और आसपास के भागों में भी मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा। कटरा और वैष्णो देवी पर गरज के साथ वर्षा होने के आसार हैं।

मौसम विशेषज्ञों का मानना है कि 26 और 27 फरवरी को निचले इलाकों में ओलावृष्टि और वैष्णो देवी भवन पर बर्फबारी की भी संभावना है। बारिश के समय भवन पर चढ़ाई निश्चित तौर पर प्रभावित होगी। साथ ही बारिश और बर्फबारी के चलते आने-जाने वाले रास्ते कुछ समय के लिए बंद हो सकते हैं।

इस बारिश के कारण संभावना है कि वैष्णो देवी भवन के अलावा आसपास के भागों में दिन में शीतलहर जैसे हालात बन सकते हैं। अधिकतम तापमान गिरकर 10 डिग्री और न्यूनतम तापमान घटकर 2 से 4 डिग्री सेल्सियस के बीच पहुंच सकता है।

इसलिए हमारा मानना है कि सप्ताह का शुरूआती समय वैष्णो देवी की यात्रा के अनुकूल नहीं होगा। हमारा सुझाव है कि शुरुआती दिनों में संभव हो तो यात्रा टाल दें। हालांकि सप्ताह के आखिरी दिनों में यात्रा के लिए मौसम अनुकूल रहने की उम्मीद है क्योंकि 28 फरवरी से मौसम साफ और स्वच्छ हो जाएगा। नए माह की शुरुआत भी शुष्क और सुहावने मौसम के साथ होने की संभावना है।

Updated on Feb 18, 2019: वैष्णो देवी में 18 से 22 फरवरी के बीच होगी बारिश, यात्रा में आ सकती हैं अड़चनें

मौसम के लिहाज से फरवरी और मार्च के महीने वैष्णो देवी यात्रा के लिए काफी अच्छे माने जाते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि फरवरी के आखिर से तापमान में सुधार आने लगता है और बारिश भी कम होने लगती है। हालांकि कटरा में फरवरी माह में औसतन 132 मिलीमीटर बारिश होती है। ज़ाहिर है कि वैष्णो देवी भवन पर बारिश की मात्रा इससे भी अधिक होती होगी।

इस समय भी अगले कुछ दिनों के लिए कटरा सहित वैष्णो देवी में मौसम बदलने वाला है। अनुमान है कि 22 फरवरी तक कटरा और जम्मू सहित वैष्णो देवी में भी बारिश होगी। 18 फरवरी की शाम और रात से शुरू होकर बारिश 19 फरवरी की दोपहर तक जारी रहेगी। 19 की दोपहर के बाद 20 की सुबह तक बारिश बंद रहेगी। लेकिन 20 की दोपहर से फिर से वर्षा तेज़ होने के आसार हैं।

अनुमान है कि 20 और 21 फरवरी को काफी तेज़ बारिश देखने को मिलेगी। यही नहीं बारिश और गर्जना के साथ कहीं-कहीं ओले गिरने की भी संभावना है। इसके चलते 20 से 23 फरवरी तक वैष्णो देवी की यात्रा में लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए इस सप्ताह के आखिर में अगर आप वैष्णो देवी की यात्रा पर जाने की तैयारी में हैं तो बारिश और ठंडी से बचाने के उपाय करके निकलें।

कटरा में इस सप्ताह अधिकतम तापमान 15 डिग्री के आसपास और न्यूनतम तापमान 7 से 8 डिग्री के बीच रहने की संभावना है। इसी तरह वैष्णो देवी भवन पर अधिकतम तापमान 10 डिग्री के आसपास और न्यूनतम तापमान 2-3 डिग्री के बीच बना रह सकता है।

Updated on Feb 07, 2019: [Hindi] वैष्णो देवी में बारिश से जल्द राहत; वीकेंड यात्रा के लिए अनुकूल

वैष्णो देवी में पिछले कई दिनों से बारिश हो रही है। पिछले 24 घंटों के दौरान कटरा और जम्मू सहित आसपास के भागों पर अच्छी बारिश हुई है। कटरा में इस दौरान 36 मिलीमीटर की मूसलाधार बारिश रिकॉर्ड की गई है। भवन पर भी अच्छी बारिश के साथ बर्फबारी देखने को मिली है।

लगातार बादल छाए रहने और रुक-रुक कर बारिश होने के कारण दिन के तापमान में भारी गिरावट हुई है। कटरा में अधिकतम तापमान सामान्य से 3 डिग्री कम 14.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। न्यूनतम तापमान 7 डिग्री यानि सामान्य स्तर पर बना रहा।

इसी तरह वैष्णो देवी भवन पर भी दिन में पारा 8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जो सामान्य से काफी कम है। न्यूनतम तापमान 1 डिग्री के आसपास रहा। मौसम के इस मिजाज़ के कारण श्रद्धालुओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों का आंकलन है कि 7 फरवरी को बारिश जारी रहेगी। 8 फरवरी से बारिश की गतिविधियां कम हो जाएंगी। हालांकि आंशिक बादल छाए रहेंगे और एक-दो स्थानों पर गरज के साथ हल्की वर्षा देखने को मिल सकती है। 9 फरवरी से मौसम साफ और शुष्क हो जाएगा। इसलिए इस सप्ताह के आखिर में वैष्णो देवी यात्रा के लिए मौसम अनुकूल रहेगा। हालांकि तापमान में और गिरावट आएगी जिससे शीतलहर आपको परेशान कर सकती है।

Updated on Feb 4, 2019: वैष्णो देवी में 5-8 फरवरी के बीच भारी हिमपात और बारिश की आशंका; टाल दें इस सप्ताह यात्रा

वैष्णो देवी के दर्शन के लिए यात्रा इस सप्ताह मुश्किलों भरी हो सकती है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार वैष्णो देवी सहित जम्मू कश्मीर में आज से बारिश शुरू होने की संभावना है। बारिश धीरे-धीरे ज़ोर पकड़ेगी। अगले कुछ दिनों के दौरान बारिश ही नहीं वैष्णो देवी में भारी बर्फबारी की भी संभावना है। इसके चलते वैष्णो देवी और आसपास के भागों में शीतलहर चलने की आशंका है। माना जा रहा है कि इस सप्ताह तीर्थयात्रियों के लिए मौसम अनुकूल नहीं रहेगा।

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार एक पश्चिमी विक्षोभ इस समय जम्मू कश्मीर के पास पहुँच गया है। इसके चलते बादल दिखाई देने लगे हैं। अब से अगले 4-5 दिनों के दौरान जम्मू कश्मीर में घने बादल छाए रहने के आसार हैं। सोमवार की शाम से ही बारिश भी शुरू हो जाएगी। धीरे-धीरे बारिश की तीव्रता बढ़ेगी। 5 फरवरी को कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम जबकि 6 से 8 फरवरी के बीच कई स्थानों पर मध्यम और कुछ स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है।

वैष्णो देवी भवन पर इस दौरान भारी वर्षा के साथ बर्फबारी भी देखने को मिल है। जबकि कटरा सहित निचले इलाकों में ओलावृष्टि होने की आशंका है। लगातार और लंबे समय तक बारिश को देखते हुए इस बात की संभावना जताई जा रही है कि इस सप्ताह वैष्णो देवी की यात्रा मुश्किलों भरी हो सकती है। तापमान में भी भारी गिरावट होगी जिससे सुबह और रात में ही नहीं बल्कि दिन में भी शीतलहर जैसे हालात बने रहेंगे।

मौसम का यह संभावित रुख देखते हुए हमारा सुझाव है कि इस सप्ताह या तो वैष्णो देवी की यात्रा टाल दें, क्योंकि भूस्खलन और हिमस्खलन की भी संभावना है। सड़क और हवाई यातायात इस सप्ताह बाधित रह सकता है। अगर यात्रा टाल नहीं सकते तो एहतियात के साथ जाएँ। सर्दी और बारिश दोनों से बचने के उपाय करें। वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड और राज्य प्रशासन को भी सतर्क रहने की ज़रूरत होगी। आपदा राहत बल को भी मौके पर किसी विपरीत स्थिति से निपटने के लिए अलर्ट पर रखना होगा।

Updated on Jan 28, 2019: वैष्णो देवी में 30-31 को हो सकती है भारी बारिश और बर्फबारी

वैष्णो देवी में फिर से बारिश और बर्फबारी होने के संकेत मिल रहे हैं। पवित्र गुफा में स्थित वैष्णो माता के दर्शनों के लिए पहुँचने वाले श्रद्धालुओं के लिए अगले 24 घंटों के बाद से स्थितियाँ बेहद कठिन होने वाली हैं। पिछले दो दिनों से मौसम साफ है, बारिश नहीं हो रही है लेकिन बीते दिनों में पहाड़ी राज्यों में हुई भारी बर्फबारी के कारण कटरा सहित आसपास के सभी इलाके शीतलहर की चपेट में हैं। भवन पर पारा शून्य से भी नीचे रिकॉर्ड किया जा रहा है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार अगले 24 से 36 घंटों तक मौसम में बदलाव नहीं दिखेगा ठंडी हवाएँ चलती रहेंगी। दिन और रात में तापमान सामान्य से नीचे बने रहेंगे। पिछले 24 घंटों के दौरान कटरा में दिन का तापमान सामान्य से 2 डिग्री कम 15.6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से 5 डिग्री नीचे 3.6 डिग्री रहा। जबकि भवन पर न्यूनतम तापमान शून्य के आसपास और दिन का तापमान 8 डिग्री सेल्सियस के करीब दर्ज किया जा रहा है।

अनुमान है कि 30 जनवरी को एक नया पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर के करीब पहुंचेगा। इस सिस्टम के चलते 30 जनवरी से 1 फरवरी के बीच कटरा ही नहीं वैष्णो देवी भवन पर भी अच्छी बारिश और बर्फबारी होने की संभावना है। इस दौरान 31 जनवरी को भारी वर्षा और हिमपात होने के आसार हैं। इसके चलते यह सप्ताह वैष्णो देवी यात्रा के लिए अनुकूल नहीं रहेगा। क्योंकि ना सिर्फ रस्तों में व्यवधान आएगा बल्कि दिन में पारा गिरने से भीषण सर्दी का भी सामना करना पड़ेगा।

इसलिए हमारा सुझाव है कि अगर इस सप्ताह आप वैष्णो देवी जाने की योजना बना चुके हैं तो सर्दी और बारिश से बचाने के पूरे इंतजाम करके निकलें। साथ ही ऊंचाई वाले इलाकों में हिमस्खलन या भूस्खलन जैसी विषम स्थितियों से भी बचने के लिए सतर्क रहें।

Updated on Jan 27, 2019: वैष्णो देवी में पारा शून्य से नीचे; 30 जनवरी से बारिश की उम्मीद

पहाड़ों पर पिछले दिनों हुई बर्फबारी के कारण वैष्णो देवी में भीषण शीतलहर चल रही है। कटरा सहित आसपास के निचले इलाकों में तापमान सामान्य से नीचे चला गया है। आज सुबह कटरा में न्यूनतम तापमान सामान्य से 3 डिग्री नीचे 3.8 डिग्री रहा। अधिकतम तापमान भी पिछले 24 घंटों के दौरान औसत से 3 डिग्री सेल्सियस कम 13.9 डिग्री दर्ज हुआ।

पवित्र गुफा स्थल पर पारा और नीचे है। तेज़ ठंडी हवाओं के कारण यहाँ न्यूनतम तापमान शून्य से भी नीचे चला गया है। इसके चलते उत्तर भारत के सबसे पवित्र तीर्थ स्थानों में से एक वैष्णो देवी आने वाले श्रद्धालुओं को भीषण सर्दी से मुक़ाबला करना पड़ रहा है। हालांकि इस सर्दी के बाद भी भक्तों के उत्साह में कमी देखने को नहीं मिल रही है और बड़ी संख्या में आम दिनों की तरह ही भक्तों का पहुंचाना जारी है।

स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार अगले दो दिनों तक वैष्णो देवी में भीषण सर्दी बनी बनी रहेगी क्योंकि ठंडी हवाएँ चलती रहेंगी और तापमान में और गिरावट देखने को मिलेगी। उसके बाद 30 जनवरी को एक नया पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर के पास पहुँच सकता है। इसके प्रभाव से 30 जनवरी से कटरा सहित वैष्णो देवी भवन और पटनीटॉप में बादल छाएंगे और बारिश की गतिविधियां शुरू होंगी।

अनुमान है कि 30 जनवरी से 2 फरवरी के बीच निचले इलाकों में बारिश और ऊंचाई वाले स्थानों पर बर्फबारी देखने को मिल सकती है। उस दौरान न्यूनतम तापमान कुछ ऊपर जा सकता है। बर्फबारी वैष्णो देवी के पावन गुफा स्थल पर भी देखने को मिल सकती है, जिससे भक्तों के लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं।

Updated on Jan 23, 2019: वैष्णो देवी में आज 18 मिमी हुई बारिश; भक्तों के लिए भीषण सर्दी बनी मुसीबत

कटरा सहित आसपास के भागों में आज भी बारिश का मौसम बना रहा। कटरा में पिछले 24 घंटों में 18 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। भवन पर भी हल्की बारिश के साथ बर्फबारी जारी रही। बारिश के चलते दिन में पारा सामान्य से नीचे बना हुआ है। कटरा में जहां यह 10 डिग्री के आसपास रिकॉर्ड किया गया वहीं भवन पर अधिकतम तापमान 5-6 डिग्री के दर्ज किया गया। जबकि वैष्णो देवी भवन पर न्यूनतम तापमान गिरते हुए 1 डिग्री के करीब रिकॉर्ड किया जा रहा है।

जम्मू कश्मीर के उत्तर में आए पश्चिमी विक्षोभ के कारण राज्य के बाकी हिस्सों की तरह ही कटरा सहित वैष्णो देवी में भी पिछले दो दिनों में अच्छी बारिश और बर्फबारी हुई है। अब यह सिस्टम पूर्वी दिशा में निकल रहा है जिसके चलते गतिविधियां काफी कम हो जाएंगी। हालांकि अगले 48 घंटों तक बादल छाए रहने और रुक-रुक कर गर्जना के साथ हल्की वर्षा होने के आसार बने हुए हैं। जिससे अगले 2-3 दिनों तक वैष्णो देवी में दिन के समय भी कड़ाके की सर्दी जारी रहेगी।

अनुमान है कि देश के राष्ट्रीय पर्व गणतन्त्र दिवस से यानि 26 जनवरी से वैष्णो देवी सहित आसपास के हिस्सों में मौसम साफ होगा, जब पश्चिमी विक्षोभ कमजोर हो जाएगा। उसके बाद दिन में धूप निकलेगी और अधिकतम तापमान बढ़ेगा लेकिन न्यूनतम तापमान में सुधार की उम्मीद इस महीने के आखिर तक नहीं है। इसके चलते श्रद्धालुओं को अगले कुछ दिनों भीषण सर्दी का सामना करना ही पड़ेगा।

Updated on Jan 22, 2019: वैष्णो देवी में भारी बर्फबारी; कटरा में 50 मिमी हुई बारिश

उम्मीद के मुताबिक वैष्णो देवी में पिछले 24 घंटों में भारी बर्फबारी हुई है। इसी तरह कटरा में 48.6 मिलीमीटर की मूसलाधार वर्षा दर्ज की गई। भारी बारिश के कारण दिन के तापमान में व्यापक गिरावट हुई है। कटरा में दिन का तापमान सामान्य से 4 डिग्री कम 12.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। न्यूनतम तापमान 6 डिग्री रहा। जबकि भवन पर दिन में पारा 5 डिग्री और न्यूनतम तापमान 1 डिग्री रहा।

स्काईमेट के मौसम विशेषज्ञों के अनुसार जम्मू कश्मीर के पास बना पश्चिमी विक्षोभ काफी सक्रिय है। इसके चलते अगले 24 से 48 घंटों तक मौसम में हलचल बनी रहेगी। कटरा सहित निचले इलाकों में 23 जनवरी तक रुक-रुक कर बारिश और भवन पर बारिश या बर्फबारी की गतिविधियां बनी रहेंगी। उसके बाद 24 जनवरी को मौसम साफ हो जाएगा लेकिन 25 जनवरी को फिर से एक नया पश्चिमी विक्षोभ पहाड़ों पर आएगा जिससे बारिश शुरू हो जाएगी।

मौसम में इस हलचल के कारण वैष्णो देवी की यात्रा इस पूरे हफ्ते मुश्किलों भरी बनी रहेगी। जम्मू-श्रीनगर हाईवे पहले ही बंद हो गया है। कई जगहों पर सड़कों पर इकठ्ठा बर्फ के कारण अगले 4-5 दिनों तक आवागमन अवरुद्ध रहेगा। इस दौरान हिमस्खलन की भी आशंका है।

Published on Jan 21, 2019: वैष्णो देवी में 23 जनवरी तक भारी बर्फबारी; इस सप्ताह मुश्किल भरी होगी यात्रा

वैष्णो देवी में इस समय भारी बर्फबारी हो रही है। अनुमान है कि वैष्णो देवी भवन पर रुक-रुक कर वर्षा और बर्फबारी का यह सिलसिला अगले दो-तीन दिनों तक जारी रहेगा। कटरा सहित जम्मू में भी वर्षा हो रही है। जहां यह गतिविधियां अभी बनी रहेंगी। बारिश और बर्फबारी के चलते जम्मू सहित राज्य के अधिकांश इलाकों में रास्ते बाधित हुए हैं। कुछ सड़कों पर यातायात आंशिक रूप से बंद हो गया है। आने वाले दिनों में भी यात्रा में बाधा बनी रहेगी।

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार इस समय एक पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर के पास बना हुआ है। इसी सिस्टम के चलते समूचे राज्य में मौसम का उग्र रूप देखने को मिल रहा है। स्काइमेट के मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक बारिश और बर्फबारी की गतिविधियां रुक-रुक कर 23 जनवरी तक जारी रहेंगी। इस दौरान कटरा सहित निचले इलाकों में बारिश होगी जबकि भवन पर अच्छी बर्फ पड़ने की संभावना है।

अनुमान है कि 24 जनवरी के बाद से मौसमी सिस्टम कमजोर होगा और बारिश तथा बर्फबारी में कमी आएगी। हालांकि रुक-रुक कर हल्की वर्षा या बर्फबारी 25 जनवरी तक जारी रह सकती है। मौसम के बदले हुए मिजाज़ के कारण वैष्णो देवी में दिन के तापमान में भारी गिरावट हुई है। जबकि रात का तापमान सामान्य से काफी ऊपर पहुँच गया है। पिछले 24 घंटों के दौरान कटरा में अधिकतम तापमान 17.8 डिग्री और न्यूनतम तापमान 14.4 डिग्री रहा। इसी तरह भवन पर दिन का तापमान 12 डिग्री और रात में पारा 10 डिग्री के आसपास दर्ज किया गया।

स्काईमेट के मौसम विशेषज्ञों की माने तो कटरा में अगले दो-तीन दिनों के दौरान दिन का तापमान गिरकर 10 डिग्री के आसपास पहुँच जाएगा। जबकि न्यूनतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस के आसपास रिकॉर्ड किया जाएगा। इसी दौरान भवन पर पारा गिरकर दिन में 5 डिग्री और रात में 2-3 डिग्री के आसपास पहुंच सकता है। 25 जनवरी से बर्फबारी में कमी के साथ तापमान में भी सुधार होगा। मौसम में आई इस उथल-पुथल के चलते इस सप्ताह श्रद्धालुओं को कड़ी मशक्कत करनी पड़ेगी और फिसलन भरे रास्ते चुनौती बनेंगे।

Image credit: GoTirupati

कृपया ध्यान दें: स्काइमेट की वेबसाइट पर उपलब्ध किसी भी सूचना या लेख को प्रसारित या प्रकाशित करने पर साभार: skymetweather.com अवश्य लिखें।

 

 


For accurate weather forecast and updates, download Skymet Weather (Android App | iOS App) App.

Weather Forecast

Other Latest Stories

Weather on Twitter
पश्चिमी उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान में हल्की से मध्यम बारिश देखने को मिल सकती है। पूर्वी हरियाणा, दिल्ली, उससे स… t.co/Dir2fNEZGS
Sunday, September 22 07:29Reply
पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, उत्तरी पश्चिम बंगाल में मध्यम बारिश के साथ एक-दो स्थानों पर भारी बारिश की उम्मीद है। को… t.co/KhLIKdRIT9
Sunday, September 22 07:27Reply
तटीय आंध्र प्रदेश तथा तमिलनाडु व तेलंगाना के उत्तरी भागों में उत्तरी भागों में ज़्यादातर हिस्सों में मध्यम बारिश की… t.co/CcEthVsHEh
Sunday, September 22 07:24Reply
गुजरात के तटीय तथा पूर्वी हिस्सों में कुछ स्थानों पर बारिश की गतिविधियां देखी जा सकती है। मध्य प्रदेश, विदर्भ और द… t.co/7XBbN3fiLW
Sunday, September 22 07:23Reply
22 सितम्बर का मौसम पूर्वानुमान: निम्न दवाब का क्षेत्र हुआ अधिक प्रभावी, देगा गुजरात में भारी बारिश और तेज़ हवाएँ:… t.co/9NB8mBQrQM
Sunday, September 22 07:22Reply
Scattered light to moderate rains over West #UttarPradesh and East #Rajasthan. Scattered light rains over East… t.co/ZZ3hixu4Bq
Sunday, September 22 07:17Reply
Scattered moderate rains are expected over East #UttarPradesh, #Bihar and North #WestBengal with isolated heavy spe… t.co/kk9kdPGxOg
Sunday, September 22 07:15Reply
Rainfall activity with moderate and isolated heavy spells is likely at many places of #Assam, #Meghalaya and… t.co/04gZ5o36zs
Sunday, September 22 07:11Reply
Heavy rainfall activity is likely at Coastal & eastern #Gujarat. #MadhyaPradesh, #Vidarbha, South #Chhattisgarh to… t.co/A9wyVpf6Jn
Sunday, September 22 07:10Reply
Sunday, September 22 07:02Reply

latest news

Skymet weather

Download the Skymet App

Our app is available for download so give it a try